मोदी सरकार ने मात्र 2 माह में जारी किए 25 लाख किसान क्रेडिट कार्ड, सबसे सस्ते लोन के लिए जरूर बनवाएं

मोदी सरकार ने मात्र 2 माह में जारी किए 25 लाख किसान क्रेडिट कार्ड, सबसे सस्ते लोन के लिए जरूर बनवाएं
देश में हो गए सवा सात करोड़ केसीसी धारक

खेती-किसानी के लिए आपको सबसे कम ब्याज दर पर पैसा चाहिए तो बनवाईए किसान क्रेडिट कार्ड (KCC), माफ हो गईं हैं कई तरह की बैंक फीस. देश में सवा सात करोड़ किसानों को मिल रहा सस्ता लोन

  • Share this:
नई दिल्ली. खेती-किसानी के लिए बड़ी राहत देते हुए मोदी सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) बनाने का काम तेज कर दिया है. सरकार ने पिछले 2 माह में ही 25 लाख किसानों को केसीसी जारी कर दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित विशेष आर्थिक पैकेज (Economic package) की जानकारी देते हुए बृहस्पतिवार को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस बात की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि 25 लाख नए क्रेडिट कार्ड पर 25 हजार करोड़ रुपये तक का कर्ज मिलेगा. कृषि मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि इसके साथ ही देश में केसीसी धारक किसानों की संख्या सवा सात करोड़ हो गई है.

खेती-किसानी के लिए सिर्फ 4 फीसदी ब्याज दर पर पैसा देने के लिए जो किसान क्रेडिट कार्ड (KCC-Kisan Credit Card) बनता है, उसे बनवाने के लिए लगने वाली सारी प्रोसेसिंग फीस (KCC Waive off Processing Fees other Charges), इंस्पेक्शन और लेजर फोलियो चार्ज को सरकार ने पहले ही खत्म कर दिया था. अगर कोई बैंक अब भी किसी किसान से ये चार्ज वसूलता है तो उस पर कार्रवाई हो सकती है. केसीसी में इसमें 3 लाख रुपये तक का लोन मिलता है. पहले बिना गारंटी के 1 लाख का लोन मिलता था जिसे बढ़ाकर 1.60 लाख रुपए कर दिया गया है.

 economic package, आर्थिक पैकेज, Nirmala Sitaraman, निर्मला सीतारमण, Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi, Kisan Credit Card, KCC, Agri Loan Scheme, किसान लोन योजना, 2020, किसान क्रेडिट कार्ड, modi government, मोदी सरकार, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi, Bank waive off processing fees, केसीसी पर बैंकों की फीस माफ
किसान क्रेडिट कार्ड पर सिर्फ 4 फीसदी लगता है ब्याज




किसान क्रेडिट कार्ड के बारे में जानिए
(1) अगर आपके पास खेती करने के लिए ज़मीन है तो अपनी जमीन को बिना गिरवी रखे बिना लोन ले सकते हैं. इसकी सीमा एक लाख रुपये थी. लेकिन अब आरबीआई ने बिना गारंटी वाले कृषि लोन की सीमा 1.60 लाख  रुपये कर दी है.

(2) पशुपालन और मछलीपालन वाले किसानों काे भी अब केसीसी के जरिए 2 लाख रुपये प्रति किसान की सीमा तक 4 फीसदी की ब्याज दर पर लाभ मिलेगा, ताकि किसानों को साहूकारों से मुक्ति मिले.

(3) पिछले दिनों सरकार ने केसीसी को पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम (Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi) से जोड़कर अधिक से अधिक संख्या में किसानों को लाने के लिए अभियान शुरू किया था. जिसके तहत आवेदन सरल किया गया है और फार्म प्राप्त होने की तारीख से 14 दिनों के भीतर केसीसी जारी करने का आदेश शामिल है.

कैसे 4 फीसदी की दर से मिलता है कृषि लोन

खेती-किसानी के लिए ब्याजदर वैसे तो 9 परसेंट है. लेकिन सरकार इसमें 2 परसेंट की सब्सिडी देती है. इस तरह यह 7 प्रतिशत पड़ता है. लेकिन समय पर लौटा देने पर 3 फीसदी और छूट मिल जाती है. इस तरह इसकी दर ईमानदार किसानों के लिए मात्र 4 फीसदी रह जाती है. कोई भी साहूकार इतनी सस्ती दर पर किसी को कर्ज नहीं दे सकता. इसलिए अगर आपको खेती-किसानी के लिए कर्ज चाहिए तो बैंक जाईए और किसान क्रेडिट कार्ड बनवाईए. आपको 3 लाख रुपये तक का लोन मिल जाएगा.

ये भी पढ़ें-

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना: इस प्रदेश में 50.37 लाख किसान रजिस्टर्ड, लिया 2547 करोड़ का मुआवजा

Economic Package: क्या इसलिए एग्रीकल्चर सप्लाई चेन में रिफॉर्म करना चाहते हैं पीएम मोदी?

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading