Home /News /business /

after the fourth quarter results the brokerage houses raised the target price of this stock do you have these shares jst

Q4 रिजल्ट्स के बाद ब्रोकरेज हाउसेज ने इस स्टॉक का टारगेट प्राइस बढ़ाया, क्या आपके पास है ये शेयर?

अशोक लीलैंड को मार्च तिमाही में 900 करोड़ का लाभ हुआ है.

अशोक लीलैंड को मार्च तिमाही में 900 करोड़ का लाभ हुआ है.

हिंदुजा ग्रुप की इस कंपनी ने पिछले वित्त वर्ष में 285 करोड़ रुपये का घाटा झेला है. हालांकि, तिमाही नतीजे बेहतर आने के कारण निवेशकों की इसमें रुचि दिख रही है. साथ ही ब्रोकरेज हाउसेज ने भी इसे लेकर अपनी रेटिंग में सुधार किया है.

नई दिल्ली. हिंदुजा ग्रुप की प्रमुख कंपनी अशोक लीलैंड (ashok leyland) ने गुरुवार को अपने तिमाही नतीजे जारी किए. कंपनी को बीते वित्त वर्ष की मार्च तिमाही में वार्षिक आधार पर 901.4 करोड़ रुपये का लाभ हुआ है. जबकि 2020-21 वित्त वर्ष की समान तिमाही में इसका मुनाफा 241.2 करोड़ रुपये रहा था. मुनाफे में बढ़त को देखते हुए कई ब्रोकरेज हाउस ने कंपनी के शेयरों का टारगेट प्राइस बढ़ा दिया है.

अशोक लीलैंड के शेयर यह खबर लिखे जाने तक 5.70 फीसदी के उछाल के साथ 137.80 रुपये पर ट्रेड कर रहे थे. आइए देखते हैं मनीकंट्रोल  में प्रकाशित इस स्टॉक पर ब्रोकरेज हाउसेज की राय क्या है.

ये भी पढ़ें- आज ऑल टाइम हाई पर पहुंचा यह Multibagger Stock, एक साल में दिया 220 फीसदी से ज्यादा रिटर्न

सीएलएसए
सीएलएसए ने कंपनी की रेटिंग को ‘डाउनग्रेड’ से बढ़ाकर ‘आउटपरफॉर्म’ करते हुए इस शेयर को खरीदने की सलाह दी है. ब्रोकरेज हाउस ने इसका टारगेट प्राइस बढ़ाकर 149 रुपये कर दिया है. ब्रोकरेज हाउस का कहना है कि आगे भी इस स्टॉक में तेजी बने रहने की संभावना है.

जेफ्रीज
इसने कंपनी को बाय रेटिंग देते हुए इसका टारगेट प्राइज 130 रुपये से बढ़ाकर 160 रुपये कर दिया है. जेफ्रीज ने कहा है कि बीते वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही में अशोक लीलैंड के ट्रकों का मार्केट शेयर बढ़कर करीब 31 फीसदी हो गया है. यह पिछली 11 तिमाहियों में सर्वाधिक है.

ये भी पढ़ें- टाटा मोटर्स ने कहा-घरेलू यात्री वाहन उद्योग पकड़ेगा रफ्तार, पिछले साल के आंकड़े को पार करेगा

नोमुरा
इस ब्रोकरेज हाउस ने बाय रेटिंग के साथ अशोक लीलैंड को 168 रुपये का टारगेट प्राइस दिया है. ब्रोकरेज हाउस का कहना है कि चालू और अगले वित्त वर्ष में मीडियम और हेवी कमर्शियल व्हीकल के क्षेत्र में तेज रिकवरी की उम्मीद है.

रिलायंस सिक्योरिटीज
ब्रोकरेज हाउस का कहना है कि महंगाई के बीच कंपनी द्वारा लागत नियंत्रण के लिए उठाए गए कदमों का असर देखने को मिला है. रिलायंस सिक्योरिटीज ने कहा है कि कंपनी के सालाना खर्च और इंप्लॉइ कॉस्ट में भी गिरावट नजर आई है.

ये भी पढ़ें- सेंसेक्स की शीर्ष पांच में से तीन कंपनियों का मार्केट कैप 1.78 लाख करोड़ रुपये बढ़ा, समझिए मार्केट का ट्रेंड

कंपनी के तिमाही नतीजे
कंपनी को बीते वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में 8744.29 करोड़ रुपये की आय प्राप्त हुई है जो वित्त वर्ष 2020-21 की समान तिमाही में प्राप्त आय 7,000.49 करोड़ रुपये से 24.90 फीसदी अधिक है. पूरे वित्त वर्ष की बात करें तो कंपनी को 2021-22 में 285.45 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है. जो इससे पिछले वित्त वर्ष मं 69.6 करोड़ रुपये था.

Tags: Share market

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर