हरदीप सिंह पुरी का बड़ा बयान, इस साल के अंत तक हो सकता है Air India का प्राइवेटाइजेशन

हरदीप सिंह पुरी

हरदीप सिंह पुरी

कोरोना महामारी के कारण एयर इंडिया (Air India) के विनिवेश प्रोसेस में देरी हुई, जिसे इस साल के अंत तक पूरी कर ली जाएगी.

  • Share this:

नई दिल्ली. सेंट्रल एविएशन मिनिस्‍टर हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) ने नकदी की कमी से जूझ रही एयर इंडिया (Air India) को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि एयर इंडिया का विनिवेश (Disinvestment) इस साल के अंत तक होने की संभावना है.

पुरी ने कहा कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर के कारण एयर इंडिया के विनिवेश प्रक्रिया में देरी हुई और आश्वासन दिया कि ये अब 2021 में होगा. न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए पुरी ने कहा, ''एयर इंडिया का विनिवेश हो रहा है. महामारी के कारण इसमें कुछ समय लगेगा. मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि एयर इंडिया का विनिवेश इस साल होगा.''

इससे पहले 27 मार्च, 2021 को हरदीप सिंह पुरी ने कहा था कि मई के आखिर या जून में एयर इंडिया को एक निजी कंपनी के तहत लाया जाएगा. एविएशन मिनिस्‍टर ने ये भी कहा था कि जब भी डिसइन्वेस्टमेंट प्रोसेस शुरू होगा, एयर इंडिया के कर्मचारियों के हितों की रक्षा की जाएगी.

जनवरी 2019 में शुरू हुई थी विनिवेश की प्रक्रिया
दरअसल एयर इंडिया में सरकार ने हिस्सेदारी बेचने की प्रक्रिया जनवरी 2019 में शुरू की थी. ये सरकारी एयरलाइन कई सालों से घाटे से जूझ रही है और इसे उबारने के लिए सरकार की ओर से राहत पैकेज भी दिए गए हैं.

ये भी पढ़ें- SBI ने 44 करोड़ ग्राहकों को किया अलर्ट! 30 जून के बाद नहीं चलेगा PAN कार्ड, जानें बैंक ने क्या दी सलाह?

इससे पहले हरदीप सिंह पुरी ने CNBC-TV18 को दिए इंटरव्यू में बताया था कि एयर इंडिया में हिस्सेदारी बेचने की प्रक्रिया फाइनेंस मिनिस्ट्री की ओर से डिपार्टमेंट ऑफ इनवेस्टमेंट एंड पब्लिक एसेट मैनेजमेंट के जरिए की जा रही है.



सरकार की ओर से एयर इंडिया को बेचने की यह दूसरी कोशिश है. इससे पहले एयर इंडिया में 2018 में 76 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की पेशकश की गई थी लेकिन तब किसी बिडर ने इसमें दिलचस्पी नहीं ली थी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज