शादी समारोह के लिए मेहमानों की संख्या में दिल्ली सरकार ने दी बड़ी छूट, कारोबारियों को मिली राहत

फाइल फोटो
फाइल फोटो

दिल्ली सरकार की ओर से जारी गाइड लाइन के मुताबिक अगर किसी बंद जगह पर समारोह होता है तो उस बंद जगह की जो क्षमता है उसके 50 फीसद लोग शामिल हो सकेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2020, 10:21 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना और लॉकडाउन के बाद से कारोबरियों की आस दीवाली और शादी समारोह के बाज़ार पर लगी हुई थी. दीवाली पर थोड़ी राहत मिलती हुई दिख रही है, लेकिन शादी समारोह को लेकर बाज़ार में सन्नाटा था. सरकार ने भी सिर्फ 50 लोगों के शामिल होने की अनुमति दी हुई थी. लेकिन आज दिल्ली सरकार ने इस शादी समारोह में शामिल होने वाले मेहमानों की संख्या को बढ़ा दिया है. लेकिन इसके लिए एक गाइड लाइन भी बनाई गई है. इसका पालन किए बिना यह छूट नहीं मिलेगी. साथ ही नियमों का पालन न करने पर जुर्माना भी देना होगा. सरकार के इस कदम से जहां शादी वाले घरों में खुशी है तो वहीं कारोबारियों को भी बड़ी राहत मिली है.

इतने मेहमान शामिल हो सकेंगे शादी समारोह में
दिल्ली सरकार की ओर से आज जारी हुई गाइड लाइन के मुताबिक अगर किसी बंद जगह पर समारोह होता है तो उस बंद जगह की जो क्षमता है उसके 50 फीसद लोग शामिल हो सकेंगे. लेकिन यह भीड़ 200 लोगों से ज़्यादा की नहीं होनी चाहिए. वहीं अगर समारोह खुले एरिया में हो रहा है तो मेहमानों के शामिल होने की कोई अधिकतम संख्या नहीं होगी. गौरतलब रहे कि इससे पहले सरकार ने शादी समारोह में 50 मेहमानों के शामिल होने की छूट दी थी. जिसे लेकर शादी वाले घरों के साथ ही कारोबारियों के बीच भी मायूसी देखी गई थी.

शादी समारोह में इन नियमों का करना होगा पालन
>>शादी समारोह में शामिल होने वाले हर एक मेहमान को मास्क पहनना होगा.


>>सभी मेहमानों के बीच तय दूरी का होना ज़रूरी होगा.
>>समारोह में आने वाले हर एक मेहमान की थर्मल स्कैनिंग करना ज़रूरी होगा.
>>शादी समारोह वाली जगह पर हैंड सैनिटाइजर की व्यवस्था करनी होगी.
>>गाइड लाइन के मुताबिक यह सभी इंतज़ाम अनिवार्य रूप से करने होंगे.

दिल्ली सरकार के फैसले से यह हुए खुश
शादी समारोह में मेहमानों की संख्या में छूट मिलने के बाद से लोगों में खुशी है. ध्यान रहे कि दीवाली के बाद शादियों का एक बड़ा सहलग देवोत्थान शुरु हो जाएगा. वैसे भी लोगों को शादी समारोह में शामिल होने का इंतज़ार था. कोरोना के बाद से लोगों का मिलना जुलना भी बंद हो गया है. लेकिन इससे ज़्यादा खुशी मैरिज होम, होटल-रेस्टोरेंट, कैटरिंग, किराना और ड्राइ फ्रूट बाज़ार, कपड़ा बाज़ार, फूल बाज़ार, इवेंट कंपनियां और आतिशबाजी वाले आदि कारोबारी सरकार के इस कदम को एक बड़ी राहत के रूप में देख रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज