जून में 15 फीसदी लुढ़का 8 इन्फ्रास्ट्रक्चर आउटपुट ग्रोथ, उर्वरक उत्पादन में तेजी

जून में 15 फीसदी लुढ़का 8 इन्फ्रास्ट्रक्चर आउटपुट ग्रोथ, उर्वरक उत्पादन में तेजी
जून में भी लुढ़का बुनियादी ढांचे का ग्रोथ रेट

8 Core Infrastructure Output: इंडस्ट्री डिपार्टमेंट ने शुक्रवार को इन्फ्रास्ट्रक्चर आउटपुट के नये आंकड़े जारी कर दिए हैं. साल-दर-साल के आधार पर इसमें 15 फीसदी की गिरावट आई है. केवल उर्वरक उत्पादन में जून के दौरान तेजी देखने को मिली है.

  • Share this:
नई दिल्ली. 8 बुनियादी ढांचे (Core Infrastructure Sector) के आंकड़े शुक्रवार को सरकार द्वारा जारी कर दिए गए हैं. जून का महीना लगातार चौथा महीना रहा, जब इन 8 बुनियादी ढांचे के ग्रोथ में गिरावट आई है. साल-दर-साल के आधार पर इसमें 15 फीसदी की गिरावट रही. केवल उर्वरक उत्पादन (Fertilizer Output) में जून के दौरान तेजी देखने को मिली है. हालांकि, मई की तुलना में यह गिरावट कम रही है. इंडस्ट्री डिपार्टमेंट (Industry Department) द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़े से पता चलता है कि जून में कोर सेक्टर ग्रोथ 15 फीसदी कम रहा है. मई में यह 22 फीसदी पर था.

सबसे ज्यादा गिरावट स्टील सेक्टर (-33.8%), कोल सेक्टर (-15.5%), इलेक्ट्रिसिटी (-11%) और नैचुरल गैस (-12%) में रही है. उर्वरक उत्पादकता में 4.2 फीसदी की तेजी आई है. हालांकि, मई की तुलना में यह भी कम है. मई में यह आंकड़ा 7.5 फीसदी था.

कन्ट्रोलर जनरल ऑफ अकाउंट्स (CGA) द्वारा अलग से जारी आंकड़ों से पता चलता है कि वित्त वर्ष 2021 की पहली तिमही में केंद्र सरकार वित्तीय ने घाटे का 83.2 फीसदी खर्च किया है. पिछले साल की सामान अवधि में यह 61.4 फीसदी था.




लॉकडाउन का असर रिकवरी पर भारी
पिछले बुधवार को अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने कहा था कि भारत की इकोनॉमिक रिकवरी पर फ्रिक्वेंसी इंडिकेटर्स भारी पड़ रहे हैं. IMF का कहना है कि लॉकडाउन का असर इतना ज्यादा है कि इससे उबरने की स्थिति उतनी साकारात्मक नहीं दिखाई दे रही है. आईएमएफ ने सरकार से कहा है कि वो जल्द से जल्द कोरोना वायरस महामारी को नियंत्रित करने पर दे और इसे ही सबसे ज्यादा वरीयता दे ताकि आर्थिक स्थिति बेहतर हो.

यह भी पढ़ें: घर में रखे सोने की देनी होगी जानकारी! सरकार ला रही है सबसे बड़ी योजना

चालू वित्त वर्ष में 4.5 फीसदी लुढ़केगी जीडीपी
आईएमएफ ने हालिया अनुमान में कहा है कि वित्त वर्ष 2021 में भारतीय अर्थव्यवस्था में 4.5 फीसदी की गिरावट आएगी. जबकि, गोल्डमैन सैक्स (Goldman Sachs) ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि जून तिमाही​ व्यापारिक गतिविधियों के लिए सबसे बुरी तिमाही साबित होगी. गोल्डमैन सैक्स ने यह अनुमान देश में करीब दो महीने तक लॉकडाउन लगाए जाने की वजह से लगाया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading