लाइव टीवी

SBI चेयरमैन ने कहा- टेलीकॉम सेक्टर को कोई खत्म नहीं करना चाहता

News18Hindi
Updated: February 24, 2020, 6:29 PM IST
SBI चेयरमैन ने कहा- टेलीकॉम सेक्टर को कोई खत्म नहीं करना चाहता
टेलीकॉम सेक्टर को कोई खत्म नहीं करना चाहता

देश के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक ने यह बात ऐसे समय कही है जबकि पहले से भारी कर्ज में दबी दूरसंचार कंपनियों पर उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) के हाल के निर्णय के बाद 1.47 लाख करोड़ रुपये के साविधिक बकाए के भुगतान का दबाव भी आ गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2020, 6:29 PM IST
  • Share this:
मुंबई. भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के चेयरमैन रजनीश कुमार ने सोमवार को कहा कि दूरसंचार क्षेत्र (Telecom Sector) को कोई खत्म नहीं करना चाहता. देश के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक ने यह बात ऐसे समय कही है जबकि पहले से भारी कर्ज में दबी दूरसंचार कंपनियों पर उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) के हाल के निर्णय के बाद 1.47 लाख करोड़ रुपये के साविधिक बकाए के भुगतान का दबाव भी आ गया है. एसबीआई प्रमुख से जब पूछा गया कि क्या सरकार ने इस मामले में बैंकों से कोई राय मांगी है तो उन्होंने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक को इस मुद्दे पर सरकार से कुछ भी सुनने को नहीं मिला है.

टेलीकॉम सेक्टर पर SBI का 29 हजार करोड़ रुपये बकाया
दूरसंचार उद्योग के समक्ष समस्याओं के बारे में पूछे जाने पर कुमार ने कहा,मैं यह स्पष्ट कर दूं कि कोई भी इस क्षेत्र को खत्म नहीं करना चाहता. इस महीने की शुरुआत में कुमार ने कहा था कि भारतीय स्टेट बैंक का दूरसंचार क्षेत्र पर 29,000 करोड़ रुपये का बकाया है. इसके अलावा इस क्षेत्र की बैंक गारंटी में इस बैंक के 14,000 करोड़ रुपये लगे हुए हैं. दूरसंचार कंपनियों द्वारा बकाये का भुगतान नहीं करने की स्थिति में सरकार बैंक गारंटी भुना सकती है. इस मामले को लेकर पिछले सप्ताह दूरसंचार कंपनियों और सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के बीच कई बैठकें हुई हैं.

ये भी पढ़ें: 4 लाख में शुरू करें ये खास बिजनेस, हर महीने हो सकती है 50 हजार रुपये की कमाई



17 मार्च तक जमा करने हैं एजीआर बकाया


इससे पहले, इस महीने उच्चतम न्यायालय ने दूरसंचार कंपनियों से स्पेक्ट्रम शुल्क और सकल समायोजित राजस्व (एजीआर) के मद का 1.47 लाख करोड़ रुपये का सांविधिक बकाया 17 मार्च तक जमा करने को कहा है. इतनी बड़ी राशि के बकाये के भुगतान का कंपनियों की वित्तीय स्थिति पर फर्क पड़ सकता है. अकेल वोडाफोन-आइडिया पर, दूरसंचार विभाग के अनुमान के अनुसार 53,000 करोड़ रुपये का बकाया है.

ये भी पढ़ें: 

SBI ने अपने करोड़ों ग्राहकों को 2000 और 500 रुपये के नोट को लेकर किया अलर्ट!
खुशखबरी! एक अप्रैल से खाना पकाना और गाड़ी चलाना होगा सस्ता, ये है वजह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2020, 6:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading