• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • अब देश के इन 6 हवाईअड्डों पर होगा अडाणी समूह का कब्जा, 50 साल तक के लिए मिला ये अधिकार

अब देश के इन 6 हवाईअड्डों पर होगा अडाणी समूह का कब्जा, 50 साल तक के लिए मिला ये अधिकार

 लेकिन इतना सुनते ही पत्नी भड़क गई. उसने पति से कहा कि मुझे अलग बैठाकर क्या बताओगे. (सांकेतिक फोटो)

लेकिन इतना सुनते ही पत्नी भड़क गई. उसने पति से कहा कि मुझे अलग बैठाकर क्या बताओगे. (सांकेतिक फोटो)

केंद्र सरकार (Central Government) ने फरवरी 2019 में देश के छह प्रमुख हवाईअड्डे (Airports) लखनऊ (Lucknow), अहमदाबाद (Ahmedabad), जयपुर (Jaipur), मंगलूरु (Mangalore), तिरुवनन्तपुरम (Thiruvananthapuram) और गुवाहाटी (Guwahati) का विशेष व्यवस्था के तहत निजीकरण किया. प्रतिस्पर्धी बोलियां लगाकर अडाणी समूह (Adani Group) ने इन सभी हवाईअड्डों को 50 साल चलाने के अधिकार हासिल किया.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (Airports Authority of India) ने रविवार मध्यरात्रि से लखनऊ हवाईअड्डा (Lucknow Airport) 50 साल के पट्टे पर अडाणी समूह (Adani Group) को सौंप दिया. इससे पहले 30 अक्टूबर की मध्यरात्रि से एएआई मंगलुरू हवाईअड्डे को भी इसी समूह को सौंप चुकी है. एएआई ने ट्वीट कर जानकारी दी, ‘दो नवंबर 2020 को एएआई के वरिष्ठ अधिकारियों ने अडाणी समूह के साथ सहमति ज्ञापन पत्र पर हस्ताक्षर कर लखनऊ हवाईअड्डा समूह को सौंपा.’

    अडाणी समूह अगले 50 सालों तक करेगी देखभाल
    केंद्र सरकार ने फरवरी 2019 में देश के छह प्रमुख हवाईअड्डे लखनऊ, अहमदाबाद, जयपुर, मंगलुरू, तिरुवनंतपुरम और गुवाहाटी का विशेष व्यवस्था के तहत निजीकरण किया. प्रतिस्पर्धी बोलियां लगाकर अडाणी समूह ने इन सभी हवाईअड्डों को 50 साल चलाने के अधिकार हासिल किया. एएआई ने 22 अक्टूबर को एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा था कि अडाणी समूह को मंगलुरू, लखनऊ और अहमदाबाद हवाई अड्डे क्रमश: 31 अक्टूबर, दो नवंबर और 11 नवंबर को सौंप दिए जाएंगे.

    Central Government, Airports Authority of India, lucknow airport, lucknow amausi airport privatization, adani group takes charge of lucknow airport, Ahmedabad Airport, Thiruvananthapuram Airport, Jaipur Airport, Mangalore, Guwahati, Adani Group, केंद्र सरकार, लखनऊ, अहमदाबाद, जयपुर, मंगलूरु, तिरुवनन्तपुरम, गुवाहाटी, निजीकरण, अडाणी समूह, सभी हवाईअड्डों को 50 साल चलाने के अधिकार, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण Adani group occupied by These 6 airports in the country for 50 years nodrss
    इन हवाईअड्डों के परिचालन के समझौतों पर दोनों पक्षों के बीच 14 फरवरी को हस्ताक्षर किए गए थे.


    14 फरवरी को हुए थे हस्ताक्षर
    इन हवाईअड्डों के परिचालन के समझौतों पर दोनों पक्षों के बीच 14 फरवरी को हस्ताक्षर किए गए थे. तीन अन्य हवाईअड्डे जयपुर, गुवाहाटी और तिरुवनंतपुरम के लिए छूट समझौतों पर दोनों पक्षों ने सितंबर में हस्ताक्षर किए थे.

    वित्तीय मामलों में अडानी ग्रुप का होगा अधिकार
    गौरतलब है कि 2 नवम्बर से लखनऊ के चौधरी चरण सिंह हवाई अड्डे का पूरा कामकाज अडानी ग्रुप ने संभाल लिया. रविवार रात 12 बजे तक सभी औपचारिकतायें पूरी कर ली गई. इसके बाद सोमवार से लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट का संचालन अडानी ग्रुप ने अपने हाथ में ले लिया. एयरपोर्ट के प्रबंधन से लेकर वित्तीय मामलों में अडानी ग्रुप के अधिकारी ही फैसले लेंगे.

    ये भी पढ़ें: MP उपचुनाव: सांवेर में 'गद्दारी' के दोतरफा आरोप, दोनों प्रमुख उम्मीदवारों ने दल बदल कर ठोकी ताल

    बता दें कि अडानी ग्रुप के पास इस एयरपोर्ट हित देश के और 5 एयरपोर्ट की जिम्मेदारी अगले 50 साल तक होगी. 34 साल पुराने लखनऊ हवाई अड्डे को सरकारी और खास उद्योगपतियों के इस्तेमाल के लिए सन 1986 में बनाया गया था. जबकि 17 जुलाई 2008 को इस एयरपोर्ट को यात्रियों के लिए शुरू किया गया. उसके बाद मई 2012 में लखनऊ एयरपोर्ट को अंतरराष्ट्रीय स्तर का दर्जा मिला. आज लगभग 160 से अधिक विमानों का यहां से संचालन होता है और 55 लाख से अधिक यात्री सालाना यहां से सफर करते हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन