इस शख्स ने शौकिया तौर पर शुरू की खेती, अब कमाते हैं 1 लाख रुपये महीना

हैदराबाद में काम कर रहे 32 वर्षीय सॉफ्टवेयर इंजीनियर पुल्लीचार्ला हनुमा रेड्डी हर सप्ताह होने वाली दो दिन की छुट्टी में अपने पैतृक गांव जाते हैं और अपनी खेती करते हैं. इसके जरिए वो 12 लाख रुपये सालाना कमाते हैं.

News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 4:46 AM IST
इस शख्स ने शौकिया तौर पर शुरू की खेती, अब कमाते हैं 1 लाख रुपये महीना
पुल्लीचार्ला हनुमा रेड्डी अमरूद की खेती से लाखों कमा रहे हैं.
News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 4:46 AM IST
हैदराबाद में काम कर रहे 32 वर्षीय सॉफ्टवेयर इंजीनियर पुल्लीचार्ला हनुमा रेड्डी आंध्र प्रदेश के पिछड़े जिले प्रकाशम के रहने वाले हैं. उन्होंने उस सूखा पीड़ित क्षेत्र में अपनी जमीन पर खेती करनी शुरू की है. वहां वह ताइवान में होने वाली प्रजाति के अमरुद उगाते हैं, जिसमें पानी की काफी कम मात्रा प्रयोग होती है और फल का उत्पादन ज्यादा होता है. हनुमा प्रति सप्ताह होने वाली दो दिन की छुट्टी में अपने पैतृक गांव जाते हैं और अपनी खेती की देखभाल करते हैं. दरअसल, पानी की कमी के चलते उन्होंने अपनी ज़मीन को ऐसे ही छोड़ दिया था मगर हैदराबाद आने के बाद उन्होंने खेती के नए तरीकों का पता लगाना शुरू किया. इसी दौरान उन्हें पता चला कि कम पानी का प्रयोग करके अमरुद की खेती की जा सकती है और अच्छा पैसा कमाया जा सकता है. उसके बाद उन्होंने अपनी छह एकड़ ज़मीन पर अमरुद के चार हज़ार पौधे रोपे. नौ महीने की अवधि में ही उन्हें अच्छी फसल मिली.

बेचते हैं 120 रुपये प्रति किलो में अमरूद- हनुमा खेती में सौर ऊर्जा का प्रयोग करते हैं पानी की बचत करने के लिए ड्रिप इरीगेशन प्रणाली का प्रयोग करते हैं. अब उनकी फसल को खरीदने के लिए बहुराष्ट्रीय कंपनियां उनसे संपर्क कर रही हैं.

A software engineer started agriculture as a hobby and earn one lakh a month
हनुमा रेड्डी ताइवान में होने वाली प्रजाति के अमरुद उगाते हैं


बहुराष्ट्रीय कंपनियां 35 से 40 रुपए प्रति किलो की दर से उनसे अमरुद खरीदती हैं और बाजार में इन अमरूदों की कीमत लगभग 90 से 120 रुपए प्रति किलो है. डॉक्टरों का कहना है की ये अमरुद सेव से ज्यादा पोषण देते हैं. इसलिए इन अमरूदों की मांग ज्यादा है.

कमाते हैं सालाना 12 लाख रुपये- आंध्र प्रदेश में लगभग सभी जगहों पर पानी की बहुत बड़ी समस्या है और मानसून भी अपेक्षा के अनुरूप नहीं है. मगर हनुमा को कभी भी कोई समस्या नहीं आयी क्योंकि वह पानी की मात्रा को भरसक कम रखने का प्रयास करते हैं. निश्चित तौर पर यह हनुमा की सफलता की नयी कहानी है.

हनुमा रेड्डी सोलर के जरिए करते हैं खेती


उन्होंने अपनी ज़मीन में चार लाख रूपए लगाए और नौ महीने के अंदर ही उन्हें नौ लाख रूपए की कमाई हुई जोकि निवेश का दोगुना था.
Loading...

इसलिए सॉफ्टवेयर इंडस्ट्री में काम करने वाले उनके मित्र उनके रास्ते पर चलना चाहते हैं और खेती को अपनाना चाहते हैं. शायद एक दिन यह उनका वास्तविक रोजगार ही बन जाए.
First published: July 3, 2019, 4:46 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...