होम /न्यूज /व्यवसाय /

बाजार के लिए पिछला एक साल रहा चुनौतीपूर्ण, फिर भी 13 स्टॉक और 1 इंडेक्स ने दिया मल्टीबैगर रिटर्न

बाजार के लिए पिछला एक साल रहा चुनौतीपूर्ण, फिर भी 13 स्टॉक और 1 इंडेक्स ने दिया मल्टीबैगर रिटर्न

तमाम उठापटक से गुजरने के बाद बाजार में अब फिर से तेजी देखी जा रही है.

तमाम उठापटक से गुजरने के बाद बाजार में अब फिर से तेजी देखी जा रही है.

पिछले एक साल में बाजार में इतने उतार-चढ़ाव आए फिर भी सेंसेक्स और निफ्टी ने इस दौरान 7 फीसदी का रिटर्न दिया. इसी समय में बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप इंडेक्स ने भी 8 फीसदी और 6 फीसदी का रिटर्न दिया है.

हाइलाइट्स

पिछले एक साल में 13 मल्टीबैगर स्टॉक देखे गए, इनमें से 4 अडानी ग्रुप के हैं.
तमाम उतार-चढ़ाव के बीच निफ्टी और सेंसेक्स ने दिया 7 फीसदी का रिटर्न.
वैश्विक स्तर पर शांति रही तो जल्द नए रिकॉर्ड को छुएगा बाजार.

नई दिल्ली. पिछले एक साल में दुनियाभर के बाजारों ने कई बदलाव देखे. घरेलू और विश्व स्तर पर ऐसी तमाम घटनाएं हुई जिन्होंने बाजार को प्रभावित किया. इन घटनाओं की वजह से बाजारों ने कई चुनौतियों का सामना किया और उतार-चढ़ाव भी देखे. भारत में 2021 और 2022 के स्वतंत्रता दिवस के बीच एक साल में बाजार ने अक्टूबर 2021 में अपना रिकॉर्ड हाई हिट किया. उसके बाद से अब तक बाजार फिर से उस लेवल को हासिल करने में कामयाब नहीं रहा है. लेकिन इन सबके बावजूद इस अवधि में 13 स्टॉक और 1 इंडेक्स ऐसा रहा है जिसने 1 साल में मल्टीबैगर रिटर्न दिया है.

निफ्टी और सेंसेक्स ने दिया 7 फीसदी का रिटर्न
पिछले एक साल में बाजार में इतने उतार-चढ़ाव आए फिर भी सेंसेक्स और निफ्टी ने इस दौरान 7 फीसदी का रिटर्न दिया. इसी समय में बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप इंडेक्स ने भी 8 फीसदी और 6 फीसदी का रिटर्न दिया है.

बीते एक साल की अवधि में बाजार में 18 फीसदी से भी ज्यादा बड़ा बदलाव देखा गया और जून 2022 नया 52 वीक लो बना. यह कोविड-19 के बाद मिले हेल्दी रिटर्न के बाद बड़ा करेक्शन था. इस बीच बेंचमार्क इंडेक्सों ने रिकॉर्ड हाई हासिल करने के लिए फिर से प्रयास भी किए लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली. कोविड-19 की तीसरी लहर और रूस-यूक्रेन के बीच चल रही खींचतान इनकी असफलता के कारण रहे.

इसे भी पढ़ें – Investment Tips : कितने रुपये से करें म्‍यूचुअल फंड में निवेश की शुरुआत? एक्‍सपर्ट से जानें पूरी एबीसीडी

वैश्विक स्तर पर शांति रही तो जल्द नए रिकॉर्ड पर पहुँचेगा बाजार
तमाम उठापटक से गुजरने के बाद बाजार में अब फिर से तेजी देखी जा रही है. अब बाजार अपने पुराने स्तरों की ओर बढ़ने का प्रयास कर रहा है. यदि वैश्विक स्तर पर शांति बनी रहती है तो यह बाजार के लिए अच्छा मौका होगा लेकिन चीन और ताइवान के बीच संघर्ष की स्थिति के कारण डर अब भी बना हुआ है. विश्लेषकों के अनुसार वैश्विक परिस्थितियों में सकारात्मक सुधार को देखते हुए लगता है कि इस साल के अंत तक बाजार फिर से एक नया हाई रिकॉर्ड बना सकता है.

एक साल में देखे गए 13 मल्टीबैगर स्टॉक
2021 के स्वतंत्रता दिवस से अब तक एक साल के दौरान बाजार में 13 मल्टीबैगर स्टॉक देखे गए हैं. ये सभी स्टॉक BSE50 इंडेक्स में शामिल है. 13 मल्टीबैगर स्टॉक्स में से 4 अडानी ग्रुप के हैं और इन्हीं में सबसे ज्यादा वृद्धि दर्ज की गई है. इस एक साल की अवधि में इनमें हुई बढ़ोतरी को देखें तो अडानी पॉवर (Adani Power) में अब तक 305 फीसदी, अडानी टोटल गैस (Adani Total Gas) और अडानी ट्रांसमिशन (Adani Transmission) में 276 फीसदी और अडानी ग्रीन एनर्जी (Adani Green Energy) में 137 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है.

वहीं Tata Teleservices (Maharashtra), Tata Elxsi, Schaeffler India, Elgi Equipments, Fine Organics Industries, Bharat Dynamics, Hindustan Aeronautics, Gujarat Fluorochemicals Gujarat Narmada Valley Fertilizers & Chemicals में 105 से 169 फीसदी की तेजी देखी गई है.

Timken India, Adani Enterprises, Varun Beverages, Indian Hotels Company, Chalet Hotels, Deepak Fertilizers and Petrochemicals Coporation, Linde India और Brightcom Group में भी 90 फीसदी से ज्यादा की तेजी देखने को मिली है. SME IPO इंडेक्स एक ऐसा इंडेक्स है जो इस मल्टीबैगर लिस्ट में शामिल है. इसमें पिछले स्वतंत्रता दिवस से अब तक 155 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है.

Tags: Multibagger stock, Multibagger stock 2021, Share market

अगली ख़बर