• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • कोरोना वायरस ने इस एयरलाइन कंपनी को किया बर्बाद! कर्मचारियों को बिना सैलरी के छुट्टी पर भेजा

कोरोना वायरस ने इस एयरलाइन कंपनी को किया बर्बाद! कर्मचारियों को बिना सैलरी के छुट्टी पर भेजा

चीनी शोधकर्ताओं ने एक जेट इजन को हवा और बिजली से चलाने में सफलता पाई है.

चीनी शोधकर्ताओं ने एक जेट इजन को हवा और बिजली से चलाने में सफलता पाई है.

विमानन कंपनी एयर डेक्कन (Air Deccan) ने कोरोना वायरस संकट की वजह से पैदा हुए दबाव का हवाला देते हुए परिचालन बंद करने की घोषणा कर दी है. साथ ही उसने सभी कर्मचारियों को बिना वेतन के छुट्टी पर भेज दिया है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के कारण हुए लॉकडाउन की मार से कई कंपनियों की हालत खराब हो गई है. क्षेत्रीय विमानन कंपनी एयर डेक्कन (Air Deccan) का कहना है कि कोरोना वायरस संकट की वजह से पैदा हुए दबाव को वह नहीं झेल पा रही है और अपना परिचालन बंद करने की घोषणा कर दी है. साथ ही उसने सभी कर्मचारियों को बिना वेतन के छुट्टी पर भेज दिया है.

    एयर डेक्कन लॉकडाउन में बंद होने वाली पहली कंपनी
    कोरोना वायरस संकट से निपटने के लिए सरकार ने देश में 21 दिन का ‘प्रतिबंध’ लगा रखा है. इस राष्ट्रव्यापी बंदी से विमानन क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित हुआ है. ऐसे में एयर डेक्कन पहली विमानन कंपनी बन गई है, जो इस दबाव को नहीं झेल पाई है. एयर डेक्कन के सीईओ अरुण कुमार सिंह ने कर्मचारियों को भेजे ई-मेल में कहा, ‘मौजूदा घरेलू और वैश्विक मुद्दों की वजह से नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने 14 अप्रैल तक सभी वाणिज्यिक उड़ानें बंद करने का निर्देश दिया है. ऐसे में एयर डेक्कन के पास अगले नोटिस तक अपना परिचालन बंद करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है.

    ये भी पढ़ें: PM-किसान सम्मान निधि स्कीम: किसानों को खेती के लिए मिली ₹62 हजार करोड़ की मदद!

    बिना सैलरी दिए छुट्टी पर कर्मचारी 
    उन्होंने कहा कि भारी मन से मुझे यह सूचित करना पड़ रहा है कि एयर डेक्कन के सभी स्थायी, अस्थायी और ठेका कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से बिना वेतन के छुट्टी पर भेजा जा रहा है. एयर डेक्कन के बेडे़ में चार 18 सीटों के बीचक्राफ्ट विमान हैं. एयरलाइन पश्चिम भारत में क्षेत्रीय मार्गों पर परिचालन करती है. मुख्य रूप से एयरलाइन का केंद्र गुजरात है. सिंह ने ई-मेल में कहा कि अगले सप्ताह प्रबंधन कुछ महत्वपूर्ण पदों को जारी रखने के लिए विभाग प्रमुखों के साथ बैठक करेगा. इससे यह सुनिश्चित हो सकेगा कि जब उचित समय आएगा तो एयरलाइन सीमित प्रयासों से परिचालन फिर शुरू कर सकेगी.

    कर्मचारियों को दोबारा नौकरी दिलाने का भरोसा दिलाया
    उन्होंने कहा कि मैं व्यक्तिगत रूप से आपको भरोसा दिलाता हूं कि जब डेक्कन अनुकूल परिस्थितियों में परिचालन फिर शुरू करेगी तो सभी मौजूदा कर्मचारियों को उनके वर्तमान पदों पर काम करने का प्रस्ताव पहले दिया जाएगा.

    बता दें कि देश में 25 मार्च से 21 दिन की राष्ट्रव्यापी बंदी लागू है. इसके चलते सभी घरेलू और अंतररष्ट्रीय उड़ानें बंद हैं. हालांकि, बंदी के दौरान कार्गो उड़ानों, अपतटीय हेलिकॉप्टर परिचालन, चिकित्सा से संबंधित उड़ानों की अनुमति है. इसके अलावा, डीजीसीए की अनुमति से विशेष उड़ानों का परिचालन किया जा सकता है.

    ये भी पढ़ें: 6 करोड़ EPFO सब्सक्राइबर्स को राहत, अब घर बैठे आधार कार्ड से हो जाएगा ये काम

    कई एयरलाइंस दिवालिया होने के कगार पर: हरदीप सिंह पुरी 
    उद्योग मंडल फिक्की ने पिछले सप्ताह नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को पत्र लिखकर कहा है कि देश में कई एयरलाइंस दिवालिया होने के कगार पर हैं. उनकी नकदी समाप्त हो रही है. जहां अन्य एयरलाइंस ने लागत कटौती के उपाय किए हैं. इसमें पायलटों की छंटनी, वेतन कटौती या कर्मचारियों को बिना वेतन छुट्टी पर भेजना आदि कदम शामिल हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज