कोरोना के कारण 70 फीसदी स्टार्टअप की हालत बहुत खराब, अब तक 12 फीसदी हुए बंद: स्टडी

कोरोना के कारण 70 फीसदी स्टार्टअप की हालत बहुत खराब, अब तक 12 फीसदी हुए बंद: स्टडी
कोरोना के कारण 70 फीसदी स्टार्टअप की हालत बहुत खराब, अब तक 12 फीसदी हुए बंद

भारतीय स्टार्टअप पर कोविड-19 का असर' (Indian Startups Affected By COVID) के नतीजों के अनुसार, 33 फीसदी स्टार्टअप ने अपने निवेश के निर्णय को रोक लिया है और 10 फीसदी ने कहा कि उनके डील खत्म हो गए हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना (Coronavirus) ने पूरे विश्व की हालत खस्ता कर दी है. हाल ही में आई नई रिपोर्ट के मुताबिक इस संकट की वजह से देश के करीब 70 फीसदी स्टार्टअप की हालत खराब है, जब​कि 12 फीसदी स्टार्टअप बंद हो चुके हैं. फिक्की-आईएएन की एक स्टडी में यह दावा किया गया है. इंडस्ट्री चैम्बर फिक्की और इंडियन एंजेल नेटवर्क (IAN) के देशव्यापी सर्वे 'भारतीय स्टार्टअप पर कोविड-19 का असर' (Indian Startups Affected By COVID) के नतीजों के अनुसार, 33 फीसदी स्टार्टअप ने अपने निवेश के निर्णय को रोक लिया है और 10 फीसदी ने कहा कि उनके डील खत्म हो गए हैं.

68 फीसदी स्टार्टअप परिचालन चालन और प्रशासनिक खर्चे कम रहे 
सर्वे से पता चलता है कि अगले तीन से छह महीनों में निर्धारित लागत खर्चे को पूरा करने के लिए केवल 22 फीसदी स्टार्टअप के पास ही पर्याप्त नकदी है और 68 फीसदी परिचालन और प्रशासनिक खर्चे को कम कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें:- Hero का बड़ा ऑफर! स्कूटी पर 15000 और बाइक पर 10000 का भारी डिस्काउंट, जल्दी उठाएं फायदा
अप्रैल-जून में 20-40 फीसदी वेतन कटौती शुरू कर दी


करीब 30 फीसदी कंपनियों ने कहा कि अगर लॉकडाउन को बहुत लंबा कर दिया गया तो वे कर्मचारियों की छंटनी करेंगे. इसके अलावा 43 प्रतिशत स्टार्टअप ने अप्रैल-जून में 20-40 फीसदी वेतन कटौती शुरू कर दी है.

ये भी पढ़ें:- 31 जुलाई तक बेटी के नाम खोलें ये खाता, 21 की उम्र में अकाउंट में होंगे 64 लाख

स्टार्टअप को राहत पैकेज की जरूरत
कम फंडिंग ने स्टार्टअप्स को व्यावसायिक विकास और विनिर्माण गतिविधियों को आगे बढ़ाने को फिलहाल टालने पर मजबूर किया है. उन्हें अनुमानित ऑर्डर का नुकसान हुआ है, जिससे स्टार्टअप कंपनियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. सर्वेक्षण में स्टार्टअप्स के लिए एक तत्काल राहत पैकेज की आवश्यकता पर प्रकाश डाला गया है, जिसमें सरकार से संभावित खरीद ऑर्डर, कर राहत, अनुदान, आसान कर्ज आदि शामिल हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading