होम /न्यूज /बिहार /बिहार के इस इलाके में मगरमच्छों ने बनाया बसेरा, लोग कह रहे- भागो मगरमच्छ आया

बिहार के इस इलाके में मगरमच्छों ने बनाया बसेरा, लोग कह रहे- भागो मगरमच्छ आया

बिहार में जंगलों से निकलकर रिहायशी इलाकों में घुस रहे मगरमच्छ

बिहार में जंगलों से निकलकर रिहायशी इलाकों में घुस रहे मगरमच्छ

नेपाल और यूपी सीमा पर स्थित वाल्मीकि टाइगर रिजर्व के बीच से गुजरने वाली नदियों और नालों से मगरमच्छ बाहर निकल रहे हैं और ...अधिक पढ़ें

    बिहार के बगहा में एक अजीबो-गीरब मामला देखने को मिल रहा है. यहां के वाशिंदे मगरमच्छ से परेशान हैं और डर से खेतों की ओर जाने से परहेज करने लगे हैं. दरअसल यहां वाल्मीकि टाइगर रिजर्व के बीच से निकलने वाले नदी नालों से मगरमच्छ रिहायशी इलाकों में पहुंच रहे हैं. ये इतने खतरनाक हैं कि इंसानों पर हमला करने से भी नहीं चूकते. ऐसे में ग्रामीण अक्सर शोर मचाते दिख जाते हैं कि - भागो मगरमच्छ आया.

    नदियों-नालों से बाहर आ रहे मगरमच्छ

    नेपाल और यूपी सीमा पर स्थित वाल्मीकि टाइगर रिजर्व के बीच से गुजरने वाली नदियों और नालों से मगरमच्छ बाहर निकल रहे हैं और इंसानों के इलाके में घुसपैठ कर रहे हैं. ग्रामीणों का कहना है कि मगरमच्छ पानी के सहारे रिहायशी इलाकों में पहुंचकर भारी तबाही मचा रहे हैं .

    खेतों में जाने से डर रहे किसान

    ग्रामीणों के अनुसार इलाके के नहरों और नालों में मगरमच्छ अपना आशियाना बना रहे हैं. गांव के किनारे स्थित तालाबों और तालों में मगरमच्छों का जमावड़ा हो गया है. खेती के लिए जाने वाले किसानों को अपना शिकार बनाने की कोशिश करते हैं. आलम ये है कि मगरमच्छों के भय से अब लोग खेतों की ओर जाने से परहेज करने लगे हैं.

    वन विभाग की ओर से कोई पहल नहीं

    वाल्मिकी टाइगर रिजर्व के आसपास लगातार हो रहे मगरमच्छों कि हमले के बाद अब ग्रामीणों में आक्रोश है.  तमाम शिकायतों के बाद भी रिहायशी इलाकों में पहुंचे मगरमच्छों को पकड़ने और उसे सुरक्षित करने के लिए अबतक वन विभाग ने कोई पहल नहीं की है. नतीजा यह कि लोग लगातार मगरमच्छों के हमले का शिकार बन रहे हैं.

    वीओ-फाइनल- बड़ा सवाल ये कि आखिर कब तक लोग यूं ही मगरमच्छ का शिकार होते रहेंगे और सवाल यह भी की वन विभाग मगरमच्छों की की संरक्षण के लिए आखिर कौन सा मुहिम चला रही है ।

    रिपोर्ट- मुन्ना राज

    ये भी पढ़ें-



    आज ही के दिन बनी थी लालू की RJD, अब ये भी तय नहीं कौन चलाएगा इसे




    Union Budget 2019: केंद्र से क्या चाहता है बिहार?

    Tags: Bihar News, Champaran news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें