मौत से पहले महिला के साथ एएनएमसी हॉस्पिटल में हुई थी छेड़खानी, सास ने लगाया आरोप
Gaya News in Hindi

मौत से पहले महिला के साथ एएनएमसी हॉस्पिटल में हुई थी छेड़खानी, सास ने लगाया आरोप
पुलिस अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है.

बिहार के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी (Former Bihar CM Jitanram Manjhi) ने स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय (Health Minister Mangal Pandey) से उच्च स्तरीय जांच कमेटी से जांच कराने की मांग की है.

  • Share this:
गया. एएनएमसीएच के आइसोलेशन वार्ड (Isolation Ward) में भर्ती महिला से छेड़खानी का आरोप लगाया है. महिला की शिकायत पर पुलिस और अस्पताल प्रशासन ने अपनी जांच शुरू कर दी है. एसएसपी राजीव मिश्रा (SSP Rajeev Mishra) ने कहा कि मीडिया के माध्यम से उन्हें इस तरह की जानकारी मिली है. पीडि़ता की सास की शिकायत पर मेडिकल थाने में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. उन्‍होंने बताया कि छेड़खानी के समय या बाद में पीड़िता या परिवार के किसी भी सदस्य द्वारा अस्पताल प्रबंधन या पुलिस से किसी तरह की शिकायत नहीं की गयी थी. महिला की मौत के बाद इस तरह के आरोप मीडिया के माध्यम से लगाये गये हैं. फिलहाल, मामले की जांच सिटी एसपी राकेश कुमार की निगरानी में कराई जा रही है.

डीएम ने अस्पताल अधीक्षक से मांगी जांच रिपोर्ट
इस मामले पर डीएम अभिषेक सिंह ने कहना है कि अस्पताल के जिस वार्ड को घटनास्थल बताया जा रहा है, वहां हर समय कई लोग उपस्थित रहतें हैं. जिसकी वजह से किसी के साथ छेड़खानी की बात प्रथम दृष्टया संदिग्ध लग रही है. फिर भी मीडिया में खबर आने के बाद उनलोगो ने इसको गंभीरता से लिया है. पूरे मामले को लेकर अस्पताल अधीक्षक ने एक जांच कमेटी बनाई है. उन्‍होंने पूर मामले की रिपोर्ट अस्‍पताल अधीक्षक से तलब की है. अगर जांच में कोई दोषी पाया जाता है, तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जायेगी.

मामले ने लिया राजनीतिक रंग



अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती महिला के साथ इस तरह की गंदी हरकत की शिकायत पर राजनीतिक बयानबाजी भी शुरू हो गयी है. पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने इसे काफी निंदनीय बताया है. उन्‍होंने अस्पताल अधीक्षक से वहां की व्यवस्था को दुरूस्त करने का आग्रह किया है. इसके लिए उन्‍होंने स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय से उच्च स्तरीय जांच कमेटी से जांच कराने की मांग की है. वहीं, बोधगया विधायक और राजद के प्रवक्ता कुमार सर्वजीत ने कहा कि इस तरह की घटना की सूचना मिलना मानवता के लिए कलंक की तरह है. अस्पताल प्रशासन एवं पुलिस विभाग को इस घटना को तुरंत जांच कर पूरे मामले को स्पष्ट करना चाहिए.



रक्तस्राव की परेशानी को लेकर अस्पताल में भर्ती हुई थी मृतक महिला
गौरतलब है कि पीडि़त महिला दूसरे प्रदेश से आयी थी. वहां उसका कोरोना टेस्ट निगेटिव आया था. घर आने के बाद उसकी तबीयत खराब हुई थी, जिसके बाद उसे स्थानीय़ पीएचसी के बाद एएऩएमसीएच मे भर्ती कराया गया था. कई दिन के इलाज के बाद उसे अस्पताल से छुट्टी मिल गयी थी और बाद में उसकी मृत्यु हो गयी थी. महिला की मृत्यु के बाद उसकी सास ने मीडिया के माध्यम से अस्पताल मे छेड़खानी की शिकायत की थी. ​
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading