बड़ी खबर! आखिर क्यों बंद हुआ ये बड़ा बैंक! अब ग्राहकों को पैसे पाने के लिए तुरंत करना होगा ये काम

नए जमाने के पेमेंट बैंकों का प्रदर्शन बेहद खराब रहा है. वोडाफोन के एम पैसा के बाद अब आदित्य बिड़ला पेमेंट बैंक भी बंद होने वाला है.

News18Hindi
Updated: July 20, 2019, 1:43 PM IST
News18Hindi
Updated: July 20, 2019, 1:43 PM IST
नए जमाने के पेमेंट बैंकों का प्रदर्शन बेहद खराब रहा है. वोडाफोन के एम पैसा के बाद अब आदित्य बिड़ला पेमेंट बैंक भी बंद होने वाला है. महज 18 महीने पुराने इस बैंक के कुछ कर्मचारियों को आदित्य बिड़ला ग्रुप की अन्य कंपनियों में ट्रांसफर किया गया है. वहीं, कुछ लोगों को छोड़ने के लिए कह दिया गया है. यह आइडिया सेल्युलर और आदित्य बिड़ला नूवो के ज्वाइंट वेंचर के जरिए शुरू किया गया बैंक था. अब सवाल उठता है कि ग्राहकों के पैसों का क्या होगा? बैंक ने इसको लेकर सफाई दी है.

अब क्या करें ग्राहक- आदित्य बिड़ला पेमेंट बैंक ने अपने ग्राहकों को मैसेज भेजकर बताया है कि उनके जमा पैसों को वापस किया जाएगा. इसके लिए बैंक ने पूरे इंतजाम कर लिए हैं.

आदित्य बिड़ला पेमेंट्स बैंक विशेष रूप से आरबीआई द्वारा निर्देशित परिचालन के साथ काम करना जारी रखेगा, ताकि ग्राहकों को जमा राशि निकालने में सक्षम बनाया जा सके.

आपको बता दें कि आदित्य बिड़ला पेमेंट बैंक के पास करीब 20 करोड़ रुपये जमा हैं.

आदित्य बिड़ला पेमेंट बंद होगा!


ये भी पढ़ें-इन पांच बैंक में FD कराने पर मिलेगा सबसे ज्यादा मुनाफा!

बैंक की ओर से भेजे गए मैसेज में बताया गया है कि ग्राहक अपने पैसों को अकाउंट में ट्रांसफर करा सकता है. इसके लिए उन्हें आदित्य बिड़ला पेमेंट बैंक की नजदीकी बैंकिंग पाइंट पर जाना होगा. बैंक का कहना है कि सभी बैंकिंग पाइंट को पैसे वापस करने से जुड़ी जानकारी दे दी गई है.
Loading...

26 जुलाई के बाद अब कोई भी ग्राहक अपने पेमेंट बैंक खाते में पैसे भी जमा (एड मनी) नहीं कर पाएगा. ग्राहक 18002092265 पर फोन कर सभी समस्याओं का समाधान पा सकते हैं. इसके अलावा ग्राहक vcare4u@adityabirla.bank. पर मेल भी कर सकते हैं.

अब क्या होगा कर्मचारियों का- CNBC टीवी18 को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, बैंक में कुल 200 कर्मचारी काम करते हैं. इसमें में कुछ को अन्य ग्रुप कंपनियों में भेज दिया गया है. वहीं, कुछ लोगों को छोड़ने के लिए कह दिया है. 18 अक्टूबर लास्ट वर्किंग डे बताया जा रहा है.

अब ग्राहक क्या करें


क्या होता है पेमेंट बैंक- पेमेंट बैंक का मॉडल भारतीय रिजर्व बैंक ने तैयार किया है. यह पूरी तरह बैंक तो नहीं होंगे, लेकिन बैंक जैसे ही काम करेंगे. इन पेमेंट बैंकों में आप एक लाख रुपये तक जमा कर सकते हैं. ये बचत और चालू खाता में जमा किए जा सकते हैं. पेमेंट बैंक और स्मॉल बैंक के लिए गाइडलाइन जारी करने लिए गठित नचिकेता मोर कमेटी ने फ्रेमवर्क में कहा था कि वह चाहते हैं कि ग्राहक को हर 15-20 मिनट की दूरी पर कस्टमर को बैंकिग सर्विस मिले. ऐसे में इस लक्ष्य को पेमेंट बैंक पूरा करने में सपोर्ट मिलेगा.

ये भी पढ़ें-बैंक से साल में लिमिट से ज्यादा कैश निकालने पर लगेगा टैक्स!

पेमेंट बैंक सेविंग्स डिपोजिट स्वीकार करते हैं ताकि आप ट्रांजेक्शन में इनका इस्तेमाल कर सकें. ये बैंक लोन नहीं देते हैं. ये फिक्स्ड डिपोजिट अकाउंट भी नहीं खोलते हैं.इन बैंकों में जमा करने की अधिकतम सीमा एक लाख रुपये हैं. पेमेंट बैंक सरकारी बॉन्ड्स में निवेश कर सकते हैं.

ये मेनस्ट्रीम बैंक के अपने खाते में 25 फीसदी तक राशि जमा कर सकते हैं. इन बैंकों में रकम जमा करने पर ग्राहकों को अच्छे रिटर्न्स मिलने की उम्मीद है. ये बैंक तो वैसे वॉलेट जैसे होते हैं लेकिन डेबिट कार्ड और चेक बुक जैसी तमाम सुविधाएं भी देते हैं.

ये भी पढ़ें-अब दो सप्ताह में ही बन जाएगा किसान क्रेडिट कार्ड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 20, 2019, 12:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...