लाइव टीवी

जीएसटी सेस लगने से सिगरेट की कीमतों में 9% की बढ़ोत्‍तरी

News18Hindi
Updated: July 19, 2017, 6:34 PM IST
जीएसटी सेस लगने से सिगरेट की कीमतों में 9% की बढ़ोत्‍तरी
सिगरेट की पेटियां उठा

सेस में बढ़ोतरी के कारण सिगरेट की कीमतों में 9% की बढ़ोतरी की गई है. जानकारों और विश्लेषकों के मुताबिक इस फैसले से सिगरेट की बिक्री पर असर पड़ सकता है, सिगरेट महंगी होने से लोग सिगरेट पीना कम कर सकते हैं.

  • Share this:
सेस में बढ़ोतरी के कारण सिगरेट की कीमतों में 9% की बढ़ोतरी की गई है. जानकारों और विश्लेषकों के मुताबिक इस फैसले से सिगरेट की बिक्री पर असर पड़ सकता है, सिगरेट महंगी होने से लोग सिगरेट पीना कम कर सकते हैं.

विभिन्न ब्रोकरेजों की रिपोर्ट के मुताबिक, जीएसटी के तहत सिगरेट पर प्रभावी टैक्स 11-15 फीसदी बढ़ गया है. उन्होंने बताया केंद्र सरकार ने बजट में पहले ही सिगरेट पर टैक्स 6 फीसदी बढ़ा दिया था. इस वित्तीय वर्ष में सिगरेट पर किए गए टैक्स में कुल 16-17 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. सबसे ज्यादा टैक्स की बढ़ोतरी प्रीमियम किंग साइज सेगमेंट में हुई है, जो करीब 21 फीसदी है.

मॉर्गन स्टेनली ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया कि सिगरेट का मार्केट लीडर आईटीसी अपनी आम सिगरेट के दाम 12-13 फीसदी तक बड़ा सकती है, वहीं प्रीमियम सिगरेट के दाम में भी 20 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है. इस साल पहले ही आईटीसी सिगरेट के दाम में करीब 4 फीसदी की बढ़ोतरी कर चुकी है, और उम्मीद है कि अगले कुछ दिनों में वह 8-9 फीसदी की बढ़ोतरी कर सकती है.

6 सालों से लगातार हो रही सिगरेट के दाम और टैक्स वृद्धि



विश्लेषकों का मानना ​​है कि किंग साइज सिगरेट ब्रांड जैसे कि क्लासिक, मार्लबोरो और इंडिया किंग्स की कीमत तेज़ी से बढ़ रही है, जो सिगरेट के निर्माताओं के लिए चिंता का विषय है.

सिगरेट उद्योग संगठन, द टोबैको इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने कहा है कि सेस में वृद्धि लीगल सिगरेट उद्योग पर गंभीर दबाव डालेगी. इसका प्रभाव भारत में तम्बाकू की खेती करने किसानों पढ़ेगा, क्योंकि इससे तस्करी और अवैध सिगरेट व्यापार बढ़ेगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 19, 2017, 6:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर