प्लास्टिक आधार कार्ड इस्तेमाल करने वाले हो जाएं सावधान!

प्लास्टिक आधार कार्ड इस्तेमाल करने वाले हो जाएं सावधान!
प्रतीकात्मक तस्वीर

UIDAI ने कहा कि प्लास्टिक आधार कार्ड के इस्तेमाल से डेटा लीक होने की आशंका भी रहती है. UIDAI के मुताबिक, लोग साधारण पेपर पर आधार डाउनलोड करें या फिर mAadhaar का इस्तेमाल करें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 3, 2019, 7:45 AM IST
  • Share this:
अगर आपने अपने आधार कार्ड का लैमिनेशन करा रखा है या फिर प्लास्टिक स्मार्ट कार्ड के तौर पर उसे इस्तेमाल करते हैं, तो सावधान रहें. ऐसा करने पर आपके आधार का क्यूआर कोड काम करना बंद कर सकता है या फिर निजी जानकारी चोरी हो सकती है. यूनिक आईडेंटीफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) ने इनके इस्तेमाल पर चिंता जताई है.

UIDAI ने कहा कि प्लास्टिक आधार कार्ड के इस्तेमाल से डेटा लीक होने की आशंका भी रहती है. UIDAI के मुताबिक, लोग साधारण पेपर पर आधार डाउनलोड करें या फिर mAadhaar का इस्तेमाल करें.

ये भी पढ़ें: अब 18 साल पूरे होते ही बच्चे रद्द करा सकेंगे अपना आधार



डाउनलोडेड वर्जन पूरी तरह वैध- UIDAI के अनुसार, आधार लेटर, इसका कटअवे पोर्शन, साधारण कागज पर डाउनलोडेड वर्जन और mAadhaar पूरी तरह वैध है.
भूलकर भी न करें स्मार्ट कार्ड का इस्तेमाल- यूआईडीएआई के अनुसार, प्लास्टिक या पीवीसी आधार स्मार्ट कार्ड्स अक्सर गैर-जरूरी होते हैं. इसकी वजह यह होती है कि क्विक रेस्पॉन्स कोड आमतौर पर काम करना बंद कर देता है. इस तरह की गैर-अधिकृत प्रिंटिंग से क्यूआर कोड काम करना बंद कर सकता है.

ये भी पढ़ें: अंडर कंस्ट्रक्शन प्रॉपर्टी होंगी सस्ती, GST काउंसिल रेट घटाने पर कर सकती है फैसला

अपनी डिटेल शेयर ना करें- UIDAI ने लोगों को इस बात के लिए आगाह किया है कि वे अपना आधार नंबर और पर्सनल डिटेल किसी भी अनाधिकृत एजेंसी से शेयर ना करें. इसे लैमिनेट या प्लास्टिक कार्ड पर प्रिंट कराते वक्त भी ऐसा ना करें.

ये भी पढ़ें: चुनाव के पहले हर किसान के खाते में सरकार डालेगी इतने हज़ार रुपए, जानिए क्या है प्लान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading