अपना शहर चुनें

States

Air India के पायलटों ने वेतन कटौती पर उठाए सवाल, पूछा- बॉस की सैलरी में केवल 3% की कटौती क्यों?

बॉस की सैलरी 3% और हमारे वेतन में 60%  की कटौती, यह कैसे?
बॉस की सैलरी 3% और हमारे वेतन में 60% की कटौती, यह कैसे?

Air India के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक राजीव बंसल को लिखे पत्र में पायलटों ने प्रस्तावित वेतन कटौती को लेकर अनिच्छा व्यक्त की. पायलटों ने कहा, पायलटों के लिए प्रस्तावित वेतन कटौती ग्रॉस एमोलुमेंट्स का करीब 60 फीसदी है जबकि टॉप मैनेजमेंट ने अपनी ग्रॉस सैलरी में केवल 3.5 फीसदी कटौती का प्रस्ताव दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 16, 2020, 10:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सरकारी एयरलाइन एअर इंडिया (Air India) के पायलटों ने सैलरी में कटौती को लेकर नाराजगी जाहिर की है. Air India के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक राजीव बंसल को लिखे पत्र में पायलटों ने  प्रस्तावित वेतन कटौती को लेकर अनिच्छा व्यक्त की. पायलटों ने कहा, पायलटों के लिए प्रस्तावित वेतन कटौती ग्रॉस एमोलुमेंट्स का करीब 60 फीसदी है जबकि टॉप मैनेजमेंट ने अपनी ग्रॉस सैलरी में केवल 3.5 फीसदी कटौती का प्रस्ताव दिया है. पायलटों ने लिखा है कि वेतन कटौती का प्रस्ताव ऐसे समय में किया गया है जब उन्हें इस साल अप्रैल से अब तक 70% वेतन नहीं मिला है.

एयर इंडिया के पायलटों ने राजीव बंसल को लिखे अपने पत्र में कहा, डायरेक्टर पर्सनल की ग्रॉसरी सैलरी पर केवल 4 फीसदी कटौती होती है जबकि एक को-पायलट, जिसे मार्केट से कम पेमेंट किया जाता है को 60 फीसदी की कौटती का प्रस्ताव दिया गया है. यह कैसे उचित है? क्या यह रकम अनियंत्रित लालच और स्वार्थ के लिए के लिए नहीं है? पायलटों ने लिखा कि वेतन कटौती का प्रस्ताव ऐसे समय में किया गया है जब उन्हें इस साल अप्रैल से अब तक 70% वेतन नहीं मिला है.

55 पायलट कोरोनो वायरस से संक्रमित
अब तक, कम से कम 55 पायलटों को कोरोनो वायरस संक्रमित पाए गए हैं. क्या इन पायलटों को यह कहकर दंडित करना उचित है कि उन्हें वास्तविक उड़ान के घंटों के लिए भुगतान किया जाएगा? पत्र ने पूछा गया है कि वे ड्यूटी के दौरान कोरोनो वायरस के अनुबंध के अनुसार उड़ान भरने में असमर्थ हैं. क्या इस तरीके से नागरिक उड्डयन मंत्रालय (MoCA) फ्रंटलाइन श्रमिकों को सम्मानित करना चाहता है?
यह भी पढ़ें- GoAir ने क्वारंटीन पैकेज का किया ऐलान, एक रात ठहरने का खर्च 1,400 रुपए से शुरू



पायलटों ने प्रस्तावित वेतन कटौती पर चर्चा के लिए विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी से भी समय मांगा है. अगर वे एयरलाइंस में वेतन कटौती को लागू करते हैं तो वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सभी प्रशंसा प्रमाण पत्र भी लौटा देंगे.

Air India में छंटनी को सिविल एविएशन मंत्री ने सही ठहराया
एअर इंडिया में चल रही छटनी को सिविल एविएशन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने सही ठहराया है. उनका कहना है कि करोना से पहले भी सिविल एविएशन इंडस्ट्री की हालत खराब थी. करोना के बाद सभी एयरलाइंस को दिक्कत आ रही है. ऐसे में विकल्प क्या है या तो पूरी तरह से बन्द कर दिया जाए या कम लोगों में काम किया जाए. कई निजी एयरलाइंस बन्द हो रही है.

बता दें कि Air India अपने कर्मचारियों को 6 महीने से लेकर 60 महीने की leave Without Pay पर भेजने की तैयारी कर ली है. इसके लिए एअर इंडिया बोर्ड की मंजूरी मिल गई है. बोर्ड ने चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर को एअर इंडिया के कुछ स्टाफ को बिना वेतन के 5 साल तक के छुट्टी पर भेजने की सिफारिश करने की इजाजत दे दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज