• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • Aditya Birla Sun Life के IPO को मंजूरी, 25,00 करोड़ रुपये हो सकता है इश्यू साइज

Aditya Birla Sun Life के IPO को मंजूरी, 25,00 करोड़ रुपये हो सकता है इश्यू साइज

 Aditya Birla Sun Life के IPO को मंजूरी

Aditya Birla Sun Life के IPO को मंजूरी

IPO Market में तेजी बरकरार है. इस साल रिकॉर्ड आईपीओ आ रहे हैं. रिटेल निवेशक आईपीओ में जमकर पैसा लगा रहे हैं. अब एक और आईपीओ मार्केट में आने को तैयार है.

  • Share this:

    मुंबई . IPO Market में तेजी के बीच एक और आईपीओ मार्केट में आने की कतार में खड़ा हो गया है. सूत्रों से मिली जानकरी के मुताबिक, सेबी ( SEBI) ने आदित्य बिड़ला कैपिटल के AMC आर्म आदित्य बिड़ला सन लाइफ AMC के IPO संबंधित DRHP को मंजूरी दे दी है.

    बता दें कि आदित्य बिड़ला सन लाइफ सितंबर अक्टूबर तक अपना आईपीओ लाने की तैयारी में है. सेबी कैपिटल इस लिस्टिंग के लिए आदित्य बिड़ला सन लाइफ का वैल्यूएशन 22,000-24,000 रखना चाहती है. इस आईपीओ का साइज 25,00 करोड़ रुपये हो सकता है.

    आईपीओ पूरी तरह से ऑफर फॉर सेल होगा
    यह आईपीओ पूरी तरह से ऑफर फॉर सेल होगा. जिसके तहत आदित्य बिड़ला सन लाइफ AMC के 13.5 फीसदी स्टेक की बिक्री होगी. इस ऑफर फॉर सेल में कंपनी का कनेडियन ज्वाइंटवेंचर पर्टनर सन लाइफ अपने 12.5 फीसदी स्टेक की बिक्री करेगी.

    यह भी पढ़ें- RBI Monetary Policy: रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया, रेपो रेट 4% पर बना रहेगा

    सन लाइफ की 49 फीसदी हिस्सेदारी
    गौरतलब है कि वर्तमान में कंपनी में सन लाइफ की 49 फीसदी हिस्सेदारी है. सूत्रों ने ये भी बताया कि इस ऑफर फॉर सेल में आदित्य बिड़ला भी अपनी एक फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी. वर्तमान में आदित्य बिड़ला सन लाइफ AMC में आदित्य बिड़ला की 51 फीसदी हिस्सेदारी है. आदित्य बिड़ला सनलाइफ ने अप्रैल में आईपीओ के लिए DRHP दाखिल किया था. लेकिन सेबी ने इस पर अपना फैसला टाल दिया था.

    यह भी पढ़ें- Market Live: आरबीईआई की क्रेडिट पॉलिसी के बाद बाजार में कंसोलिडेशन, केमिकल शेयरों में तेजी

    बता दें कि OFS एक्सचेंज प्लेटफॉर्म के जरिए कंपनी के प्रमोटरों द्वारा अपनी हिस्सेदारी घटाने के लिए शेयरों की बिक्री का एक आम तरीका है. इस तरह की बिक्री करके प्रमोटर सेबी के मिनिमम पब्लिक शेयर होल्डिंग नियम का अनुपालन सुनिश्चित करते हैं. इस तरह के इश्यू के जरिए 10 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी रखने वाले प्रमोटर और शेयर होल्डर अपने शेयरों की बिक्री कर सकते हैं.​

    इस साल रिकॉर्ड संख्या में आईपीओ आ रहे हैं. आंकड़ों के मुताबिक आईपीओ के जरिए फंड जुटाने का  भी इस साल रिकॉर्ड बन रहा है. विशेषज्ञों का अनुमान है कि इस साल आईपीओ के जरिए लगभग 1 लाख करोड़ रुपए की पूंजी जुटाई जाएगी. यह एक रिकॉर्ड होगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज