लाइव टीवी

Air India पर अडानी ग्रुप की नजर, बातचीत शुरुआती चरण में- सूत्र

News18Hindi
Updated: February 24, 2020, 7:31 PM IST
Air India पर अडानी ग्रुप की नजर, बातचीत शुरुआती चरण में- सूत्र
बातचीत शुरुआती चरण में

मनीकंट्रोल को सूत्रों से मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक, अरबपति उद्योगपति (Billionaire Industrialist) गौतम अडानी के स्वामित्व वाला अडानी ग्रुप (Adani Group) सरकारी एयरलाइन एअर इंडिया के लिए बोली लगाने पर विचार-विमर्श कर रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2020, 7:31 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कर्ज में डूबी सरकारी एयरलाइन एअर इंडिया (Air India) को अडानी ग्रुप खरीद सकता है. मनीकंट्रोल को सूत्रों से मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक, अरबपति उद्योगपति (Billionaire Industrialist) गौतम अडानी के स्वामित्व वाला अडानी ग्रुप (Adani Group) सरकारी एयरलाइन एअर इंडिया के लिए बोली लगाने पर विचार-विमर्श कर रहा है. अगर यह सौदा सफल हो जाता है तो  घरेलू एयरलाइन बाजार में अडानी ग्रुप की धमाकेदार एंट्री होगी. सूत्रों के मुताबिक, इस काम के लिए अडानी ग्रुप ने सलाहकारों को लगा दिया है और इस स्तर पर एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट (EoI) प्रस्तुत करने का मूल्यांकन कर रहा है.

एक सूत्र ने कहा कि एअर इंडिया को खरीदने की अडानी ग्रुप की रुचि प्रारंभिक चरण में है और बोली प्रक्रिया पर स्पष्टीकरण सरकार से मांगे जाने की जरूरत है. एक अन्य सूत्र ने कहा, 'अडानी ग्रुप इस मौके को देख रहा है, लेकिन अभी अंतिम फैसला लेना बाकी है. इस ट्रांजेक्शन के साथ अडानी ग्रुप इस सेक्टर में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के साथ अपने कारोबार को डाइवर्सिफाई कर सकता है.'

ये भी पढ़ें: Gold Rates Today: इतिहास में अब तक का सबसे महंगा हुआ सोना, जानें क्यों बढ़े दाम?

मनीकंट्रोल स्वतंत्र रूप से यह सत्यापित नहीं कर सकता है कि अडानी ग्रुप अकेले जाएगा या एक कंसोर्टियम का हिस्सा होगा जो कर्ज में डूबी एयरलाइन के लिए बोली लगाएगा. मनीकंट्रोल के एक प्रश्न के जवाब में अडानी ग्रुप के प्रवक्ता ने कहा, 'कंपनी पॉलिसी के तहत, हम अटकलबाजी पर टिप्पणी नहीं करते हैं.'



6 हवाईअड्डों की जिम्मेदारी मिली
बता दें कि 2019 में, अडानी ग्रुप ने हवाईअड्डों के संचालन और रखरखाव कारोबार में कदम रखा. इसके लिए एक अलग कंपनी अडानी एयरपोर्ट्स बनाई और कंपनी को भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (Airports Authority of India) के स्वामित्व वाले छह हवाईअड्डों के निजीकरण के लिए बोली लगाई और यह बोली सफल रही. अडानी एयरपोर्ट्स को अहमदाबाद, लखनऊ, जयपुर, गुवाहाटी, तिरुअनंतपुरम और मेंगलुरु एयरपोर्ट के संचालन, मैनेजमेंट और डेवलपमेंट अधिकार 50 साल के लिए मिला.

पिछले वित्त वर्ष में इन छह हवाईअड्डों ने कुल मिलाकर 3 करोड़ यात्रियों को संभाला और इसमें सालाना आधार पर 22 फीसदी की बढ़ोतरी हो रही है. ग्रुप 2026 तक हवाईअड्डा बिजनेस पर 10,000 करोड़ रुपये निवेश करने को प्रतिबद्ध है.

ये भी पढ़ें: 4 लाख में शुरू करें ये खास बिजनेस, हर महीने हो सकती है 50 हजार रुपये की कमाई

Air India फर 58 हजार करोड़ रुपये का कर्ज
बता दें कि एअर इंडिया पर कुल 58,255 करोड़ का कर्ज है. मौजूदा समय में एअर इंडिया विनिवेश की प्रक्रिया से गुजर रही है. साल 2016-17 में 48,447 करोड़ रुपये का कर्ज था, जो 2017-18 में बढ़कर 55,308 करोड़ रुपये और 2018-19 में 58,255 करोड़ रुपये हो गया.

ये भी पढ़ें: 

SBI ने अपने करोड़ों ग्राहकों को 2000 और 500 रुपये के नोट को लेकर किया अलर्ट!
खुशखबरी! एक अप्रैल से खाना पकाना और गाड़ी चलाना होगा सस्ता, ये है वजह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2020, 6:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर