लाइव टीवी

कहीं आपके बच्चे का आधार कार्ड तो नहीं हो गया बेकार! जानिए इससे जुड़े सभी सवालों के जवाब

News18Hindi
Updated: February 11, 2020, 12:56 PM IST
कहीं आपके बच्चे का आधार कार्ड तो नहीं हो गया बेकार! जानिए इससे जुड़े सभी सवालों के जवाब
UIDAI ने ट्विटर पर जानकारी देते हुए बताया हैं कि बच्चों के लिए बाल आधार बनवाना होता है.

(UIDAI) ने ट्विटर पर जानकारी देते हुए बताया हैं कि बच्चों के लिए बाल आधार बनवाना होता है. यह आधार कार्ड 5 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए बनाया जाता है. बच्चों के लिए जारी किया जाने वाला आधार नीले रंग का होता है, और बच्चे के 5 वर्ष के होने पर यह आधार अमान्य हो जाता हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2020, 12:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में आधार कार्ड बनाने वाली सरकारी संस्था भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने ट्विटर पर जानकारी देते हुए बताया हैं कि बच्चों के लिए बाल आधार (Baal Aadhaar) बनवाना होता है. यह आधार कार्ड 5 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए बनाया जाता है. बच्चों के लिए जारी किया जाने वाला आधार नीले रंग का होता है, और बच्चे (AadhaarForMyChild) के 5 वर्ष के होने पर यह आधार अमान्य हो जाता है. इसीलिए उसे अपने पास वाले स्थायी आधार केंद्र पर जाकर इसी आधार संख्या से बच्चों का बायोमेट्रिक विवरण रजिस्ट्रर्ड कराना होता हैं. आपको बता दें कि अब कोई भी स्कूल बच्चों को आधार कार्ड न होने की वजह से एडमिशन देने से इनकार नहीं कर सकता. भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण ने यह साफ कर दिया है कि अगर कोई स्कूल ऐसा करता है, तो वह अवैध गतिविधी होगी. अथॉरिटी ने स्कूलों को छात्र-छात्राओं के आधार पंजीकरण और अपडेट करने की खातिर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए कहा है.

आपके घर में अगर कोई नवजात शिशु है तो उसका भी आधार कार्ड बनवाया जा सकता है. Unique Identification Authority Of India (UIDAI) की ओर से नवजात बच्चों के लिए भी आधार कार्ड बनाने की सुविधा शुरू की गई है. इस सुविधा के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप आधार के टॉल फ्री नंबर 1947 पर कॉल कर सकते हैं.

सवाल- बच्चों का आधार कार्ड बनवाने के लिए कौन से डॉक्युमेंट चाहिए?
जवाब-आधार कार्ड 5 साल की उम्र से छोटे और बड़े बच्चों के लिए बनाया जा सकता है. अगर आपका बच्चा 5 साल की उम्र से छोटा है तो इसके लिए आपको उसके जन्म प्रमाण पत्र यानी बर्थ सर्टिफिकेट ​की जरूरत होगी.





अगर जन्म प्रमाण पत्र नहीं है तो बच्चे के माता-पिता में से ​भी किसी एक के आधार कार्ड की मदद से यह काम किया जा सकता हैं. 5 साल से छोटे उम्र के बच्चों का बायोमेट्रिक जानकारी नहीं ली जाती है. लेकिन, जब उसकी उम्र 5 साल से अधिक हो जाती है तो बायोमेट्रिक रिकॉर्ड अपडेट कराना होता है.

UIDAI की वेबसाइट पर बाला आधार से जुड़े कई सवालों के जवाब दिए गए हैं...

(1) सवाल- आम लोगों के आधार कार्ड से कितना अलग होता हैं बच्चा का बाल आधार कार्ड?
जवाब
-यूआईडीएआई ने स्पष्ट किया है कि बाल आधार में बायोमेट्रिक आईडेंटिफिकेशन जैसे आइरिस स्कैन या फिंगरप्रिंट स्कैन की जरूरत नहीं होगी. जहां कहीं भी बच्चे की पहचान की जरूरत होगी वहां उसके माता पिता साथ जाएंगे. हालांकि, जैसे ही बच्चे की उम्र पांच वर्ष के पार होती है, उसे सामान्य आधार कार्ड जारी कर दिया जाएगा. इसमें सभी बायोमैट्रिक डिटेल्स होंगी.

ये भी पढ़ें: इधर कैश में लेन-देन किया उधर मैसेज पर आ जाएगा इनकम टैक्स का नोटिस, अब होगी रियल टाइम मॉनिटरिंग

(2) सवाल- बच्चों का आधार कार्ड बनवाने के लिए कौन से डॉक्युमेंट चाहिए?
जवाब-आधार कार्ड 5 साल की उम्र से छोटे और बड़े बच्चों के लिए बनाया जा सकता है. अगर आपका बच्चा 5 साल की उम्र से छोटा है तो इसके लिए आपको उसके जन्म प्रमाण पत्र यानी बर्थ सर्टिफिकेट ​की जरूरत होगी. 5 साल से छोटे उम्र के बच्चों का बायोमेट्रिक जानकारी नहीं ली जाती है. लेकिन, जब उसकी उम्र 5 साल से अधिक हो जाती है तो बायोमेट्रिक रिकॉर्ड अपडेट कराना होता है.



(3) सवाल- नवजात बच्चे का आधार बनवाने के लिए ये कागजात देने होंगे
जवाब-नवजात बच्चों का आधार कार्ड बनवाने के लिए बच्चे के माता और पति या अभिभाव का अपना आधार और बच्चे से संबंध दर्शाने वाले दस्तावेज प्रस्तुत करने होते हैं.

>> बच्चे से संबंध दर्शाने के लिए आप बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र या अस्पताल द्वारा जारी की गई डिस्चार्ज की पर्ची या कार्ड पेश कर सकते हैं. इन कागजातों के साथ आप किसी भी आधार के सेवा केंद्र पर जा कर नवजात बच्चे का आधार कार्ड अप्लाई कर सकते हैं.

(4) सवाल- कहां बनेगा बच्चों का आधार कार्ड?
जवाब-
कैसे बनवाएं अपने बच्चे के लिए बाल आधार-अपने बच्चे के साथ आधार इनरोलमेंट सेंटर जाएं और फॉर्म भरें.सेंटर पर बच्चे का और माता पिता में से किसी एक का जीवन प्रमाण पत्र लेकर जाएं.सेंटर पर बच्चे की फोटो खींची जाएगी जो बाल आधार पर लगेगी.

>> बाल आधार माता पिता में किसी एक के आधार कार्ड से लिंक किया जाएगा. यहां बच्चे की कोई बायोमेट्रिक डिटल नहीं ली जाएगी. इसके लिए अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर जमा कराएं.

>> वेरिफिकेशन और रजिस्ट्रेशन के बाद कंफर्मेशन मैसेज रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा. कंफर्मेशन मैसेज मिलने के 60 दिनों के भीतर माता पिता के रजिस्टर्ड पते पर बाल आधार भेज दिया जाएगा.

 

(5) सवाल-  जब बच्चा पांच साल का हो जाएगा तब क्या करना होगा?
जवाब-अगर आपके बच्चे की उम्र 5 साल से अधिक है तो उसका आधार कार्ड बनवाने के लिए आप स्कूल के लेटर हेड पर डीटेल, या ग्राम प्रधान या सभासद का लेटर लगा सकते हैं .

आधार कार्ड के लिए आवेदन करने से पहले इन सभी डॉक्युमेंट्स को पहले जुटा लें. 5 साल से अधिक उम्र के बच्चों का आवेदन के दौरान बायोमेट्रिक रिकॉर्ड सबमिट किया जाता है, लेकिन 15 साल बाद इसे फिर से एक बार ​अपडेट कराना होगा. बच्चे का आधार कार्ड बनवाने के लिए आप अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस या आधार सेवा केंद्र जा सकते हैं.

Ask Aadhaar Chatbot

बच्चों का आधार कार्ड बनवाने का ये हैं पूरा प्रोसेस
>>
आधार के इनरोलमेंट के लिए आपको आधार सेवा केंद्र पर जाकर एनरोलमेंट फॉर्म भरना होगा.
>> बच्चे का वैलिड एड्रेस प्रुफ नहीं हो तो बच्चे के माता-पिता का आधार नंबर भरना होगा.
>> सभी जरूरी डॉक्युमेंट्स के साथ आपको ये फॉर्म जमा करना होगा
>> फॉर्म को जमा करने के बाद बच्चे का बायोमेट्रिक रिकॉर्ड रिकॉर्ड किया जाएगा. इसके तहत हाथ की >> अंगुलियों की फिंगरप्रिंट, आंखों की तस्वीर लिया जाएगा.
>> प्रक्रिया पूरी होने पर एक एनरोलमेंट स्लिप जेनरेट कर आपको दी जाएगी.
>> इस एनरोलमेंट स्लिप पर एनरोलमेंट आईडी, नंबर और तारीख दी जाएगी.
>> इस एनरोलमेंट आईडी की मदद से आप आधार स्टेटस के बारे में पता कर सकते हैं.
>> आधार एनरोलमेंट के 90 दिनों के अंदर आधार को आवेदनकर्ता के घर पर पोस्ट कर दिया जाता है.

ये भी पढ़ें-1 अप्रैल से बदलेगा इन 3 बैंकों का नाम, जानिए आपके खाते और पैसे का क्या होगा?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 12:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर