हर महीने खुले 5 लाख नए Demat Account, युवाओं खूब कर रहे कमाई, जानिए किन शेयरों में पैसा लगाना है बेहतर?

हर महीने खुले 5 लाख नए Demat Account, युवाओं खूब कर रहे कमाई, जानिए किन शेयरों में पैसा लगाना है बेहतर?
कोरोना काल में हर महीने खुले 5 लाख नए Demat Account, युवाओं ने खूब की कमाई

कोरोना संकट (Corona) के दौरान बड़ी तादाद में नए निवेशक शेयर बाजार (Investors Increased in Share Market) से जुड़े हैं. लॉकडाउन में खासतौर से युवाओं ने तो शेयर बाजार को अतिरिक्त कमाई का जरिए बना लिया है. जानिए कहां पैसा लगाना है बेहतर ऑप्शन..

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 20, 2020, 5:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना संकट (Corona) के दौरान बड़ी तादाद में नए निवेशक शेयर बाजार (Investors Increased in Share Market) से जुड़े हैं. लॉकडाउन में खासतौर से युवाओं ने तो शेयर बाजार को अतिरिक्त कमाई का जरिए बना लिया क्योंकि वेतन कटौती और छंटनी की वजह से काफी लोगों की कमाई इस दौरान घट गई. सेबी के मुताबिक कोरोना काल में हर महीने औसतन 5 लाख नए डीमैट अकाउंट खुले हैं.

कोरोना संकट ने ना सिर्फ लोगों को घर में लॉक कर दिया था बल्कि इस दौरान बड़ी तादाद में कामकाजी लोगों को वेतन कटौती और छंटनी भी झेलनी पड़ी. ऐसे में नुकसान की भरपाई और अतिरिक्त कमाई के लिए लोगों ने शेयर बाजार का रुख किया. मार्केट रेगुलेटर सेबी के मुताबिक औसतन हर महीने करीब 5 लाख नए डीमैट अकाउंट खुले हैं. इसमें से करीब 65 फीसदी नए युवा निवेशक हैं, जिनकी उम्र 21 से 35 साल के बीच है.

1 अप्रैल से 30 जून के दौरान करीब 24 लाख डीमैट अकाउंट खुले
सेबी के आंकड़ों के मुताबिक 1 अप्रैल से 30 जून के दौरान करीब 24 लाख डीमैट अकाउंट खोले गए. जबकि जून महीने में ही 10 लाख से ज्यादा डीमैट अकाउंट खुले. अभी तक कुल डीमैट अकाउंट की संख्या 4.5 करोड़ के आसपास पहुंच गई है. जानकारों के मुताबिक 23 मार्च के आसपास शेयर बाजार अपने निचले स्तर पर था. ऐसे में नए निवेशकों के लिए मार्केट में एंट्री के लिए ये सुनहरा मौका था.
दिल्ली, मुंबई और बंगलुरु से करीब 30 फीसदी नए निवेशक बाजार से जुड़े


बड़े शहरों और महानगरों के युवाओं के बीच कोरोना काल में शेयर बाज़ार का आर्कषण काफी बढ़ा. खासतौर से दिल्ली, मुंबई और बंगलुरु से करीब 30 फीसदी नए निवेशक बाजार से जुड़े. इसके अलावा अहमदाबाद, चेन्नई, कोलकाता जैसे महानगरों के युवाओं ने भी शेयर बाजार का दामन थामा. शुरुआत तो शौकिया ट्रेडिंग से हुई लेकिन अब युवा निवेशक मार्केट में पैसे लगाने से पहले काफी रिसर्च कर रहे हैं.

मार्केट के उतार-चढ़ाव के दौरान उन्हें नुकसान न उठाना पड़े इसलिए यहां निवेश करें 
नए निवेशकों की शेयर बाज़ार में बढ़ती दिलचस्पी को देखते हुए हाल ही में सेबी ने सलाह भी जारी की थी कि नए निवेशकों को शुरूआत में इक्विटी मार्केट से बचना चाहिए और हो सके तो गवर्नमेंट सिक्योरिटीज़ में ही निवेश करना चाहिए ताकि अनुभव न होने के कारण मार्केट के उतार-चढ़ाव के दौरान उन्हें नुकसान न उठाना पड़े.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज