लाइव टीवी

अप्रैल से महंगा हो जाएगा हवाई सफर! इतने फीसदी बढ़ेंगे टिकटों के दाम

News18Hindi
Updated: January 27, 2020, 8:19 PM IST
अप्रैल से महंगा हो जाएगा हवाई सफर! इतने फीसदी बढ़ेंगे टिकटों के दाम
एयरपोर्ट

अप्रैल से हवाई सफर महंगा होने जा रहा है. नागर विमानन मंत्रालय ने इसके लिए कंसल्टेशन पेपर जारी कर दिया है, जिसपर अगले सप्ताह बैठक भी होने वाली है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2020, 8:19 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. लगातार महंगाई बढ़ती महंगाई के बीच अब हवाई यात्रा भी महंगी होने जा रही है. हवाई टिकटों में इस इजाफे का कारण एयरपोर्ट नेविगेशन चार्ज (Airport Navigation Charge) होगा. अप्रैल से एयरपोर्ट नेविगेशन चार्ज में 4 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है. ​सिविल एविएशन मंत्रालय (Civial Aviation Minister) ने इसके लिए कंसल्टेशन पेपर जारी कर दिया है. CNBC आवाज़ ने सूत्रों के हवाले से अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि साल 2024-25 से 4 फीसदी और बढ़ाने का प्रस्ताव है.

एयरपोर्ट पर नेविगेशन सुविधा देने के लिए एयरपोर्ट नेविगेशन सुविधा चार्ज वसूला जाता है. हवाई यात्रियों से यह चार्ज प्रति फ्लाइट के आधार पर लिया जाता है. मंत्रालय के इस प्रस्ताव पर अंतिम फैसले के लिए अगले सप्ताह एक बैठक भी होगी. पिछले 20 साल से इस चार्ज में कोई भी बढ़ोतरी नहीं की गई है.

यह भी पढ़ें: बिजली को लेकर नई स्कीम लाने की तैयारी में सरकार, क्या होगा ग्राहकों पर असर

प्रिडेटरी प्राइसिंग से सरकार चिंतित

गौरतलब है कि इस महीने की शुरुआत में ​एविशन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा था कि विमान कंपनियां ग्राहकों के लिए कम कीमत पर टिकट मुहैया करा रही हैं. सरकार इस बात से चिंतित है अगर यह सिलसिला जारी रहा तो और विमान कंपनियां भी बंद हो सकती है. हालांकि, इस दौरान उन्होंने इस बात को पूरी तरह से खारिज कर दिया किया कि विमान किराया को को सरकार रेग्युलेट करेगी. हरदीप सिंह पूरी का यह बयान चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में वि​मान कंपनियों की नतीजे जारी होने के बाद आया था.

क्या होता है प्रिडेटरी प्राइसिंग
पुरी ने इस दौरान कहा, 'एक खास बात पर हमने ध्यान दिया है कि 20 साल पहले दिल्ली से मुंबई रूट पर जो औसत किराया 5,100 रुपये था, वो अब घटकर औसतमनी 4,600 रुपये रह गया है. प्रिडेटरी प्राइसिंग का खेल हो रहा है. इसका मतलब है कि विमान कंपनियां कॉस्ट से भी कम कीमतों पर टिकट बेच रही हैं.' प्रिडेटरी प्राइसिंग का मतलब है कि कंपनियां अधिक से अधिक संख्या में ग्राहकों को लुभाने के लिए बेहद ही कम कीमतों पर टिकट बेचें. 

यह भी पढ़ें:  कोरोना वायरस से सहमा बाजार, सेंसेक्स 458 टूटा, निवेशकों के डूबे 1 लाख करोड़

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 8:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर