Assembly Banner 2021

Womens Day 2021: गुलजारबाग रेलवे स्टेशन पर महिलाओं से हुआ गुलजार, छोटे से बड़े सभी पदों पर महिलाओं ने संभाली जिम्मेदारी

गुलजारबाग रेलवे स्टेशन पर महिलाओं ने सभी तरह की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

गुलजारबाग रेलवे स्टेशन पर महिलाओं ने सभी तरह की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Women's Day) के मौके पर पटना में गुलजारबाग रेलवे स्टेशन (Railway Station) पर सभी तरह की जिम्मेदारी महिलाओं को सौंपी गई है. यहां स्टेशन मास्टर से लेकर क्लर्क तक सभी पदों पर महिलाओं ने काम करना शुरू कर दिया है.

  • Share this:
पटना. नारी का शौर्य देखना है तो एक बार गुलजारबाग रेलवे स्टेशन (Railway Station) आ जाइए. महिलाओं (Women's) की कार्य क्षमता जाननी है तो गुलजारबाग स्टेशन आना आपका बेहद जरूरी है, क्योंकि न्यूज18 आज महिला दिवस पर गुलजारबाग से एक विशेष रिपोर्ट आपके लिए लेकर आया है. गुलजारबाग आज महिलाओं से गुलजार हो गया है, जहां हर मोर्चे पर महिलाएं ही तैनात हैं और रेलवे ने जो उन्हें जिम्मेदारियां सौंपी हैं उसे वो बखूबी निभा रही हैं फिर चाहे स्टेशन मास्टर के तौर पर तैनात सोनम कुमारी हों या फिर स्टेशन और यात्रियों की सुरक्षा के लिए वीणा देवी की जिम्मेदारी हो. सभी अपने दायित्वों को बेहतर ढंग से निभा रही हैं.

गुलजारबाग स्टेशन की पूरी कमान आज महिलाओं के हाथों में है सबसे पहले शुरुआत हम सोनम कुमारी से करते हैं, जिनके कंधे पर आज पूरे स्टेशन को संभालने की जिम्मेदारी है. सोनम आज महिला दिवस के मौके पर गुलजारबाग स्टेशन का स्टेशन मास्टर बनी हैं और बड़ी ततपरता से सोनम अपने दायित्वों को बखूबी निभा भी रही हैं. सोनम को मिली इस जिम्मेदारी से ना सिर्फ वो खुद को गौरवान्वित महशूस कर रही हैं बल्कि वो चाहती हैं कि रेलवे विभाग उन्हें आगे भी ऐसी जिम्मेदारियां सौंपती रहे. कुछ यही कहना है टिकट बुकिंग क्लर्क रानी देवी का. रानी का कहना है कि औरतें तो हर मोर्चे पर मजबूत हैं. जरूरी ये है कि उन्हें बस ऐसे मौका हमेशा मिलता रहे.

विधानपरिषद में राजद MLC पर गरम हुए मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार, कहा- चुपचाप अपनी सीट पर बैठो



सोनम और रानी की ही तरह अनीता और सब- इंस्पेक्टर वीणा देवी पर भी गुलजारबाग स्टेशन की जिम्मेदारी है. पूछताछ कार्यालय में अनाउंसमेंट का जिम्मा मिला है अनीता कुमारी को स्टेशन और यात्रियों की सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी RPF के सब- इंस्पेक्टर वीणा देवी के कंधों पर है, जो अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी निभा भी रही हैं. रेलवे के बड़े अधिकारी भी मानते हैं कि अंतराष्ट्रीय महिला दिवस पर जो आज महिलाओं को जिम्मेदारी दी गई है उसे ना सिर्फ वो बहुत ततपरता से निभा रही हैं, बल्कि सभी इसे चुनौती के तौर पर भी ले रही हैं. स्टेशन पर आने-जानेवाले यात्री भी इस माहौल को देकर उत्साहित हैं.
सच कहें तो आज गुलजारबाग स्टेशन महिलाओं से ना सिर्फ गुलजार हो गया है बल्कि स्टेशन को महिलाओं के तौर पर संजीवनी भी मिल गई है बस जरूरी ये है कि रेलवे इस परंपरा को आगे निभाते रहे और अपने महिला कर्मियों को ऐसी जिम्मेदारी भी सौंपता रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज