म्यूचुअल फंड कंपनियों में घटी निवेशकों की शिकायतें

म्यूचुअल फंड कंपनियों में घटी निवेशकों की शिकायतें
म्यूचुअल फंड कंपनियों के संगठन एंफी के मुताबिक देश के पांच बड़े फंड हाउसों में निवेशकों की शिकायत 20 फीसदी घटी है।

म्यूचुअल फंड कंपनियों के संगठन एंफी के मुताबिक देश के पांच बड़े फंड हाउसों में निवेशकों की शिकायत 20 फीसदी घटी है।

  • Share this:
नई दिल्ली। देश की बड़ी म्यूचुअल फंड कंपनियों से निवेशकों की शिकायतों में भारी कमी आई है। म्यूचुअल फंड कंपनियों के संगठन एंफी के मुताबिक देश के पांच बड़े फंड हाउसों में निवेशकों की शिकायत 20 फीसदी घटी है। यूटीआई म्यूचुअल फंड से निवेशकों को सबसे कम शिकायतें हैं।

पिछले साल फंड हाउस के पास 47 फीसदी कम शिकायतें पहुंची हैं। इसके बाद नंबर आता है रिलायंस म्यूचुअल फंड का जिसके पास 42 फीसदी कम शिकायतें पहुंची हैं। अगर संख्या के हिसाब से देखें तो बाजी रिलायंस म्यूचुअल फंड ने मारी है। पिछले साल फंड हाउस के पास करीब दस हजार कम शिकायतें पहुंची हैं।

देश के 5 बड़े फंड हाउसों में सिर्फ आईसीआईसीआई म्यूचुअल फंड के पास ही शिकायतें बढ़ी हैं। 2012-13 में फंड हाउस को 13 हजार शिकायतें मिली थीं जो पिछले साल के मुकाबले 26 फीसदी ज्यादा थी। निवेशकों ने डिविडेंड नहीं मिलने, बिकवाली के रकम नहीं मिलने और अकाउंट स्टेटमेंट में गड़बड़ी की सबसे ज्यादा शिकायतें की हैं।



2012-13 में फंड हाउसों की सिर्फ शिकायतें ही नहीं घटी हैं बल्कि फोलियो की संख्या में भी 15 लाख की भारी गिरावट आई है। पिछले साल फोलियो की संख्या घटकर कुल 2.6 करोड़ रह गई है।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज