सावधान! कैश में लेन-देन से जुड़े इन 7 सख्त नियमों को तोड़ने पर घर आएगा Tax नोटिस!

आपको बता दें कि घर में कैश (Cash) रखने की लिमिट तय नहीं है. लेकिन घर में रखे कैश का सोर्स बताना जरूरी होता है. आइए जानें कैश में लेन-देन से जुड़े ऐसे ही 7 नियमों के बारे में...

News18Hindi
Updated: September 10, 2019, 11:43 AM IST
सावधान! कैश में लेन-देन से जुड़े इन 7 सख्त नियमों को तोड़ने पर घर आएगा Tax नोटिस!
1 सितंबर 2019 से लागू नियम
News18Hindi
Updated: September 10, 2019, 11:43 AM IST
सितंबर महीने की एक तारीख से कैश (Cash withdrawal) में लेन-देन के नियम बदल चुके हैं. अब एक सीमा से अधिक कैश निकालने पर 2 फीसदी TDS (धन के स्रोत पर कर की कटौती) लगाया है. इसीलिए आज हम आपको कैश में पैसों के लेन-देन से जुड़े सभी नियमों की जानकारी दे रहे है. आपको बता दें कि घर में कैश रखने की लिमिट तय नहीं है. लेकिन घर में रखे कैश का सोर्स बताना जरूरी होता है. आइए जानें कैश में लेन-देन से जुड़े ऐसे ही 7 नियमों के बारे में...

(1) कैश में लोन लिया तो क्या होगा- अगर कोई आपको लोन की रकम बैंक सीधे अकाउंट में ही भेजता है तो यह सीमा 20 हजार रुपये है. वहीं, 20,000 रुपये से ज्यादा कैश लोन लिया तो 100 फीसदी पेनाल्टी देनी होगी. कैश में डोनेशन दे रहे हैं तो सिर्फ 2000 रुपए तक दें. 2000 रुपए से ज्यादा कैश दान दिया तो 80G में छूट नहीं मिलेगी. इनकम टैक्स में 80G के तहत डोनेशन पर छूट मिलती है.

ये भी पढ़ें-SBI का ग्राहकों को तोहफा: फिर घटाई ब्याज दरें, जानिए कितनी होगी आपकी EMI



(2) घर में कैश रखने की लिमिट क्या है-
टैक्स एक्सपर्ट्स बताते हैं कि घर में कैश रखने को लेकर अभी तक कोई लिमिट तय नहीं की गई है. हालांकि, घर में रखे कैश का सोर्स बताना अब जरूरी है. अगर कोई इसकी जानकारी नहीं दे पाता है तो ऐसे में उसे 137% तक पेनाल्टी देनी पड़ती है.

(3) बैंक से कैश निकालने और जमा करने के नियम क्या हैं- टैक्स एक्सपर्ट गौरी चड्ढा बताती हैं कि बैंक खातों से कैश निकालने पर कोई टैक्स नहीं लगता है, लेकिन जुलाई में पेश हुए हुए बजट में कैश निकासी पर टैक्स को लेकर घोषणा की गई है. मतलब साफ है कि 1 सितंबर 2019 से लागू नियम के मुताबिक, 1 करोड़ रुपये से ज्यादा कैश निकालने पर 2 फीसदी TDS देना होगा. बैंक में कैश जमा करवाने की कोई लिमिट नहीं है. नियम डिपॉजिट रकम की जानकारी देने को लेकर है.
Loading...

>> बैंक में सेविंग खाते को लेकर कुछ नियम तय किए गए हैं. एक बार में 2 लाख रुपये या उससे ज्यादा जमा किया या सेविंग अकाउंट में 50,000 रुपए से ज्यादा कैश जमा कर रहे हैं तो ऐसे में आपको पैन कार्ड नंबर देना जरूरी है. कैश में पे-ऑर्डर या डिमांड ड्राफ्ट भी बनवा रहे हैं तो पे ऑर्डर-DD के मामले में भी पैन नंबर देना होगा.

ये भी पढ़ें- सरकार दे रही है घर बैठे 1100 रुपये तक सस्ता सोना खरीदने का मौका! यहां जाने



>> एक साल में 10 लाख रुपये या उससे ज्यादा जमा किया तो ऐसे में नाम एनुअल इंफोर्मेशन रिपोर्ट में जाएगा. वहीं, सेविंग खाते के अलावा चालू खाते के लिए यह सीमा 50 लाख रुपये तय है.

(4) प्रॉपर्टी बेचने पर मिलने वाले कैश के नियम क्या है- टैक्स एक्सपर्ट्स के बताते हैं कि प्रॉपर्टी को सेल करने पर कैश लेने की सीमा तय हो चुकी है. मतलब आप सिर्फ 20,000 रुपये कैश का लेन-देन कर सकते हैं. अब 20,000 रुपये से ज्यादा कैश लेने पर 100 फीसदी पेनाल्टी देनी होगी.

(5) अगर किसी को कैश में पेमेंट किया तो क्या होगा- कैश में पेमेंट करने की सीमा भी तय है. आपके अपने निजी खर्च-कारोबारी खर्च के लिए नियम भी तय है. निजी खर्च के लिए 2 लाख रुपये तक कैश भुगतान होता है. वहीं, बिजनेस के लिए 10,000 रुपये तक कैश लिमिट तय है.

(6) शादी में कैश के खर्च को लेकर भी आ चुके हैं नियम- टैक्स एक्सपर्ट गौरी चड्ढ़ा बताती हैं कि शादी में कैश खर्च करने पर कोई लिमिट नहीं है. शादी में रकम के इस्तेमाल को लेकर नियम हैं. 2 लाख रुपये से ज्यादा एक व्यक्ति से खरीदारी की है तो ऐसे में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के पास आपका नाम जाएगा. ऐसे में जरूरत पड़ने पर विभाग सोर्स पूछ सकता है. अगर आप सही जवाब नहीं दे पाए तो 78% टैक्स और ब्याज लगेगा.

ये भी पढ़ें- कार-बाइक चलाने वालों के लिए बड़ी खबर! अब बदलेगा आपके इंश्योरेंस का नियम

(7) अगर किसी को गिफ्ट में कैश देना है तो- गौरी कहती हैं कि कैश में गिफ्ट को लेकर भी लिमिट तय हो चुकी है. अब आप 2 लाख रुपये से कम कैश आप गिफ्ट में दे सकते हैं. अगर 2 लाख रुपये से ज्यादा कैश गिफ्ट पर 100% पेनाल्टी लगेगी. 2 लाख रुपये की छूट भी सिर्फ रिश्तेदारों के लिए है. रिश्तेदारों के अलावा किसी और को कैश गिफ्ट देना है तो ऐसे में 50,000 रुपये से ज्यादा गिफ्ट नहीं ले सकते. 50,000 रुपये से ज्यादा का गिफ्ट लिया तो टैक्स देना पड़ेगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 10, 2019, 10:32 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...