लाइव टीवी

6 साल में 6 लाख को 1 करोड़ बनाने वाले आरती इंडस्ट्रीज के शेयर में आई भारी गिरावट, जानिए क्यों?

News18Hindi
Updated: January 10, 2020, 2:40 PM IST
6 साल में 6 लाख को 1 करोड़ बनाने वाले आरती इंडस्ट्रीज के शेयर में आई भारी गिरावट, जानिए क्यों?
आरती इंडस्ट्रीज के 16 मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट पर इनकम टैक्स के छापे पड़ने की खबर आई है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आरती इंडस्ट्रीज (Aarti Industries Stock Price) के 16 मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट पर इनकम टैक्स के छापे पड़ने की खबर आई है. इसी वजह से शेयर में भारी गिरावट देखने को मिली. आपको बता दें कि पिछले 6 साल में इस शेयर ने निवेशकों की वेल्थ 16 गुना तक बढ़ाई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 10, 2020, 2:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केमिकल्स सेक्टर में कारोबार करने वाली कंपनी आरती इंडस्ट्रीज के शेयर (Aarti Industries Stock Price) में शुक्रवार को भारी गिरावट आई है. NSE यानी नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर कंपनी का शेयर 6 फीसदी लुढ़कर 862 रुपये के भाव पर आ गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आरती इंडस्ट्रीज के 16 मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट पर इनकम टैक्स के छापे पड़ने की खबर आई है. इसी वजह से शेयर में भारी गिरावट देखने को मिली. आपको बता दें कि पिछले 6 साल में इस शेयर ने निवेशकों की वेल्थ 16 गुना तक बढ़ाई है. अगर छह साल पहले इसमें किसी ने 5.93 लाख रुपये निवेश किए होंगे तो वह करोड़पति बन गया होगा.

मोतीलाल ओसवाल वेल्थ क्रिएशन स्टडी के अनुसार यह शेयर दलाल स्ट्रीट पर टॉप 5 वेल्थ क्रिएटर्स में शामिल है. दिसंबर 2013 में यह 46 रुपये के भाव पर था.शुक्रवार को यह 861 रुपये पर के भाव पर है. इस तरह यह छह साल में करीब 1700 फीसदी चढ़ चुका है.

ये भी पढ़ें-इस स्कीम के तहत भी सरकार किसानों के बैंक खाते में भेजती हैं रकम, जानिए सबकुछ

ऐसे समझें- साल 2013 में आरती इंडस्ट्रीज के शेयर की कीमत सिर्फ 46 रुपये थी. यानी 6 लाख रुपये में 13044 शेयर आते हैं. अब शेयर का भाव बढ़कर 862 रुपये हो गया है. इस लिहाज से 6 लाख रुपये की वैल्यू अब बढ़कर 1.12 करोड़ रुपये हो गई है.

क्या करती हैं आरती इंडस्ट्रीज (Aarti Industries Profile)- कंपनी डाई, पिगमेंट्स, एग्रोकेमिकल्स, फार्मास्युटिकल्स और रबड़ केमिकल्स ऑफर करती है.इसकी आमदनी का करीब 40 प्रतिशत हिस्सा एक्सपोर्ट्स से आता है.

वित्त वर्ष 2019 में कंपनी की आमदनी 13 प्रतिशत CAGR से बढ़कर 4,706 करोड़ रुपये हो गई, जो वित्त वर्ष 2015 में 2,908 करोड़ रुपये थी. इस दौरान इसका एबिट्डा 20 प्रतिशत सालाना की दर से बढ़कर 466 करोड़ रुपये से 965 करोड़ रुपये हो गया.

ये भी पढ़ें-...तो क्या ईरान में सामान खरीदने के लिए नोटों को तौलकर देना होगाअब आगे क्या- एसकोर्ट सिक्योरिटी के रिसर्च हेड आसिफ इकबाल का कहना है कि कंपनी के फंडामेंटल बेहद मज़बूत है. शेयर में गिरावट खबरों की वजह से आई है. हालांकि, लॉन्ग टर्म के लिए शेयर में पैसा लगाया जा सकता है. ग्लोबल मार्केट्स पर ध्यान रखते हुए कैपेसिटी बढ़ाने, बैकवार्ड इंटीग्रेशन करने और डाउनस्ट्रीम प्रॉडक्ट्स बढ़ाने से कंपनी को फायदा होगा. शेयर पर 933 रुपये के लक्ष्य देखने को मिल सकते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 10, 2020, 2:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर