रिलायंस म्यूचुअल फंड वॉइस-बेस्ड निवेश सर्विस लांच करने वाली पहली कंपनी

रिलायंस म्यूचुअल फंड वॉइस-बेस्ड निवेश सर्विस लांच करने वाली पहली कंपनी
आप अपनी आवाज का उपयोग कर निवेश शुरू करने के लिए एंड्रॉइड या आईओएस एप पर सिंपली सेव डाउनलोड कर सकते हैं.

आप अपनी आवाज का उपयोग कर निवेश शुरू करने के लिए एंड्रॉइड या आईओएस एप पर सिंपली सेव डाउनलोड कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 8, 2019, 11:23 AM IST
  • Share this:
वॉयस असिस्टेंट तेजी से कई दोहराए जाने वाले कार्यों को बगैर किसी समस्या के कर रहे हैं. वे हमें खबरें सुनाते हैं, हमारे लिए गाने बजाते हैं, हमें ड्राइविंग निर्देश देते हैं और हमारे लिए कमरे के तापमान को भी बढ़ाते हैं. वे हमें नियमित प्रक्रियाओं और संख्याओं को याद रखने से भी बचाते हैं.

समय आ गया है कि कई निवेश के क्षेत्र में भी वॉयस असिस्टेंट को प्रयोग में लाया जाए. फोलियो बैलेंस की जांच करना, म्यूचुअल फंड खातों में और खातों से और फंड ट्रांसफर करना, वास्तव में ऐसे कार्य हैं जिन्हें स्वचालित होना चाहिए. देश के सबसे बड़े फंड हाउसों में से एक और म्युचुअल फंड में कई नवाचार शुरू करने में अग्रणी, रिलायंस म्यूचुअल फंड ने अब Google के साथ साझेदारी में भारत की पहली वॉयस आधारित म्यूचुअल फंड निवेश सेवा शुरू की है. यह सेवा केवल रिलायंस म्यूचुअल फंड के सिंपल सेव ऐप पर शुरू की गई है, जो निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो का मूल्य जानने और वॉयस कमांड द्वारा फंड निकालने की सुविधा देगा.

जब कोई निवेशक रिलायंस म्यूचुअल फंड के सिम्पली सेव ऐप में लॉग इन करता है, तो वह पास वॉयस असिस्टेंट को कॉल कर सकता है और फिर रिलायंस लिक्विड फंड में यूनिट खरीदने, पोर्टफोलियो को ट्रैक करने या योजना से उसका निवेश उसका रिडीम करने के लिए अपनी आवाज़ का उपयोग कर सकता है.



संदीप सिक्का, ईडी और सीईओ, रिलायंस निप्पॉन लाइफ एसेट मैनेजमेंट के अनुसार, “कंपनी के वॉयस-लेड वित्तीय लेनदेन को लॉन्च करने का प्रस्ताव डिजिटल चैनल के माध्यम से संवादी व्यावसायिक लेनदेन की सुविधा देना है. हमारा दृढ़ विश्वास है कि आगे आवाज आधारित सुविधाएं आम जनता में डिजिटल समावेश लाने का प्राथमिक माध्यम होंगी. 'पिछले कुछ वर्षों में, फंड हाउस की विभिन्न डिजिटल पहलों को लोगों ने तेजी से अपनाया है, जो इसे अपने ग्राहकों को "सरल" और परेशानी रहित सेवाएं प्रदान करने में भी मददगार रहा है.”, उन्होंने कहा.
Google क्लाउड इंडिया के कंट्री डायरेक्टर नितिन बावनकुले कहते हैं: “म्यूचुअल फंड स्पेस में वॉयस-आधारित लेन-देन लाने के लिए रिलायंस म्यूचुअल फंड का अग्रणी प्रयास बहुत ही रोमांचक है, और यह एक बेहतरीन उदाहरण है कि वॉइस सर्च कैसे मदद कर सकता है जो उद्यमों को ग्राहकों के साथआकर्षक, व्यक्तिगत इंटरैक्शन बनाने में मदद कर सकता है."

आप अपनी आवाज का उपयोग कर निवेश शुरू करने के लिए एंड्रॉइड या आईओएस एप पर सिंपली सेव डाउनलोड कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज