लॉकडाउन का भरपूर इस्तेमाल कर 15 साल के इस लड़के ने बनाई किफायती इलेक्ट्रिक बाइक

लॉकडाउन की वजह से स्कूल की छूट्टी के दौरान प्रथमेश ने यह बाइक तैयार की है.

लॉकडाउन की वजह से स्कूल की छूट्टी के दौरान प्रथमेश ने यह बाइक तैयार की है.

लॉकडाउन में स्कूल बंद रहने के दौरान बेलगाम के 15 वर्षीय लड़के ने एक इलेक्ट्रिक बाइक तैयार की है. प्रथमेश सुतारा नाम के इस लड़के ने अपने पिता की भी मदद ली. मात्र 25 हजार रुपये खर्च कर इस बाइक को तैयार किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2021, 2:34 PM IST
  • Share this:
बेलगाम. साल 2020 दुनियाभर बच्चों के लिए एक लंबी छुट्टी से कम नहीं था. उनके लिए ये वो दौर रहा, जब उन्होंने जमकर एन्जॉय किया, कम्प्यूटर गेम्स में उलझे रहे. लेकिन, 15 साल के एक बच्चे ने इस छुट्टी का भरपूर सदुपयोग किया. प्रथमेश सुतारा बेलगाम ज़िले के निप्पणी तालुक के रहने वाले हैं, जिन्होंने इस महामारी के बीच खुद के दम पर एक इलेक्ट्रिक बाइक बनायी है. इस इलेक्ट्रिक बाइक पर आप एक बार चार्जिंग के बाद 40 किलोमीटर तक की दूरी तय कर सकते हैं.

दरअसल, महामारी के बीच लॉकडाउन के दौरान प्रथमेश ने कुछ क्रिएटिव काम के बारे में सोचा. उन्होंने अपने माता-पिता से इलेक्ट्रिक बाइक तैयार करने की बात कही. प्रथमेश के पिता प्रकाश सुतारा इस बात को सुनकर खुश हुए कि उनका बेटा कुछ ढंग का काम करने जा रहा है. प्रकाश सुतारा इलेक्ट्रिशियन हैं. प्रथमेश को उनके परिवार ने भरपूर सपोर्ट किया.

कबाड़ से सामान जुटाकर बनाए पार्ट्स

इसके बाद प्रथमेश ने उन सभी कबाड़ को जुटाना शुरू किया, जो उन्हें बाइक बनाने के काम आ सके. चूंकि, उनके पिता खुद एक इलेक्ट्रिशियन हैं, उन्हें पिता के गैरेज से ही सभी अधिकतर जरूरी सामान मिल गया. इसके बाद प्रथमेश ने 48 वोल्टेज की Lid Acid Battery बनाया. इसके अलावा उन्होंने 48 वोल्टेज व 750 वॉट का एक-एक मोटर और एक इलेक्ट्रिक रिचार्जेबल मोटर तैयार किया.
इंटरनेट की ली मदद

न्यूज़ 18 से बाते करते हुए प्रथमेश सुतारा ने बताया, ‘आज के समय में ईंधन के दाम आसमान छू रहे हैं और आम लोग इतना नहीं खर्च कर सकते हैं. लॉकडाउन और उसके बाद भी मैं घर पर ही बैठा रहा. स्कूल बंद होने के बाद मैंने खुद से ही कुछ करने का सोचा. इसके बाद मैंने अपने पिता की मदद से इलेक्ट्रिक बाइक तैयार की. इसके लिए मैंने इंटरनेट पर कुछ रिसर्च भी किया ताकि मुझे सही जानकारी मिल सके.’

मात्र 25 हजार रुपये ही खर्च किए



प्रथमेश ने इस बाइक को तैयार करने के लिए मात्र 25,000 रुपये खर्च किये हैं. बाजार में उपलब्ध इलेक्ट्रिक बाइक के दाम की तुलना में देखें तो यह बेहद किफायती है.

प्रथमेश ने बताया, ‘एक बार चार्ज करने के बाद यह 40 किलोमीटर की माइलेज देती है. इस बाइक की अधिकतम स्पीड 40 किलोमीटर प्रति घंटा है. एक खास बात यह भी है कि इस बाइक में रिवर्स गियर भी है.’

गर्व से चौड़ा हुआ पिता का सीना

प्रकाश सुतारा ने अपने बेटे की इस उपलब्धि पर गर्व से कहते हैं, ‘मैं अपने बेटे के लिए बहुत खुश हूं क्योंकि उसने अपने खाली समय को अच्छे काम के लिए इस्तेमाल किया. एक इलेक्ट्रिशियन होने के बाद भी मुझे खुद इलेक्ट्रिक बाइक मैकेनिज़्म के बारे में बहुत जानकारी नहीं थी. इस एडवेंचर के दौरान मुझे अपने बेटे से भी बहुत कुछ सीखने को मिला है. मुझे आशा है कि एक दिन यह कुछ बड़ा करेगा, जिससे की हमें इस पर गर्व होगा.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज