Home /News /business /

11 साल की उम्र में खिलौने बेच खरीदे बिटकॉइन, 21 का होते-होते बन गया सेल्फमेड करोड़पति

11 साल की उम्र में खिलौने बेच खरीदे बिटकॉइन, 21 का होते-होते बन गया सेल्फमेड करोड़पति

क्रिप्‍टोकरंसी ट्रेडिंग ने कई लोगों को भारी मुनाफा दिया है.

क्रिप्‍टोकरंसी ट्रेडिंग ने कई लोगों को भारी मुनाफा दिया है.

cryptocurrency ने कई लोगों को रंक से राजा बना दिया. ऐसे ही एक भाग्‍यशाली है कुर्दिश शरणार्थी डेडवेन यूसुफ (Dadvan Yousuf). 2010 में 11 साल की उम्र में खिलौने बेचकर Bitcoin खरीदने वाला यह बच्‍चा 2020 आते-आते करोड़पति बन गया.

    नई दिल्‍ली. स्विट्जरलैंड में रहने वाले एक कुर्दिश शरणार्थी डेडवेन यूसुफ (Dadvan Yousuf) ने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि अगले 10 साल में वह करोड़पति बन जाएगा. लेकिन यूसुफ ने जो सपना कभी लिया ही नहीं था उसे क्रिप्‍टोकरंसी ने (cryptocurrency) सच कर दिखाया. 11 साल की उम्र में यूसुफ ने अपने खिलौने बेचकर बिटकॉइन (Bitcoin) खरीदे थे और सिर्फ 10 साल में मतलब 21 की उम्र में वह स्विट्जरलैंड का पहला सेल्‍फमेड करोड़पति बन गया.

    कभी पाई-पाई को मोहताज यूसुफ ने अब अपनी क्रिप्‍टोकरेंसी लॉंच कर दी है. उसके पास वो सबकुछ है जिन्‍हें पाने की ख्‍वाहिश हर युवा रखता है. 11 साल की उम्र में यूसुफ ने जो बिटकॉइन खरीदे थे, वो उसने अमीर होने के लिए नहीं बल्कि अपनी दादी के इलाज के लिए खरीदे थे.

    ये भी पढ़ें : Budget 2022-23: इस बजट किसानों को मिल सकती है खुशखबरी, जानें क्या है सरकार का प्लान!

    ऐसे बदली जिंदगी

    यूसुफ ने ब्रिटिश समाचार पत्र द सन को बताया कि उसके माता-पिता अत्‍यंत गरीब थे. वो स्विट्जरलैंड के Ipsach इलाके में रहते थे. कुछ बच्‍चे खिलौने गली में रख जाते थे. वो उन्‍हें उठा लेता और उनसे खेलता था. कई बार गरीब बच्‍चा समझकर आसपास के लोग खिलौने उपहार में दे देते थे. यूसुफ की दादी उनसे दूर रहती थी और बीमार थी. उसके माता-पिता अक्‍सर बीमारी का जिक्र किया करते और रुपए भेजने की योजना बनाते.

    बेच दिए खिलौने

    एक दिन यूसुफ ने अपने सारे खिलौने बेच दिए. उसे खिलौनों के बदले 250 Swiss Francs (£200) मिले. यह राशि 20 हजार भारतीय रुपये से थोड़ी सी ज्‍यादा थी. ऐसा उसने अपनी दादी के इलाज के लिए पैसे भेजने के लिए किया. तब उसकी उम्र 11 साल थी. अपनी दादी के पास विदेश में पैसा भेजने के तरीके खोजते वक्‍त ही सबसे पहले उसने बिटकॉइन का नाम सुना.

    पिता ने बिटकॉइन को बताया गेम मनी

    सबसे पहले वह पैसे लेकर एक मनी एक्‍सचेंज कियोस्‍क पर गया. वहां पर मौजूद महिला ने बिटकॉइन का नाम भी नहीं सुना था. फिर यूसुफ ने अपने पिता से इस बारे में बात की. पिता ने इसे मजाक समझा और कहा- “तुम पागल हो गए हो. रियल मनी के बदले गेम मनी लेना चाहते हो.’’ लेकिन यूसुफ की जिद के आगे पिता हार गए. पिता को उसने खिलौने बेचकर कमाये 250 Swiss Francs दे दिये और बदले में पिता से उनका क्रेडिट कार्ड ले लिया. क्रेडिट कार्ड से ही यूसुफ ने शुरू में €15 -€15  में 10 Bitcoins खरीदे.

    ये भी पढ़ें : केयर्न के साथ भारत के सारे मसले हल, कंपनी ने वापस लिए सारे मुकदमे

    इसके एक साल बाद यूसुफ ने $13.53 प्रति पीस के हिसाब से 1000 बिटकॉइन खरीदे. 2016 में उसने 16,000 इथेरियम (Ethereum) खरीदे. हालांकि, वह 17 साल की उम्र में ही क्रिप्‍टोकरेंसी से करोड़पति बन चुका था. लेकिन उसे 2020 तक कोई कैश नहीं मिला था. 2020 में उसने क्रिप्‍टोकरेंसी को कैश किया और स्विट्जरलैंड का 21 साल का पहला सेल्‍फ-मेड करोड़पति बन गया.

    Tags: Bitcoin, Cryptocurrency

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर