दो पत्नियों से परेशान अधिकारी ने की आत्महत्या, कमरे में लटकती मिली लाश

रोहतास में आत्महत्या करने वाले अधिकारी की फोटो

रोहतास में आत्महत्या करने वाले अधिकारी की फोटो

मृतक अधिकारी (Officer) मूल रूप से जहानाबाद (Jehanabad) के रहने वाले थे. वो वर्ष 2017 से नोखा में कार्यरत थे

  • Share this:

रोहतास. बिहार के रोहतास (Rohtas) में पारिवारिक उलझन से परेशान एक सरकारी अधिकारी ने आत्महत्या (Suicide) कर ली. मामला जिले के नोखा प्रखंड से जुड़ा है जहां के प्रखंड सांख्यिकी पदाधिकारी (BSO) रंजीत कुमार का शव उनके कमरे में मिला. वो अपने किराए के मकान में छत की कुंडी से लटकते पाये गए. मृतक का नाम रंजीत कुमार है जो जहानाबाद (Jehanabad) के रहने वाले थे. रंजीत का चयन वर्ष 2014 में बिहार प्रशासनिक सेवा के लिए किया गया था.

रंजीत ने कर रखी थीं दो शादियां

जानकारी के मुताबिक रंजीत की दो शादियां थीं. नौकरी लगने से पहले प्रेम-प्रसंग में उनका विवाह हो चुका था लेकिन नौकरी लगने के बाद उनकी पहली पत्नी से विवाद रहने लगा. विवाद इतना बढ़ गया कि मामला कोर्ट तक पहुंच गया. उच्च न्यायालय ने पत्नी को गुजारा भत्ता देने का आदेश दिया. इन तमाम परेशानियों को झेल रहे रंजीत ने 6 माह पूर्व दूसरी शादी कर ली थी उसके बाद भी लगातार तनाव बना हुआ था.



छुट्टी में घर गए थे सहयोगी
संभवत इन्हीं तनाव के कारण नोखा के जेएसएस रंजीत कुमार ने सुसाइड कर ली. मंगलवार को कार्तिक पूर्णिमा की छुट्टी थी इसलिए ज्यादातर लोग प्रखंड मुख्यालय में उपस्थित नहीं थे. नोखा के बस स्टैंड के पास एक किराए के मकान में ही प्रखंड के ज्यादातर पदाधिकारी अलग-अलग कमरों में रहते हैं. उन्हीं मकान के एक कमरे में रंजीत भी रहते थे.

कामवाली ने दी लोगों को सूचना

छुट्टी के कारण ज्यादातर लोग उस मकान में नहीं थे. बुधवार की सुबह-सुबह जब लोग लौटे तो देखा कि रंजीत का कमरा अंदर से बंद है. काम करने वाली महिला ने आकर जब दरवाजा खोलना चाहा, तो दरवाजा नहीं खुला. तब आसपास के लोगों को सूचना दी गई. नोखा के ही प्रखंड विकास पदाधिकारी रामजी पासवान बताते हैं कि उन्होंने जब दरवाजा खोला तो देखा कि सामने रंजीत फंदे से लटक रहे हैं. ये देखकर सभी हतप्रभ हो गए.

पुलिस ने सील किया कमरा

आनन-फानन में पुलिस को सूचना दी गई. इसके साथ ही रंजीत के परिजनों को भी टेलीफोन किया गया. पुलिस ने फिलहाल कमरे को सील कर दिया है. उनसे रोज मिलने जुलने वाले का कहना है कि वे पारिवारिक कारणों से बहुत परेशान थे. एक सहयोगी ने बताया कि वेतन का आधा राशि उन्हें अपनी पहली पत्नी को दे देना पड़ता था और बाकी बचे रुपए से ही उन्हें पूरे परिवार की जिम्मेवारी संभालनी पड़ती थी, जिस कारण वे काफी परेशान रह रहे थे.

दो साल पहले हई थी पोस्टिंग

दोहरी जिंदगी जी रहे रंजीत कुमार इस दबाव को नहीं झेल सके और संभवत इन्हीं कारणों से खुदकुशी कर ली लेकिन इन तमाम सवालात का खुलासा पुलिसिया जांच के बाद ही हो सकता है. पुलिस ने कमरे को सील किया है तथा वरीय अधिकारियों और विशेषज्ञों के देखरेख में पूरी जांच करने की बात कही जा रही है. सदर एसडीओ राजकुमार गुप्ता ने बताया कि वे वर्ष 2017 से नोखा में कार्यरत थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज