देश के इन शहरों में बिक रहा मिलावटी और डुप्लीकेट सामान, चेक करें लिस्ट कहीं आपके शहर का नाम...

देश के इन शहरों में बिक रहा मिलावटी और डुप्लीकेट सामान

देश के इन शहरों में बिक रहा मिलावटी और डुप्लीकेट सामान

खाने का तेल (Cooking Oil) किसी भी अच्छे से अच्छे ब्रांड का हो, लेकिन भूलकर भी देश के कुछ शहरों में तेल से बनी चीजें न खाएं. नकली और डुप्लीकेट तेल बनाने वाले माफियाओं ने किसी भी ब्रांड के तेल को नहीं बख्शा है. बड़े पैमाने पर खाने का नकली और डुप्लीकेट (Duplicate) तेल बनाया जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 16, 2021, 1:26 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. खाने का तेल (Cooking Oil) किसी भी अच्छे से अच्छे ब्रांड का हो, लेकिन भूलकर भी देश के कुछ शहरों में तेल से बनी चीजें न खाएं. नकली और डुप्लीकेट तेल बनाने वाले माफियाओं ने किसी भी ब्रांड के तेल को नहीं बख्शा है. बड़े पैमाने पर खाने का नकली और डुप्लीकेट (Duplicate) तेल बनाया जा रहा है. बनाने के बाद उसे धड़ल्ले से बाजार में बेचा जा रहा है. इस तरह के तेल के सबसे ज्यादा ग्राहक वो हैं जो बाजार में खाने का सामान बेच रहे हैं. ऐसे माफियाओं ने बिस्किट और चॉकलेट (Chocolate) को भी नहीं बख्शा है. सरकारी एजेंसियां जांच भी कर रही हैं. कार्रवाई कर करोड़ों रुपये जुर्माने के वसूले जा रहे हैं. सरकारी रिपोर्ट में की गई कार्रवाई और जुर्माने की रकम बताती है कि देश के कुछ राज्य ऐसे हैं जहां यह कारोबार सबसे ज्यादा फल-फूल रहा है.

गौरतलब रहे हाल ही में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने संसद में एक रिपोर्ट पेश की है. रिपोर्ट के मुताबिक खाने का तेल, चॉकलेट-बिस्किट और खाने की दूसरी डिब्बा बंद चीजें नकली और डुप्लीकेट बनाई जा रही हैं. सरकारी एजेंसियों की जांच में यह क्वालिटी के मानकों पर फेल भी हो रही हैं. इसी के चलते ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें सजा भी दिलाई जा रही है और करोड़ों रुपये में जुर्माना भी वसूला जा रहा है.

किस राज्य में कितना वसूला गया जुर्माना



बाजार में बिक रहे खाने के सामान में मिलावट है या डुप्लीकेट बनाकर बेचा जा रहा है इसकी जांच सरकारी एजेंसी भारतीय खाद्व सुरक्षा और मानक प्रधिकरण (FSSAI) करती है. यही एजेंसी मामला पकड़े जाने पर उसे  कोर्ट तक ले जाती है. मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक कुछ राज्य ऐसे हैं जहां बीते तीन साल में सबसे ज्यादा जुर्माना वसूला गया है.
ग्रेटर नोएडा में 3400 परिवारों को पीएम मोदी की मदद से ऐसे मिलेंगे फ्लैट, जानें क्या है सरकार का प्लान?

>> 2017-18 के अनुसार-

कुल जुर्माने की रकम- 26.35 करोड़.

यूपी 12.92, दिल्ली 2.69 करोड़, गुजरात 2.60, मध्य प्रदेश 2.39 और में तमिलनाडु 2.24 करोड़ रुपये जुर्माने के वसूले गए. वहीं पंजाब 46 लाख, जम्मू-कश्मीर 55 लाख और हरियाणा 31 लाख रुपये का जुर्माना किया गया.

>> 2018-19 के अनुसार-

कुल जुर्माने की रकम- 32.58 करोड़.

यूपी 16 करोड़, गुजरात 1.96, मध्य प्रदेश 1.82, महाराष्ट्र 1.19 करोड़, पंजाब 1.57 करोड़ और में तमिलनाडु 5 करोड़ रुपये जुर्माने के वसूले गए. वहीं जम्मू-कश्मीर 55 लाख, दिल्ली 47 लाख और हरियाणा में 51 लाख रुपये का जुर्माना किया गया.

>> 2019-20 के अनुसार

कुल जुर्माने की रकम- 1.61 करोड़.

दिल्ली 32.50 लाख, मध्य प्रदेश 11.34 लाख, तमिलनाडु 74 लाख और यूपी में 19 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया.

अखिल भारतीय खाद्य तेल व्यापारी महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष शंकर ठक्कर का इस बारे में कहना है, “खाने का मिलावटी और डुप्लीकेट तेल बेचे जाने की बहुत सूचनाएं मिल रही हैं. हाल ही में हमने खुद तेल बनाने वाला गिरोह पकड़कर मुम्बइ क्राइम ब्रांच को दिया था. एसोसिएशन के लेवल पर हम लोग भी काफी अलर्ट रहते हैं. जैसे ही सूचनाएं मिलती हैं उसे प्रशासन के अधिकारियों संग साझा भी करते हैं.”
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज