टाइम मैगजीन ने जारी की 100 उभरते नेताओं की लिस्ट, भारतीय मूल के ये 5 लोग शामिल

ब्रिटेन के वित्त मंत्री ऋषि सुनक

टाइम मैगजीन (Time Magazine) की टॉप 100 इमर्जिंग लीडर्स की लिस्ट में एक भारतीय कार्यकर्ता और भारतीय मूल के 5 लोगों ने जगह पाई है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. टाइम मैगजीन (Time Magazine) ने दुनिया के टॉप 100 इमर्जिंग लीडर्स की लिस्ट जारी कर दी है. इस लिस्ट में एक भारतीय सामाजिक कार्यकर्ता और भारतीय मूल के पांच लोगों ने जगह पाई है. इसमें ट्विटर के मुख्य वकील विजया गड्डे (Vijaya Gadde), ब्रिटेन के वित्त मंत्री ऋषि सुनक (Rishi Sunak) सहित पांच भारतीय मूल के व्यक्तियों को जगह मिली है.

    भारतीय मूल की अन्य लोगों में इंस्टाकार्ट की संस्थापक और सीआईओ अपूर्वा मेहता (Apoorva Mehta) और नॉन प्रॉफिट 'गेट अस पीपीआई' की कार्यकारी निदेशक शिखा गुप्ता (Shikha Gupta) और नॉन प्रॉफिट 'अपसोल्व' के रोहन पवुलुरी (Rohan Pavuluri) शामिल हैं. भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर आजाद (Chandra Shekhar Aazad) भी इस लिस्ट में शामिल हैं.

    1.  ऋषि सुनक
    ऋषि सुनक इंफोसिस के संस्थापक नारायण मूर्ति (Narayana Murthy) के दामाद और भारतीय मूल के ब्रिटेन में वित्तमंत्री हैं. टाइम मैगजीन में ऋषि सुनक के बारे में कहा गया है कि एक साल से कुछ ज्यादा समय तक सुनक ब्रिटिश सरकार में गुमनाम कनिष्ठ मंत्री रहे. पिछले साल 40 वर्षीय सुनक को ब्रिटेन का वित्त मंत्री बनाया गया. वह जल्द ही कोरोना महामारी के समय सरकार का उदारवादी चेहरा बन गए.

    2. अपूर्वा मेहता
    टाइम मैगजीन में 34 साल के अपूर्वा मेहता के बारे में कहा गया है कि कोरोना महामारी के शुरुआती दिनों में 'इंस्टाकार्ट' को बेतहाशा ऑर्डर मिले क्योंकि अमीर लोगों ने सेवा के कर्मियों को अपने लिए राशन खरीदने में मदद करने के मकसद से एक साथ बड़ी संख्या में खरीदारी की. मेहता ने लेख में कहा कि भविष्य में स्मार्टफोन सुपर मार्केट होगा और हम उसके सह-निर्माण में मदद करने जा रहे हैं.

    3. विजया गड्डे 
    मैगजीन में 46 साल के विजया गड्डे को ट्विटर की सबसे शक्तिशाली अधिकारियों में से एक बताया है. मैगजीन में कहा गया है, ''ट्विटर पर अब भी गलत जानकारी और उत्पीड़न होता है जबकि गाड्डे का प्रभाव कंपनी को धीरे-धीरे उस ओर ले जा रहा है जो कहता है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता असीमित नहीं बल्कि उसे कइयों के मानवाधिकार में से एक है.''

    4. शिखा गुप्ता
    टाइम मैगजीन ने कहा कि शिखा गुप्ता और उनकी टीम ने ऐसे समय में स्वास्थ्य कर्मियों के लिए व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए कदम उठाए जब व्हाइट हाउस से 'नेतृत्व शून्यता' थी.

    5. रोहन पवुलुरी
    मैगजीन ने कहा कि 25 साल की रोहन पवुलुरी निशुल्क ऑनलाइन टूल की संस्थापक हैं जो यूजर्स को खुद से दिवालियापन फार्म भरने में मदद करता है.

    चंद्रशेखर आजाद
    34 साल के चंद्रशेखर आजाद रावण के बारे में मैगजीन में कहा गया है कि वह दलित समुदाय को शिक्षा के जरिए गरीबी से निकालने में मदद करने के लिए स्कूल चलाते हैं और वह आक्रामक हैं. वह जाति-आधारित हिंसा के शिकार लोगों की रक्षा करने के लिए गांवों में जाते हैं. आजाद ने हाथरस में दलित युवती के साथ गैंगरेप के मामले में एक अभियान चलाया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.