होम /न्यूज /व्यवसाय /

भारत में 30 करोड़ लोग गरीबी से बाहर निकले, देश सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बना रहेगा: दीपक पारेख

भारत में 30 करोड़ लोग गरीबी से बाहर निकले, देश सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बना रहेगा: दीपक पारेख

दूरदर्शिता और दृढ़ निश्चय के बगैर कुछ भी हासिल नहीं होता: पारेख

दूरदर्शिता और दृढ़ निश्चय के बगैर कुछ भी हासिल नहीं होता: पारेख

एचडीएफसी के चेयरमैन दीपक पारेख ने कहा है कि भारत अभी सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है और आगे भी बना रहेगा. उन्होंने कहा कि भारत में पिछले 15 साल में 30 करोड़ लोग गरीबी से बाहर निकले हैं. बकौल पारेख, वृद्धि की आकांक्षाएं देश की जद में है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

दीपक पारेख ने कहा है कि भारत सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बना रहेगा.
उन्होंने कहा कि पिछले 15 साल में 30 करोड़ लोग गरीबी से बाहर निकले.
बकौल पारेख, देश को और अधिक निवेश की जरूरत है.

नई दिल्ली. एचडीएफसी बैंक के चेयरमैन दीपक पारेख ने कहा है कि भारत अगले कुछ वर्षों में दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था होगा. उन्होंने कहा, “मैं हाल में जितने भी विदेशी निवेशकों या अन्य लोगों से मिला हूं सबसे यही कह रहा हूं कि अपने 50 साल के वर्किंग करियर में भारत को लेकर जितना आज आशावादी हूं, पहले कभी नहीं था.”

उन्होंने यह बातें सीएनबीसी टीवी18  के साथ एक साक्षात्कार में कहीं. पारेख ने कहा, “देश की जीडीपी 1990 की शुरुआत में 300 अरब डॉलर से थोड़ी ज्यादा था लेकिन आज यह 3 लाख करोड़ डॉलर के करीब है.” उन्होंने कहा कि इस समय वैश्विक विकास में भारत का योगदान 14 फीसदी है.

ये भी पढ़ें- बाजार में हरियाली बरकरार, सेंसेक्स 380 अंक चढ़कर 59,842 पर बंद, निफ्टी 18,000 के करीब पहुंचा

30 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले
पारेख ने कहा कि पिछले 15 साल में 30 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले हैं. बकौल पारेख, भारत सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था और आगे भी बनी रहेगी. उन्होंने कहा कि खाद्य एवं उर्जा सुरक्षा और वित्तीय एवं पूंजी पर काम करते रहना होगा. पारेख ने कहा, “हम काफी समय से कह रहे हैं कि भारत की वृद्धि की क्षमता को लेकर जो लक्ष्य है वह हमारी जद में है.”

निवेश की जरूरत
दीपक पारेख ने कहा है, “हमारे महत्वाकांक्षी समाज, बढ़ते मध्यम वर्ग और घरेलू उत्पाद आधारित बड़ी खपत के साथ अब हमें अधिक निवेश की आवश्यकता है. दूरदर्शिता और दृढ़ निश्चय के बगैर कुछ भी हासिल नहीं किया जा सकता है. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भारत को लेकर अगले 25 साल के लक्ष्य पर कहा कि प्रधानमंत्री के पास राजनीतिक पूंजी है जिससे वह भारत को अंतरराष्ट्रीय बाजार में उसकी विश्वसनीयता के कारण वृद्धि के पथ पर ले जा सकते हैं. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री ने 76वें स्वतंत्रता दिवस पर देश को संबोधित करते हुए कहा था कि अगले 25 साल में भारत को एक विकसित देश बनना है.

इन्फोसिस के चेयरमैन ने कहा परिस्थितियां भारत के पक्ष में
भारत की सबसे बड़ी टेक कंपनियों में से एक इन्फोसिस के चेयरमैन नंदन नीलेकणि ने भी कहा है कि अगले एक से दो दशक में अधिक से अधिक लोग गरीबी से बाहर आ जाएंगे. उन्होंने कहा, “वैश्विक भू-राजैनतिक परिस्थितियां भारत के पक्ष में हैं. हमें बस ठीक से काम करते रहना है और यह सुनिश्चित करना है कि लोगों की आकांक्षाओं को वास्तव में पूरा किया जाए.”

Tags: Business news, Economic growth, GDP growth, HDFC, Indian economy, Poverty

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर