होम /न्यूज /व्यवसाय /हिंडनबर्ग की रिपोर्ट को अडानी ग्रुप ने बताया झूठा, कहा- सारे आरोप आधारहीन

हिंडनबर्ग की रिपोर्ट को अडानी ग्रुप ने बताया झूठा, कहा- सारे आरोप आधारहीन

अडानी ग्रुप ने हिंडनबर्ग की रिपोर्ट का खंडन किया है.

अडानी ग्रुप ने हिंडनबर्ग की रिपोर्ट का खंडन किया है.

हिंडनबर्ग की रिपोर्ट पर अडानी समूह के सीएफओ जुगशिंदर सिंह ने कहा कि उनसे बिना संपर्क किए आधारहीन तथ्यों पर इस रिपोर्ट क ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. हिंडनबर्ग की मंगलवार को पब्लिश हुई एक रिपोर्ट का खंडन करते हुए अडानी ग्रुप की तरफ से बुधवार को बयान जारी किया गया है. इस बयान में अडानी ग्रुप ने उस रिपोर्ट को आधारहीन और दुर्भावानापूर्ण करार दिया है. कहा गया है कि ये सभी आरोप ‌बिना किसी आधार के लगाए गए हैं और इन्हीं आरोपों को पहले देश के सर्वोच्च न्यायालय द्वारा जांच के बाद खारिज किया जा चुका है. समूह के अनुसार, हिंडनबर्ग ने इस रिपोर्ट को पब्लिश करने से पहले न हमसे संपर्क किया और न ही हमारा पक्ष जानने की कोशिश की.

अडानी समूह की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इस रिपोर्ट को दुर्भावानापूर्ण छापा गया है, ये बात ऐसे साफ होती है कि रिपोर्ट उस समय सामने आई जब अडानी एंटरप्राइजेज अपना फॉलोअप पब्लिक ऑफरिंग (FPO) लाने जा रही है. ये देश का सबसे बड़ा FPO होगा. अडानी समूह के ग्रुप सीएफओ जुगशिंदर सिंह ने कहा कि निवेशकों को अडानी ग्रुप में हमेशा से विश्वास रहा है और ये विश्वास फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स और देश विदेश की क्रेडिट रेटिंग एजेंसीज के एनालिसिस पर आधारित है. उन्होंने कहा, निवेशकों सब जानते हैं और वे किसी एकतरफा रिपोर्ट से प्रभावित नहीं होंगे.

सिंह ने कहा कि ग्रुप नियम व कानून को पूरी तरह से मानता है और सभी काम उसी के अनुसार किए जाते हैं. इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा कि वे न्यायपालिका और कानून में पूरा विश्वास रखते हैं और कॉर्पोरेट गवर्नेंस के उच्चतम मानक बनाए रखते हैं.

क्या है हिंडनबर्ग रिपोर्ट
बता दें कि हिंडनबर्ग की रिपोर्ट में लिखा गया है कि अडानी समूह स्टॉक मैनीपुलेशन कर रहा है. ग्रुप यूएस ट्रेडेड बॉन्ड्स, नॉन-इंडियन बेस्ड डेरिवेटिव्स और नॉन-इंडियन ट्रेडेड रेफरेंस सिक्योरिटीज के माध्यम से कंपनियों में शॉर्ट सेलिंग कर रहा है. रिपोर्ट बताती है कि अडानी ग्रुप की 7 कंपनियां जो शेयर बाजार में लिस्टेड हैं वे 85 प्रतिशत तक ओवर वैल्यूड हैं. हिंडनबर्ग का दावा है कि उसने 2 साल की पड़ताल के बाद ये रिपोर्ट तैयार की है.

Tags: Adani Group, Gautam Adani

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें