Home /News /business /

इन 5 म्यूचुअल फंड्स ने 1 साल में दिया 118% रिटर्न, क्या आपने भी इनमें निवेश किया है?

इन 5 म्यूचुअल फंड्स ने 1 साल में दिया 118% रिटर्न, क्या आपने भी इनमें निवेश किया है?

निवेशकों के लिए बेहतर विकल्प

निवेशकों के लिए बेहतर विकल्प

Mutual Funds With Highest Gains: म्‍यूचुअल फंड स्‍कीम्‍स निवेशकों के लिए एक बेहतर ऑप्‍शन बन रही हैं. इनमें निवेश पर मिलने वाला रिटर्न नए निवेशकों को काफी आकर्षित कर रहा है.

    नई दिल्ली. भारत में शेयर मार्केट की लोकप्रियता और फाइनेंशियल जागरुकता तेजी से बढ़ती जा रही है, वैसे ही म्यूचुअल फंड (mutual fund) में निवेश भी तेजी से बढ़ रहा है. देश में Mutual fund Investment के लोकप्रिय होने की एक वजह इसका अच्छा रिटर्न भी है. लेकिन mutual fund investment में रिस्क भी रहता है. क्योंकि शेयर बाजार से इसका संबंध होता है.

    Valueresearch के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले एक साल में 5 इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर फंड ने निवेशकों का पैसा दोगुना कर दिया है. जिसमें पावर, कंस्ट्रक्शन, कैपिटल गुड्स और मेटल सेगमेंट की कंपनियों के शेयर शामिल हैं.

    1. Quant Infrastructure fund
    क्वांट इंफ्रास्ट्रक्चर फंड में भी निवेशकों का पैसा तेजी से बढ़ा. यहां एक साल में निवेशकों की दौलत दोगुने से ज्‍यादा हो गई. इस स्‍कीम में बीते एक साल में 118 फीसदी रिटर्न मिला है.

    2. ICICI Prudential Infrastructure
    ICICI प्रुडेंशियल कमोडिटीज फंड में निवेशकों का पैसा सबसे तेजी से बढ़ा. यहां एक साल में निवेशकों की दौलत दोगुने से ज्‍यादा हो गई. इस स्‍कीम में बीते एक साल में 108.6 फीसदी रिटर्न मिला है.

    3. IDFC Infrastructure fund
    आईडीएफसी इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड में निवेशक पिछले एक साल में 104.8 से ज्यादा का रिटर्न दिया है. इस फंड का सीमेंट, बिजली और ऊर्जा कंपनियों में बड़ा निवेश है.

    4. HSBC Infrastructure Equity fund
    एचएसबीसी इंफ्रास्ट्रक्चर इक्विटी फंड ने पिछले एक साल में करीब 102 फीसदी रिटर्न दिया है.

    5. Aditya Birla Sun Life Infrastructure fund
    आदित्य बिड़ला सन लाइफ इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड पिछले एक साल में बाकी फंड से थोड़ा कम रिटन दिया है. इसनें 1 साल में निवेशकों को 97.4 प्रतिशत का रिटर्न दिया है.

    Tags: Mutual fund, Mutual fund investors, Mutual funds, Personal finance

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर