निवेशकों को खूब भा रहा ये फंड! लाॅन्च होते ही लगा दिए 1900 करोड़ रुपए, आप भी जानें इसके फायदे

यह एक ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम है जो लॉर्ज कैप, मिड कैप और स्मॉल कैप में निवेश करती है.

बिरला सन लाइफ का यह एनएफओ 19 अप्रैल से 3 मई के बीच खुला था. जबकि फिर से यह 10 मई से निवेश के लिए खुल गया है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. आदित्य बिरला सन लाइफ म्यूचुअल फंड (Aditya birla sun life mutual fund ) के मल्टीकैप एनएफओ को निवेशकों का अच्छा रिस्पांस मिला है. इस नई स्कीम में निवेशकों ने 1900 करोड़ रुपए का निवेश किया है. इस एनएफओ (NFO) को कुल 88 हजार से ज्यादा अप्लीकेशन निवेशकों की ओर से मिले हैं. यह एक ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम है जो लॉर्ज कैप, मिड कैप और स्मॉल कैप में निवेश करती है.

    19 अप्रैल से 3 मई के बीच खुला था ये NFO
    बिरला सन लाइफ का यह एनएफओ 19 अप्रैल से 3 मई के बीच खुला था. जबकि फिर से यह 10 मई से निवेश के लिए खुल गया है. इस बारे में कंपनी के एमडी एवं सीईओ ए. बालासुब्रमणियन ने कहा कि कोरोना से लॉजिस्टिक की चुनौतियों के बावजूद टॉप 30 शहरों और उसके आगे के 30 शहरों में 9600 पिन कोड से इस एनएफओ के लिए निवेशकों ने पैसे लगाए हैं. इससे हमारे डिस्ट्रीब्यूशन चैनल की अहमियता का पता चलता है. ध्यान देने वाली बात है कि हमारे डाइवर्सिफाइ या विभिन्न चैनलों से योगदान मिला है.हमारी टेक्नोलॉजी की मजबूती लॉजिस्टिक से संबंधित दिक्कतों को दूर करने में मददगार साबित हुई है.

    मिड और स्मॉल कैप में ग्रोथ के मौके
    उन्होंने कहा कि जिस तरह की दिलचस्पी इस नए फंड में निवेशकों ने दिखाई है, उससे पता चलता है कि देश में इक्विटी में निवेश की चाहत बनी हुई है. इस मल्टी कैप फंड की विशेषता यह है कि यह तीन पोर्टफोलियो पर फोकस करता है.यानी निवेशकों को तीनों मार्केट कैप में इस एक फंड के जरिए निवेश का मौका मिलता है. लॉर्ज कैप में जहां स्थिरता होती है वहीं मिड और स्मॉल कैप में ग्रोथ के अवसर होते हैं.

    ये भी पढ़ें- जरूरी खबर: आज से PF, LPG Price, ITR, बैंक, हवाई यात्रा, गूगल ड्राइव समेत ये नियम बदले, आप पर होगा सीधा असर

    जानें क्या कहते हैं जानकार?
    म्यूचुअल फंड की मल्टी कैप कैटेगरी में यह नियम है कि सभी तीनों मार्केट कैप सेगमेंट यानी लॉर्ज, मिड और स्मॉल कैप में फंड हाउस को 25-25 पर्सेंट का निवेश करता होता है. यह अच्छी तरह से परिभाषित और अनुशासित अलोकेशन होता है जो निवेशकों को तेजी से बढ़ते हुए सेक्टर और कंपनियों में निवेश का अवसर देता है. फंड उन सेक्टर्स और कंपनियों पर फोकस करता है जो बड़े रेंज वाले सेक्टर होते हैं और जो अर्थव्यवस्था की रिकवरी में अच्छी तरह से भाग लेते हैं.

    ये भी पढ़ें- इस महीने 9 दिन बंद रहेंगे बैंक, कोरोनाकाल में घर से बाहर निकलने से पहले चेक करें ये लिस्ट

    विश्लेषकों के मुताबिक, मल्टीकैप इस समय निवेशकों के लिए एक बेहतर विकल्प के रूप में उभरे हैं. ऐसे में बिरला के इस फंड को निवेशकों ने अच्छा रिस्पांस दिया है. देश में चौथे नंबर के इस फंड हाउस की इस स्कीम में देश के हर प्रमुख और छोटे शहरों से निवेशकों ने पैसे लगाए हैं.