घर खरीदने वालों को बड़ा तोहफा, पहले के मुकाबले अब इतने लाख रुपये कर पाएंगे बचत

(सांकेतिक फोटो)

(सांकेतिक फोटो)

अब टैक्सपेयर्स इस अतिरिक्त डिडक्शन का लाभ 31 मार्च 2022 तक लिए गए होम लोन पर ले सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 8:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आप 45 लाख रुपये तक या उससे कम कीमत पर किफायती घर खरीदने जा रहे हैं तो आप लिए राहत भरी खबर है. हालांकि, यह बेनेफिट केवल पहली बार घर खरीदने वाला व्यक्ति ही ले सकते हैं. दरअसल, अफोर्डेबल हाउसिंग (Affordable Housing) के लिए होम लोन (Home Loan) के ब्याज पर मिलने वाली छूट एक साल और बढ़ाई गई है.

सरकार होम लोन के ब्याज पर 1.5 लाख रुपये की अतिरिक्त छूट देती है. जिसकी मियाद 31 मार्च 2021 को खत्म हो रही थी. इसे बढ़ाकर अब 31 मार्च 2022 कर दिया गया है. यानि अब टैक्सपेयर्स इस अतिरिक्त डिडक्शन का लाभ 31 मार्च 2022 तक लिए गए होम लोन पर ले सकते हैं.

यह भी पढ़ें - RBI ने नहीं घटाई ब्याज दरें, जानें अब आपके लोन की EMI पर क्या असर पड़ेगा

अब टैक्सपेयर कर सकेंगे 3.5 लाख रुपये तक कटौती का दावा
यह कटौती सेक्शन 80EEA के तहत उपलब्ध है, जिसमें होम लोन के ब्याज़ भुगतान पर 1.5 लाख jgh/s तक का इनकम टैक्स लाभ मिलता है. होम लोन पर ये टैक्स लाभ सेक्शन 24(b) के तहत रु. 2 लाख की मौजूदा छूट या उससे अधिक पर उपलब्ध हैं. हालांकि, अब होम लोन ब्याज के भुगतान पर कुल टैक्स छूट 3.5 लाख रुपये हो गया है. इसलिए अब टैक्सपेयर हर साल 3.5 लाख रुपये तक कटौती के लिए दावा कर सकेगा.

किसे मिलेगा पूरा डिडेक्शन?

घर खरीदने वाले ग्राहकों को टैक्स में पूरी छूट पाने के लिए 45 लाख रुपये वाली आवासीय संपत्ति पर 90 प्रतिशत लोन लेने की आवश्यकता होती है. घर खरीदने वाले ग्राहकों को यह लोन 20 साल के लिए लेना होगा जिस पर 9 प्रतिशत के ब्याज दर से भुगतान करना होगा. इसके जरिए ग्राहक 3.5 लाख रुपये की कटौती सीमा को समाप्त कर सकते हैं. चूंकि किफायती घर के लिए प्रचलित ब्याज दर लगभग 7 प्रतिशत या उससे कम हैं जो लगभग 200 आधार अंक 9 फीसदी से कम हैं.



कुछ अन्य शर्तें-



  • सेक्शन 80EEA के तहत कोई भी शख्स होम लोन पर चुकाए जाने वाले ब्याज पर 1.5 लाख रुपये तक के डिडक्शन को क्लेम कर सकता है. इसमें शर्त ये है कि उसके पास लोन पास होने की तारीख तक कोई दूसरी हाउस प्रॉपर्टी नहीं होनी चाहिए.


  • टैक्स में छूट केवल तब लागू होती है जब प्रॉपर्टी का निर्माण पूरा हो जाता है, या आप बना-बनाया घर खरीदते हैं.अगर आप प्रॉपर्टी को अपने कब्जे के 5 साल के भीतर बेच देते हैं, तो क्लेम किए गए लाभ वापस हो जाएंगे और आपकी आय में जुड़ जाएंगे.


  • आप प्रॉपर्टी खरीद सकते हैं और इसे किराए पर दे सकते हैं. इस मामले में, होम लोन पर टैक्स छूट के रूप में क्लेम करने के लिए कोई अधिकतम राशि लागू नहीं है.


  • होम लोन का लाभ उठाते समय, अगर आप किसी अन्य घर में किराए पर रहना जारी रखते हैं, जहां वर्तमान में निवास करते हैं, तो आप एचआरए पर टैक्स लाभ का क्लेम भी कर सकते हैं.



अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज