अदाणी पोर्ट्स आंध्र के दूसरे सबसे बड़े बंदरगाह में खरीदेगी हिस्सेदारी, मार्केट शेयर बढ़कर 30 प्रतिशत होगा

GPL आंध्र प्रदेश में 64 मिलियन टन प्रति वर्ष (mtpa) क्षमता के साथ दूसरा सबसे बड़ा गैर-प्रमुख बंदरगाह है.

GPL आंध्र प्रदेश में 64 मिलियन टन प्रति वर्ष (mtpa) क्षमता के साथ दूसरा सबसे बड़ा गैर-प्रमुख बंदरगाह है.

अदाणी पोर्ट्स (Adani Ports) गंगावरम पोर्ट में 31.5 प्रतिशत हिस्सा खरीदेगी. अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन (APSEZ) लिमिटेड ने इसकी घोषणा की है.

  • Share this:
नई दिल्ली. अदाणी पोर्ट्स (Adani Ports) गंगावरम पोर्ट में 31.5 प्रतिशत हिस्सा खरीदेगी. भारत के सबसे बड़े निजी बंदरगाह ऑपरेटर अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन (APSEZ) लिमिटेड ने इसकी घोषणा की है.

कंपनी के मुताबिक विशाखापत्तनम के पास गंगावरम पोर्ट लिमिटेड (GPL) में 31.5% की हिस्सेदारी निजी इक्विटी निवेशक वारबर्ग पिंकस के पास है. उसी से यह सौदा हुआ है. ये सौदा 1,954 करोड़ रुपए में होगा. कंपनी GPL में प्रोमोटर का 58 प्रतिशत हिस्सा खरीदने के लिए भी बातचीत कर रही है. इस डील से कंपनी का मार्केट शेयर बढ़कर 30 प्रतिशत हो जाएगा. देश भर के 12 जगह पर कंपनी का विस्तार होगा. कंपनी ने हाल ही में दिघी पोर्ट (Dighi Port) को भी खरीदा था.

ये भी पढ़ें : आप भी इस कंपनी के हैं यूजर्स तो सतर्क रहें, चीन कर सकता है साइबर अटैक

बेहतर वैल्यूएशन के आधार पर हुआ है अधिग्रहण
मैक्वेरी (MACQUARIE) ने अदाणी पोर्ट्स पर न्यूट्रल (NEUTRAL) रेटिंग दी है और लक्ष्य को 620 रुपए तय किया है. एजेंसी के मुताबिक नए अधिग्रहण बेहतर वैल्यूएशन के आधार पर किए गए हैं. कंपनी का मजबूत कैश फ्लो है. ये शेयर मौजूदा स्तरों पर बेहतर वैल्यूएशन पर है. वित्त वर्ष 2021 की नौमाही में कैश फ्लो 4240 करोड़ रुपए रहा है. वहीं वित्त वर्ष 2021 में कुल कैश फ्लो 5600 करोड़ रुपए है.

ये भी पढ़ें : इस स्टार्टअप्स से बाहर निकल रहे हैं रतन टाटा, यह मिलेगा फायदा

आंध्र का दूसरा बड़ा पोर्ट है जीपीएल



जीपीएल आंध्र प्रदेश के उत्तरी भाग में विजाग पोर्ट के बगल में स्थित है. यह आंध्र प्रदेश में 64 मिलियन टन प्रति वर्ष (mtpa) क्षमता के साथ दूसरा सबसे बड़ा गैर-प्रमुख बंदरगाह है. यह सभी मौसम, गहरे पानी आदि के लिहाज से सक्षम है. इसके पास लगभग 1, 800 एकड़ की फ्री होल्ड भूमि है. GPL में कोयला, लौह अयस्क, उर्वरक, चूना पत्थर, बॉक्साइट, चीनी, एल्यूमिना और स्टील सहित सूखे और थोक वस्तुओं का आयात-निर्यात होता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज