50 लाख हेक्टेयर बंजर जमीन को उपजाऊ बनाएगी सरकार, 75 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

News18Hindi
Updated: August 27, 2019, 1:34 PM IST
50 लाख हेक्टेयर बंजर जमीन को उपजाऊ बनाएगी सरकार, 75 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार
50 लाख हेक्टेयर बंजर जमीन को उपजाऊ बनाएगी सरकार

प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने कहा कि अगले 10 साल में 50 लाख हेक्टेयर बंजर जमीन (Desertification of Land) को उपजाऊ (Fertile) बनाया जाएगा. इससे 75 लाख लोगों को रोजगार (Job) मिलेगा

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 27, 2019, 1:34 PM IST
  • Share this:
केंद्रीय वन और पर्यावरण मंत्री (Minister of Environment, Forest and Climate Change) प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने कहा कि अगले 10 साल में 50 लाख हेक्टेयर बंजर जमीन (Desertification of Land) को उपजाऊ (Fertile) बनाया जाएगा. इससे 75 लाख लोगों को रोजगार (Job) मिलेगा. बता दें कि भारत में 2 से 13 सितंबर तक यूएन सीसीडी कॉप-14 (UNCCDCOP14) सम्मेलन होने जा रहा है. यह प्रयास खराब जमीन को उपजाऊ जमीन में बदलने का प्रयास है.

200 देश लेंगे इसमें हिस्सा
केंद्रीय मंत्री ने कहा, 2 से 13 सितंबर तक होने वाली यूएन सीसीडी (कॉप-14) (UNCCDCOP14) कॉन्फ्रेंस में लगभग 200 देश इसमें भाग लेंगे. रियो डी जेनेरा के बाद इस तरह का प्रयास हो रहा है. और अगले दो साल भारत इसका अध्यक्ष रहेगा. इसमें लगभग 100 देशों के मंत्री आएंगे. पीएम नरेंद्र मोदी भी इसमें शिरकत करेंगे. दिल्ली डिक्लेरेशन को दुनिया ठीक से फॉलो करें इसका मोनिटरिंग भारत करेगी. COP का लोगो हमने लोगों से ही मंगवाया था. 9 और 10 सितंबर को सभी देशों के मंत्री शामिल होंगे. ग्रेटर नोएडा में इसका सम्मेलन होगा. 3000 से अधिक डेलीगेट इसमें शामिल होंगे. इस कार्यक्रम में यूएन के भी अधिकारी शामिल होंगे.

ये भी पढ़ें: RBI के कदम से नौकरियों को बचाने में मिलेगी मदद! आम आदमी को मिलेंगे ये 5 बड़े फायदे

50 लाख हेक्टेयर खराब जमीन को बनाएंगे उपजाऊ
प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि 50 लाख हेक्टेयर खराब जमीन को ठीक करने के लिए हम काम करेंगे. भारत इसे 2030 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा है. उन्होंने कहा, देहरादून में सेंटर ऑफ एक्सक्सेल की स्थापना भी की जाएगी. 12 दिन चलने वाले इस कार्यक्रम में बंजर जमीन को ठीक करने की कोशिश की जाएगी.

75 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार
Loading...

उन्होंने कहा कि एक हेक्टेयर उपजाऊ भूमि बनाने से 1.5 लोगों को रोजगार मिलता है. 50 लाख हेक्टेयर जमीन के सुधार से 75 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा. रासायनिक उर्वरकों, पानी के अधिक इस्तेमाल से भी जमीन ख़राब होती है. अरावली के संरक्षण के लिये भी काम किया जाएगा.

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार से 2.5 लाख लेकर शुरू करें ये बिजनेस, हजारों कमाएं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 27, 2019, 1:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...