GDP में तेजी से होगा सुधार, वित्त वर्ष 2021-22 में 7.5 से 12.5 फीसदी की दर से होगा विकास: World Bank

आर्थिक वृद्धि में तेजी से होगा सुधार

आर्थिक वृद्धि में तेजी से होगा सुधार

देशभर में फैले कोरोना संकट के बाद भी विश्वबैंक ने जीडीपी (GDP) अनुमान में सुधार किया है. विश्वबैंक ने फाइनेंशियल ईयर 2021-22 में इंडिया की जीडीपी ग्रोथ में 7.5 फीसदी से 12.5 फीसदी की बढ़ोतरी रहने का अनुमान जताया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2021, 5:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: देशभर में फैले कोरोना संकट के बाद भी विश्वबैंक ने जीडीपी (GDP) अनुमान में सुधार किया है. विश्वबैंक ने फाइनेंशियल ईयर 2021-22 में इंडिया की जीडीपी ग्रोथ में 7.5 फीसदी से 12.5 फीसदी की बढ़ोतरी रहने का अनुमान जताया है. विश्व बैंक ने साउथ एशिया वैक्सीनेट्स की रिपोर्ट में इस बारे में जानकारी दी है. वहीं, अतंरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के अनुसार 2021-22 में भारत की विकास दर 11.5 फीसदी रहने का अनुमान है.

रिपोर्ट के मुताबिक, 2021-22 में भारत की विकास दर 7.5% से 11.5% के बीच रहने की उम्मीद है, लेकिन यह विकास दर पूरी तरह से कोरोना के वैक्सीनेशन पर निर्भर करेगी. इसके साथ ही बाजार की तेजी का भी असर देखने को मिलेगा.

यह भी पढ़ें: जेवर एयरपोर्ट के पास घर-ऑफिस, फैक्ट्री के लिए जमीन लेने वालों की लगी भीड़, जानिए कितने आए आवेदन

Youtube Video

अन्य एजेसिंयों का विकास दर का अनुमान-

>> फिच - 12.8 फीसदी

>> मूडीज - 12 फीसदी



>> आईएमएफ - 11.5 फीसदी

>> केयर रेटिंग्स - 11-11.2 फीसदी

>> एसएंडपी - 11 फीसदी

>> आरबीआई - 10.5 फीसदी

पूरी तरह बंद हो गई थी आर्थिक गतिविधियां

रिपोर्ट में आगे कहा गया है, 'टूरिज्म, ट्रेड, कंस्ट्रक्शन पर लॉकडाउन का सबसे ज्यादा असर देखने को मिला था. वहीं कृषि सेक्टर पर इसका सबसे कम असर रहा. देशभर में बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार ने देशभर में लॉकडाउन लगाने का ऐलान किया था. यह मार्च से लेकर जून 2020 तक चला था, जिसकी वजह से आर्थिक गतिविधियां पूरी तरह से रुक गई थीं.

फिलहाल इस समय देश की इकोनॉमी आगे बढ़ रही है और सुधार भी देखने को मिल रहा है, लेकिन एक बार फिर से देश में कोरोना तेजी से फैल रहा है. बता दें लॉकडाउन की वजह से पिछले साल इकोनॉमी को बड़ा झटका लगा था.

यह भी पढ़ें: सरकार का खास प्लान, नई कार खरीदने पर मिलेगी टैक्स में 25 फीसदी की छूट, दिखाना होगा बस ये सर्टिफिकेट

कोरोना की दूसरी लहर ने मुश्किलें बढ़ाई है. कल 56 हजार से ज्यादा नए केस सामने आए. महाराष्ट्र में करीब 28 हजार नए मामले मिले हैं. पंजाब, गुजरात, कर्नाटक, तमिलनाडु और मध्यप्रदेश में भी हालात चिंताजनक है. ऐसे में कुछ जगहों पर लाॅकडाउन जैसी उत्पन्न हो गई है. फिलहाल ऐसे में वैक्सीन से मार्केट को काफी उम्मीदें हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज