होम /न्यूज /व्यवसाय /फेडरल रिजर्व प्रमुख की स्पीच के बाद शीर्ष अमीरों की संपत्ति में तेज गिरावट, क्या होगा भारतीय बाजार पर असर?

फेडरल रिजर्व प्रमुख की स्पीच के बाद शीर्ष अमीरों की संपत्ति में तेज गिरावट, क्या होगा भारतीय बाजार पर असर?

जानकारों के मुताबिक, बाजार को पॉवेल की स्पीच में कही गई बातों का अनुमान था.

जानकारों के मुताबिक, बाजार को पॉवेल की स्पीच में कही गई बातों का अनुमान था.

फेडरल रिजर्व के चेयरमैन जेरोम पॉवेल ने अपनी स्पीच में संकेत दिए कि केंद्रीय बैंक अभी ब्याज दरें बढ़ाने से पीछे नहीं हटे ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

जेरोम पॉवेल की स्पीच के बाद एलन मस्क, जेफ बेजोस की संपत्ति में सर्वाधिक गिरावट हुई.
तीनों प्रमुख अमेरिकी सूचकांक एसएंडपी, डो जोन्स और नैसडेक 3 फीसदी से अधिक गिरे.
जानकारों का मानना है कि भारतीय बाजार पर इसका असर देखने को मिलेगा.

नई दिल्ली. अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व के चेयरमैन जेरोम पॉवेल के भाषण के बाद शुक्रवार को अमेरिकी शेयर बाजार में भारी गिरावट देखने को मिली. अमेरिका के तीनों प्रमुख सूचकांक 3 फीसदी से अधिक लुढ़क गए. इस बिकवाली में दुनिया के शीर्ष अमीरों, मसलन टेस्ला प्रमुख एलन मस्क और एमेजन प्रमुख जेफ बेजोस की संपत्ति में भी तेज गिरावट देखने को मिली. दरअसल, जेरोम पॉवेल ने अपनी स्पीच में यह संकेत दिए कि केंद्रीय बैंक महंगाई को काबू में करने के लिए ब्याज दरों में लगातार बढ़ोतरी करता रहेगा.

इसके बाद अमेरिकी बाजार द्वारा की जा रही नरम मौद्रिक नीतियों की उम्मीद टूट गई. इसके बाद एसएंडपी 141.6 अंक (3.37 फीसदी), नैसडेक 497.56 अंक (3.94 फीसदी) और डो जोन्स 1008.38 अंक (3.03 फीसी) गिरकर बंद हुआ. निवेशक इस बात से भयभीत हैं कि केंद्रीय बैंक अगली बैठक में ब्याज दरें 50 बेसिस पॉइंट तक बढ़ा सकता है. वहीं, कुछ जानकार इसके 75 बेसिस पॉइंट तक बढ़ाए जाने का अनुमान लगा रहे हैं.

ये भी पढ़ें- टाटा समहू की कंपनी के शेयरों में लगा 10 फीसदी का अपर सर्किट, क्या है इसके पीछे की वजह?

कितनी घटी अमीरों की संपत्ति?
जेरोम पॉवेल के भाषण के बाद अमेरिकी बाजार में गिरावट से अमेरिका से शीर्ष अमीरों की संपत्ति में 112 अरब डॉलर साफ हो गए. मस्क की संपत्ति में 5.5 अरब डॉलर और जेफ बेजोस की संपत्ति में 6.8 अरब डॉलर की गिरावट देखने को मिली. वहीं, बिल गेट्स की संपत्ति 2.2 अरब डॉलर जबकि वॉरेन बफेट के फॉर्च्यून में 2.7 अरब डॉलर की गिरावट हुई.

क्या होगा भारतीय बाजार पर असर?
जानकार मानते हैं कि अमेरिकी केंद्रीय बैंक के आंकड़ों से भारतीय बाजार की गति को थोड़ा ब्रेक लग सकता है. हालांकि, उनका यह भी कहना है कि पॉवेल ने जो बात कही उसका अंदेशा बाजार को था. स्वास्तिका इन्वेस्टमार्ट के हेड ऑफ रिसर्च संतोष मीणा कहते हैं कि भारतीय बाजार पहले से ही कुछ दिनों से गिरावट के मूड में था और पॉवेल के भाषण के कारण अमेरिकी बाजार में हुई बिकवाली इसे और बढ़ाएगी. वहीं, एकस्सि सिक्योरिटीज के मुख्य निवेश अधिकारी नवीन कुलकर्णी ने कहा कि पॉवेल ने जो बातें कहीं बाजार को इसका थोड़ा-बहुत अनुमान था. एम्बिट एसेट मैनेजमेंट के एश्वर्य दधीच ने भी मार्केट में पहले से हो रही गिरावट की ओर ध्यान आकर्षित किया और कहा कि फेडरल रिजर्व के संकेतों के बाद आरबीआई भी रेपो रेट में वृद्धि की योजना बनाएगा.

Tags: American billionaires, Business news in hindi, Federal Reserve meeting, Stock market, USA share market

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें