सबसे खराब प्रदर्शन करने वाली इकोनॉमी में भारत, राहत पैकेज पर्याप्त नहीं : अभिजीत बनर्जी

 नोबेल पुरस्कार से सम्मानित अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी  (Photo: Reuters)
नोबेल पुरस्कार से सम्मानित अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी (Photo: Reuters)

कोविड-19 संकट के बीच ​अभिजीत बनर्जी (Abhijit Banerjee) ने कहा कि भारत सबसे खराब प्रदशर्न करने वाली अर्थव्यवस्थाओं में से एक है. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि जुलाई-सितंबर तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर (Economic Growth rate) में सुधार देखने को मिलेगा.

  • भाषा
  • Last Updated: September 30, 2020, 1:26 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नोबेल पुरस्कार से सम्मानित अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी (Abhijit Banerjee) ने मंगलवार को कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था दुनिया की सबसे खराब प्रदर्शन करने वाली अर्थव्यवस्थाओं (Worst performing Economies) में से एक है. उन्होंने यह भी कहा कि समस्याओं से निपटने को लेकर सरकार का आर्थिक प्रोत्साहन (Economic Stimulus) पर्याप्त नहीं था. हालांकि बनर्जी ने कहा कि देश की आर्थिक वृद्धि दर (Economic Growth Rates) में जुलाई-सितंबर तिमाही में सुधार देखने को मिलेगा. अर्थशास्त्री ने ऑनलाइन कार्यक्रम में कहा कि देश की आर्थिक वृद्धि दर कोविड-19 महामारी संकट से पहले से धीमी पड़ रही थी.

उन्होंने कहा, ‘‘भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया की सबसे खराब प्रदर्शन करने वाली अर्थव्यवस्थाओं में से एक है. देश की अर्थव्यवस्था में चालू तिमाही (जुलाई-सितंबर) में पुनरूद्धार देखने को मिलेगा.’’ बनर्जी ने कहा कि 2021 में आर्थिक वृद्धि दर इस साल के मुकाबले बेहतर होगी.

यह भी पढ़ें: कोरोना संकट के बीच इन कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी! दिसंबर से बढ़ जाएगी सैलरी



वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धी होने की जरूरत
फिलहाल मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (FIT) के प्रोफेसर बनर्जी ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि भारत का आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज पर्याप्त था. बनर्जी ने कहा कि भारत को वैश्विक स्तर पर और प्रतिस्पर्धी होने की जरूरत है.

सी​मित था आर्थिक प्रोत्साहन
उन्होंने कहा, ‘‘भारत का आर्थिक प्रोत्साहन सीमित था. यह बैंकों की तरफ से एक प्रोत्साहन था. मुझे लगता है कि हम कुछ और ज्यादा कर सकते थे. प्रोत्साहन उपायों से कम आय वर्ग के लोगों की खपत पर खर्च में बढ़ोतरी नहीं हुई क्योंकि सरकार इन लोगों के हाथों में पैसा डालने को इच्छुक नहीं थी.’’

यह भी पढ़ें: सरकार ने किसानों को दिया बड़ा तोहफा, किया सोलर पंप को लेकर बड़ा ऐलान

मुद्रास्फीति पर क्या कहा?
मुद्रास्फीति (Inflation) के बारे में बनर्जी ने कहा कि भारत की वृद्धि रणनीति बंद अर्थव्यवस्था वाली रही है. इसमें सरकार काफी मांग पैदा करती है जिससे ऊंची वृद्धि के साथ मुद्रास्फीति भी बढ़ती है. उन्होंने कहा, ‘‘भारत में 20 साल तक उच्च मुद्रास्फीति और उच्च वृद्धि दर की स्थिति रही. देश को पिछले 20 साल में स्थिर उच्च मुद्रास्फीति से काफी लाभ हुआ.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज