• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • Anarock की रिपोर्ट में दावा, देश के सात शहरों में 1.74 लाख मकानों का काम ठप

Anarock की रिपोर्ट में दावा, देश के सात शहरों में 1.74 लाख मकानों का काम ठप

यूपी रेरा ने कोरोना-लॉकडाउन को देखते हुए बिल्डर्स को 2 साल का वक्त और दिया है. Demo pic

यूपी रेरा ने कोरोना-लॉकडाउन को देखते हुए बिल्डर्स को 2 साल का वक्त और दिया है. Demo pic

एनारॉक ने कहा कि देश के सात शहरों में 1.4 लाख करोड़ रुपये की 1.74 लाख मकानों का काम पूरी तरह ठप हैं.

  • Share this:

    नई दिल्ली. प्रॉपर्टी कंसल्‍टेंट कंपनी एनारॉक (Anarock) के मुताबिक, देश के सात शहरों में 1.4 लाख करोड़ रुपये की 1.74 लाख मकानों का काम पूरी तरह ठप हैं. इसमें से 66 फीसदी मकान दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में हैं. एनारॉक ने कहा कि उसने अपने रिसर्च में उन्हीं हाउसिंग प्रोजेक्ट को शामिल किया है जो 2014 में या उसके बाद शुरू हुई है.

    एनारॉक ने कहा कि देशभर के सात शहरों में ठप और पेडिंग यूनिट्स की संख्या 6,28,630 हैं जिनकी कीमत 5,05,415 करोड़ रुपये है. ये यूनिट्स दिल्ली-एनसीआर, मुंबई महानगर क्षेत्र (Mumbai Metropolitan Region), पुणे, बेंगलुरु, हैदराबाद, चेन्नई और कोलकाता में हैं.

    ये भी पढ़ें- आज से बदल गए ये 7 अहम नियम, हर आम से लेकर खास तक पर पड़ेगा सीधा असर, जान लेंगे तो फायदे में रहेंगे

    एनारॉक के डायरेक्टर एंड हेड (रिसर्च) प्रशांत ठाकुर ने कहा, ”साल 2021 की पहली छमाई तक लगभग 6.29 लाख ऐसी यूनिट्स हैं, जिन्हें टॉप सात शहरों में पूरा किया जाना बाकी है. सात टॉप शहरों में पूरी तरह से ठप 1.74 लाख घरों की कुल कीमत वर्तमान में 1,40,613 करोड़ रुपये से अधिक है.”

    ये भी पढ़ें- पीएम मोदी 2 अगस्त को लॉन्च करेंगे डिजिटल पेमेंट सॉल्युशन e-RUPI, जानिए कैसे काम करता है ई-रुपी

    दिल्ली-एनसीआर बाजार में सबसे ज्यादा 1,13,860 मकानों का काम ठप
    उसने बताया कि शहरों के इस हिसाब से दिल्ली-एनसीआर बाजार में सबसे अधिक 1,13,860 यूनिट्स ठप हैं. जो सात शहरों की कुल यूनिट्स का 66 फीसदी है. वहीं, मुंबई में 41,730 यूनिट्स, पुणे में 9,990 यूनिट्स, बेंगलुरु में 3,870 यूनिट्स और हैदराबाद में 4,150 यूनिट्स ठप हैं. चेन्नई में इसी तरह की कोई भी यूनिट नहीं हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज