होम /न्यूज /व्यवसाय /अडानी पोर्ट्स समुद्री सेवा देने वाली कंपनी ओशन स्पार्कल का अधिग्रहण करेगी, पढ़िए डील की डिटेल

अडानी पोर्ट्स समुद्री सेवा देने वाली कंपनी ओशन स्पार्कल का अधिग्रहण करेगी, पढ़िए डील की डिटेल

 ओशन स्पार्कल को ओमान, सऊदी अरब, श्रीलंका, कतर, यमन और अफ्रीका में अपने संचालन के माध्यम से वैश्विक समुद्री सेवा का अनुभव है.

ओशन स्पार्कल को ओमान, सऊदी अरब, श्रीलंका, कतर, यमन और अफ्रीका में अपने संचालन के माध्यम से वैश्विक समुद्री सेवा का अनुभव है.

अडानी पोर्ट्स समुद्री सेवा देने वाली कंपनी ओशन स्पार्कल लिमिटेड (ओएसएल) का अधिग्रहण करने जा रही है. दोनों का बिजनेस पाच ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली . अडानी पोर्ट्स ऐंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन्स (एपीएसईजेड) लिमिटेड की सहयोगी अडानी हार्बर सर्विसेस ने समुद्री सेवा देने वाली कंपनी ओशन स्पार्कल लिमिटेड (ओएसएल) के अधिग्रहण के लिए करार किया है. एपीएसईजेड के सीईओ और पूर्णकालिक निदेशक करण अडाणी ने कहा कि यह डील कंपनी को काफी आगे ले जाएगी.

उन्होंने कहा कि ओएसएल और अडानी हार्बर सर्विसेज लिमिटेड (टीएएचएसएल) के तालमेल को देखते हुए, दोनों का बिजनेस पाच वर्षों में दोगुना होने की संभावना है. इसका सीधा फायदा अडानी पोर्ट्स के शेयरधारकों को मिलेगा. इस अधिग्रहण से कंपनी की भारत के समुद्री सेवा बाजार में हिस्सेदारी बढ़ेगी और अन्य देशों में मौजूदगी दर्ज करवाने के लिए एक मंच भी मिलेगा.

यह भी पढ़ें- देश के सबसे अमीर शख्स ने कहा, अगर ये लक्ष्य हासिल कर लिया तो भारत से खत्म हो जाएगी गरीबी

100 परसेंट स्टेक खरीद रही अडानी पोर्ट
एक बयान में कहा गया, ‘‘स्वयं के 94 पोतों और थर्ड पार्टी स्वामित्व वाले 13 पोतों के साथ ओएसएल बाजार में अगुवा है.’’ बयान के मुताबिक ओएसएल का उद्यम मूल्य 1,700 करोड़ रुपये है. अडानी समूह ओएसएल में 75.69 प्रतिशत हिस्सेदारी के प्रत्यक्ष अधिग्रहण के लिए 1,135.30 करोड़ रुपये का भुगतान करेगा. साथ ही 24.31 प्रतिशत हिस्सेदारी के अप्रत्यक्ष अधिग्रहण के लिए 394.87 करोड़ रुपये का भुगतान करेगा.

यह भी पढ़ें- पश्चिम बंगाल में 10 हजार करोड़ निवेश करेगा अडानी समूह, 25 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार

1995 में बनी थी ओशन स्पार्कल
ओशन स्पार्कल भारत में व्यापक बंदरगाह संचालन और प्रबंधन क्षेत्र में एक अग्रणी सेवा देने वाली है. ओशन स्पार्कल द्वारा की जाने वाली प्रमुख गतिविधियों में टोवेज, पाइलटेज और ड्रेजिंग शामिल हैं. बयान में कहा गया है कि भारत के सभी प्रमुख बंदरगाहों, 15 छोटे बंदरगाहों और तीनों एलएनजी टर्मिनलों में इसकी मौजूदगी है. ओशन स्पार्कल की स्थापना 1995 में समुद्री टेक्नोक्रेट्स के एक समूह द्वारा की गई थी, जिसके अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक पी जयराज कुमार थे.

ओशन स्पार्कल के पास  300 करोड़ रुपये की मुफ्त नकदी के साथ इसका उद्यम मूल्य 1,700 करोड़ रुपये है. ओशन स्पार्कल को ओमान, सऊदी अरब, श्रीलंका, कतर, यमन और अफ्रीका में अपने संचालन के माध्यम से वैश्विक समुद्री सेवा का अनुभव है. रेटिंग एजेंसी ICRA ने ओशन स्पार्कल को AA-क्रेडिट रेटिंग दी है.

Tags: Adani Group, Business news in hindi, Deals of the Day, Gautam Adani

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें