चीन में एक और उद्यमी की घेराबंदी तेज! PUBG बनाने वाली कंपनी के Pony Ma पर कसा कानून का शिकंजा

अब पबजी गेम बनाने वाली कंपनी टेनसेंट के संस्‍थापक पोनी मा पर चीन के एंटी-ट्रस्‍ट कानून का शिकंजा कस रहा है.

अब पबजी गेम बनाने वाली कंपनी टेनसेंट के संस्‍थापक पोनी मा पर चीन के एंटी-ट्रस्‍ट कानून का शिकंजा कस रहा है.

अलीबाबा (Alibaba) के संस्‍थापक जैक मा (Jack Ma) के बाद अब टेनसेंट के संस्‍थापक पोनी मा (Pony Ma) से चीन के एंटी-ट्रस्‍ट कानून (China Anti-Trust Law) के मुताबिक अपने कारोबार को री-स्‍ट्रक्‍चर करने को कहा गया है. वॉचडॉग के अधिकारियों के पोनी मा से कई घंटे पूछताछ करने से साफ है कि अब टेनसेंट पर भी एंटी-ट्रस्ट कानून की गाज गिरेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2021, 10:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. चीन की कम्‍युनिस्‍ट सरकार अलीबाबा के फाउंडर जैक मा के बाद अब एक और बड़े उद्यमी पर कानून का शिकंजा कस रही है. अब ऑनलाइन गेम्‍स पबजी (PUBG) और ऑनर ऑफ किंग (Honour of King) डिजाइन करने वाली कंपनी टेनसेंट होल्डिंग्स (Tencent Holdings) के संस्‍थापक मा हुआतेंग उर्फ पोनी मा (Pony Ma) पर भी चीन के एंटी-ट्रस्ट कानून (China Anti-Trust Law) की गाज गिरने वाली है. बता दें कि वह जैक मा को पछाड़कर चीन के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए थे.

टेनसेंट के वैल्‍यूएशन में आई 2 लाख करोड़ रुपये की कमी

चाइन एंटी-ट्रस्‍ट वॉचडॉग के अधिकारियों ने इसी महीने पोनी मा से मिलकर कंपनी को कानून के तहत काम करने को कहा है. साथ ही कंपनी से नए कानून के मुताबिक अपने बिजनेस को री-स्‍ट्रक्‍चर करने को भी कहा गया है. अधिकारियों का पोनी मा से मिलना और कई घंटे पूछताछ करने से साफ है कि अब टेनसेंट पर भी एंटी-ट्रस्ट कानून की गाज गिरेगी. बता दें कि इसकी शुरुआत पिछले साल जैक मा की कंपनी एंट ग्रुप (Ant Group) और अलीबाबा ग्रुप के साथ हुई थी. इस जांच के डर के कारण टेनसेंट के वैल्यूएशन में जनवरी, 2021 से अब तक करीब 2 लाख करोड़ रुपये (170 अरब डॉलर) की गिरावट आई चुकी है.

ये भी पढ़ें- विदेशी ई-कॉमर्स कंपनियों को नहीं देना होगा 2 फीसदी डिजिटल टैक्‍स, जानें क्‍या है इसके लिए बड़ी शर्त
एकाधिकार खत्‍म करने के लिए लाया गया एंटी-ट्रस्‍ट कानून

टेनसेंट का मार्केट कैप अभी 56.30 लाख करोड़ रुपये से अधिक (776 अरब डॉलर) है. चीन की सरकार इंटरनेट कंपनियों के एकाधिकार को खत्म करने के लिए यह कानून लेकर आई है. चीन की सरकार का कहना है कि ये बड़ी इंटरनेट कंपनियां अपने एकाधिकार के दम पर बाजार में प्रतिस्‍पर्धा खत्म कर रही हैं और उपभोक्‍ताओं के डाटा का गलत इस्तेमाल कर रही हैं. साथ ही ये ग्राहकों के हितों से भी खिलवाड़ कर रही हैं. दिसंबर 2020 तिमाही में टेनसेंट के शुद्ध मुनाफे में 175 फीसदी का उछाल दर्ज किया गया था. कंपनी का शुद्ध लाभ 66,000 करोड़ रुपये से अधिक (59.3 अरब युआन) रहा.

ये भी पढ़ें- सप्‍ताह में 3 दिन छुट्टी पर श्रम मंत्री संतोष गंगवार की दो-टूक, अभी नहीं है इस तरह का कोई प्रस्‍ताव



दिसंबर तिमाही के दौरान बिक्री में दर्ज की गई 26% बढ़ोतरी

गेम्‍स डिजाइन करने वाली इस कंपनी ने दिसंबर 2020 तिमाही के दौरान शुद्ध बिक्री में 26 फीसदी की बढोतरी दर्ज की थी, जिससे कंपनी की आय 14.88 लाख करोड़ रुपये (133.67 अरब युआन) तक पहुंच गया. वहीं, कंपनी का ऑनलाइन गेम्स रेवेन्यू 29 फीसदी बढ़कर 45,500 करोड़ रुपये से ज्‍यादा (39.1 बिलियन युआन) हो गया. पोनी मा की कंपनी चीन की सबसे बड़ी इंटरनेट कंपनियों में एक है. सोशल मीडिया ऐप वी चैट की निर्माता कंपनी टेनसेंट ऑनलाइन वीडियो गेम, लाइव स्ट्रीमिंग, न्यूज, म्यूजिक और लिटरेचर के डिजिटल प्रोडक्शन में भी काम करती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज