लाइव टीवी

पाकिस्तान पर भारी पड़ रहा है भारत के साथ व्यापारिक रिश्ते तोड़ना, अब हुई इस चीज की कमी

IANS
Updated: November 12, 2019, 12:57 PM IST
पाकिस्तान पर भारी पड़ रहा है भारत के साथ व्यापारिक रिश्ते तोड़ना, अब हुई इस चीज की कमी
पाकिस्तान अब तक भारत से कॉटन आयात करता था लेकिन अब वह भारत से सस्ता कॉटन नहीं खरीद पा रहा है

पाकिस्तान पर भारत के साथ कारोबार (Pakistan-India Business Relations) पर रोक लगाना भारी पड़ रहा है. पाकिस्तान अब तक भारत से कॉटन आयात करता था लेकिन अब वह भारत से सस्ता कॉटन नहीं खरीद पा रहा है.

  • IANS
  • Last Updated: November 12, 2019, 12:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पाकिस्तान पर भारत के साथ कारोबार (Pakistan-India Business Relations) पर रोक लगाना भारी पड़ रहा है. पाकिस्तान अब तक भारत से कॉटन आयात करता था लेकिन अब वह भारत से सस्ता कॉटन नहीं खरीद पा रहा है. पाकिस्तान को दवाइयों और चिकित्सा उपकरणों की भी भारी कमी का सामना करना पड़ रहा है. पाकिस्तानी मीडिया द न्यूज की एक रिपोर्ट में पिछले महीने इस बात की आशंका थी कि कॉटन के उत्पादन में गिरावट के कारण पाकिस्तान को घरेलू खपत की जरूरतों को पूरा करने के लिए विदेशों से महंगा कॉटन आयात करना पड़ सकता है.

पाकिस्तान में इस साल कॉटन का उत्पादन कम है, लेकिन भारत में कॉटन का उत्पादन इस साल पिछले साल से ज्यादा है. कॉटन असोसिएशन ऑफ इंडिया के ताजा अनुमान के अनुसार, भारत में इस साल कॉटन का उत्पादन 354 लाख गांठ रह सकता है जबकि पिछले साल देश में कॉटन का उत्पादन 312 लाख गांठ था.

ये भी पढ़ें: बैंक खाते में जमा हैं आपके पैसे तो जान लें ये बातें, SBI ने दिए सुझाव

भारत में कॉटन सस्ता

सीमावर्ती देश होने के कारण पाकिस्तान को भारत से आयात करने के लिए परिवहन लागत (ट्रांसपोर्टेशन कॉस्ट) कम लगती है, जिससे उसके लिए भारत से कॉटन का आयात करना सस्ता होता है. लेकिन इस साल व्यापार बंद होने के कारण भारत से कॉटन नहीं खरीद पा रहा है. भारतीय कॉटन का भाव इस समय करीब 69 सेंट प्रति पौंड है जबकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कॉटन का भाव 74 सेंट प्रति पौंड है. इस लिहाज से भी पाकिस्तान के लिए भारत से कॉटन का आयात करना सस्ता पड़ सकता है.

46.2 लाख गांठ कॉटन की कमी पाकिस्तान में
भारतीय कारोबारियों की मानें तो अगर पाकिस्तान दोबारा भारत से व्यापार शुरू करता है तो पिछले साल के मुकाबले इस साल वह भारत से ज्यादा कॉटन खरीद सकता है क्योंकि पाकिस्तान में इस साल कॉटन का उत्पादन कम है.
Loading...

ये भी पढ़ें: अगली कैबिनेट बैठक में BPCL, SCI में विनिवेश को मिल सकती है मंजूरी

अमेरिकी एजेंसी यूएसडीए की ताजा रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान में इस साल कॉटन का उत्पादन 89.9 लाख गांठ है जो पिछले साल के 97.5 लाख गांठ से करीब आठ फीसदी कम है. यूएसडीए के अनुसार, पाकिस्तान में इस साल कॉटन की खपत 137.2 लाख गांठ रह सकती है और उसे अपनी खपत की पूर्ति के लिए 46.2 लाख गांठ कॉटन का आयात करना पड़ सकता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 12, 2019, 12:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...