एअर इंडिया पायलटों का आरोप, घाटे में एयरलाइन लेकिन कंपनी के खर्चे पर अय्याशी कर रहे अधिकारी

एअर इंडिया पायलटों का आरोप, घाटे में एयरलाइन लेकिन कंपनी के खर्चे पर अय्याशी कर रहे अधिकारी
सरकार विमान कंपनी एअर इंडिया पर 70 करोड़ रुपये का कर्ज है.

हाल ही में सरकारी विमान कंपनी एअर इंडिया (Air India) ने वित्तीय स्थिति बेहतर करने की दिशा में कॉस्ट कटिंग के लिए कई बड़े ऐलान किए हैं. इस बीच अब एअर इंडिया पायलटों (Air India Pilots) ने सीनियर मैनेजमेंट पर कंपनी के पैसों से अय्याशी करने का आरोप लगाया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. बिकने को तैयार खड़ी एअर इंडिया (Air India) में अधिकारियों और कर्मचारियों के बीच की तनातनी अब खुल कर सामने आ गई है. एअर इंडिया पायलटों (Air India Pilots) ने सीनियर मैनेजमेंट पर कंपनी के पैसे से अय्याशी करने का आरोप लगाया है. Indian Commercial Pilot's Association और Indian Pilots' Guild की तरफ से एयरलाइन के CMD राजीव बंसल को एक चिठ्ठी लिखी गई है जिसमें कंपनी के सीनियर मैनेजमेंट पर सैलरी कटौती में भेदभााव करने का आरोप लगाया गया है.

सीनियर अधिकारियों के वेतन में कटौती सिर्फ दिखावा
पायलटों ने कहा कि  पिछले कुछ महीनों से एअर इंडिया बार-बार कह रही है कि वह अपना खर्च कम कर रही है, लेकिन यह सीनियर अधिकारियों की तरफ से उठाई जा रही सुविधाओं में नहीं दिखता. सीनियर अधिकारियों का अपने वेतन में 50% कटौती की बात सिर्फ दिखावा भर है, क्योंकि कटौती सिर्फ उनके भत्तों में की गई है जो कुल वेतन का सिर्फ 10% है.

यह भी पढ़ें: RBI ने किया सरकारी बैंकों को लेकर बड़ा खुलासा! आपका भी है अकाउंट तो जान ले ये
अधिकारियों के गाड़ी और फ्यूल पर करोड़ों खर्च कर रही है एअर इंडिया


एअर इंडिया के वरिष्ठ अधिकारियों को मिलने वाले गाड़ी और फ्यूल  के खर्च पर भी सवाल उठाए गए हैं. Executive Directors को हर महीनें 140 लीटर ईंधन के लिए खर्च मिलता है और Functional Directors को 270 लीटर ईंधन का खर्च मिलता है. इन दोनो श्रेणियों के लिए ईंधन खर्च करीब 30 लाख प्रति वर्ष होता है.  कंपनी मे अपने कॉस्ट कटिंग स्टेप के तहत इसमें 10% कटौती की बात कही जो काफी नहीं है. सीनियर अधिकारियों के लिए  लगभग 63 कारें लीज पर दी जाती हैं. इससे कंपनी पर प्रति वर्ष 2 करोड़ रुपये के करीब खर्च आता है.

अधिकारी एलीट कॉर्पोरेट क्लब में कर रहे हैं अय्याशी
एअर इंडिया अपने अधिकारियों को एलीट कॉर्पोरेट क्लब की सदस्यता प्रदान करती है जो कंपनी पर बोझ बढ़ा रहा है. पायलटों का कहना है कि अगर कंपनी अपने गैर जरूरी खर्च को कम करना चाहती है तो इन क्लब की सदस्यता पर खर्च क्यों कर रही है?

यह भी पढ़ें: खुशखबरी! WhatsApp पर 24 घंटे खुलेगा ये बैंक, एक मैसेज पर मिलेंगी कई सर्विसेज

कॉस्ट कटिंग के लिए कई बड़े फैसले का ऐलान
एअर इंडिया ने अपने कर्मचारियों के भत्ते में 20 से 50 फीसदी तक कटौती भी करने जा रही है. साथ ही कर्मचारियों के भत्ते में 20 से 50 फीसदी तक कटौती भी करने जा रही है.   पायलट्स के भत्तों में 40%  क्रू मेंबर्स के भत्तों में 20% की कटौती की गई है. यह आदेश retrospect में 1 अप्रैल से लागू होगा. इंडियन कॉमर्शियल पायलट एसोसिएशन ने  इस फैसले पर नाराजगी जताते हुए इसके ऑपरेशन पर गंभीर परिणाम होने की बात कही है. पायलट यूनियनों ने यह भी आरोप लगाया है कि अप्रैल से उनका 70 फीसदी वेतन नहीं मिला है और इस आदेश के बाद उनकी सैलरी में कुल कटौती 85% की हो जाएगी. (CNBC-आवाज़, रोहन सिंह)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading