लाइव टीवी

बैंकों से मदद मिलना भी किंगफिशर के लिए बड़ी चुनौती


Updated: February 24, 2012, 6:04 AM IST
बैंकों से मदद मिलना भी किंगफिशर के लिए बड़ी चुनौती
हालात यह है कि बैंक एयरलाइंस को नया कर्ज देने के लिए तैयार नहीं हैं, आयकर विभाग खातों को खोलने के लिए तैयार नहीं है और सरकार साफ तौर पर कुछ नहीं कह रही है।

हालात यह है कि बैंक एयरलाइंस को नया कर्ज देने के लिए तैयार नहीं हैं, आयकर विभाग खातों को खोलने के लिए तैयार नहीं है और सरकार साफ तौर पर कुछ नहीं कह रही है।

  • Share this:
नई दिल्ली। भारी वित्तीय संकट से गुजर रही किंगफिशर एयरलाइंस की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही। हालात यह है कि बैंक एयरलाइंस को नया कर्ज देने के लिए तैयार नहीं हैं, आयकर विभाग खातों को खोलने के लिए तैयार नहीं है और सरकार साफ तौर पर कुछ नहीं कह रही है।

किंगफिशर एयरलाइंस की हालत दिन ब दिन खराब होती जा रही है। रोज मर्रा के काम के लिए भी उसके पास पैसे नहीं है। इस सब के बीच बैंकों से मदद की उसकी उम्मीद पर भी पानी फिर गया। एसबीआई के बाद बैंक ऑफ इंडिया और यूको बैंक ने भी साफ कर दिया है कि वो किंगफिशर एयरलाइंस को नया कर्ज नहीं देंगे।

यूको बैंक के चेयरमैन अरुण कौल का कहना है कि किंगफिशर एयरलाइंस को दिया कर्ज एनपीए घोषित किया गया है। ऐसे में किंगफिशर एयरलाइंस को आगे कर्ज देने पर कोई फैसला नहीं हुआ है। बैंक ऑफ इंडिया ने कहा है कि कोई भी बैंक किंगफिशर को नया लोन देने को तैयार नहीं है।

इस बीच आयकर विभाग ने किंगफिशर एयरलाइंस को एक बार फिर साफ-साफ कह दिया है कि फिलहाल वो कंपनी के खाते बहाल नहीं करेगी। कल किंगफिशर ने एक बार फिर आयकर विभाग से अपील की थी कि उसके खाते बहाल किए जाए। 300 करोड़ रुपये का टैक्स बकाया ना चुकाने की वजह से आयकर विभाग ने किंगफिशर एयरलाइंस के खाते फ्रीज कर दिए है।

हालांकि किंगफिशर एयरलाइंस ने आयकर विभाग के सामने ये पेशकश रखी है कि वो 300 करोड़ रुपये के टैक्स बकाए को 18 महीनों के अंदर थोड़ा-थोड़ा कर चुका देंगे। लेकिन आयकर विभाग चाहता है कि टैक्स की पूरी रकम 12 महीने के अंदर चुकाई जाए।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2012, 6:04 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर