Home /News /business /

मोदी सरकार ने Air India की बिक्री के लिए Tata Group को जारी किया लेटर ऑफ इंटेंट, चेक करें डिटेल्‍स

मोदी सरकार ने Air India की बिक्री के लिए Tata Group को जारी किया लेटर ऑफ इंटेंट, चेक करें डिटेल्‍स

केंद्र सरकार ने टाटा ग्रुप को एयर इंडिया में अपनी हिस्‍सेदारी की बिक्री का आशय पत्र जारी कर दिया है.

केंद्र सरकार ने टाटा ग्रुप को एयर इंडिया में अपनी हिस्‍सेदारी की बिक्री का आशय पत्र जारी कर दिया है.

टाटा समूह (Tata Group) को जारी किए गए आशय पत्र (LoI) में सरकार ने एयरलाइन में अपनी 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की इच्छा की पुष्टि की है. निवेश व लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (DIPAM) के सचिव तुहिन कांत पांडेय ने आशय पत्र जारी करने की पुष्टि कर दी है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Modi Government) ने घाटे में चल रही एयर इंडिया (Air India) में अपनी 100 फीसदी हिस्सेदारी टाटा समूह (Tata Group) को 18,000 करोड़ रुपये में बेचने की पुष्टि को लेकर आशय पत्र (Letter of Intent) जारी कर दिया है. सरकार ने पिछले हफ्ते टाटा समूह की स्वामित्त्व वाली कंपनी टैलेस प्राइवेट लिमिटेड की ओर से 2,700 करोड़ रुपये नकद भुगतान करने और एयरलाइन के ऊपर कर्ज में से 15,300 करोड़ रुपये की जिम्मेदारी लेने के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है.

    LoI के बाद शेयर खरीद समझौते पर होंगे हस्‍ताक्षर
    टाटा समूह को जारी किए गए आशय पत्र (LoI) में सरकार ने एयरलाइन में अपनी 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की इच्छा की पुष्टि की है. निवेश व लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (DIPAM) के सचिव तुहिन कांत पांडेय ने आशय पत्र जारी करने की पुष्टि कर दी है. अब शेयर खरीद समझौते पर हस्ताक्षर किए जाएंगे. टाटा समूह को एयर इंडिया के संचालन को संभालने से पहले लेनदेन से जुड़ी शर्तों को पूरा करना होगा. उन्होंने कहा कि आम तौर पर एलओआई की स्वीकृति के 14 दिन के भीतर शेयर खरीद समझौते (SPA) पर हस्ताक्षर किए जाते हैं. उन्‍होंने उम्मीद जताई कि एसपीए पर जल्द से जल्‍द हस्ताक्षर कर लिए जाएंगे.

    ये भी पढ़ें- केंद्र सरकार ने ‘बिग बुल’ राकेश झुनझुनवाला की Akasa Air को दी मंजूरी, जानें कब शुरू करेगी उड़ान

    एसपीए पर हस्‍ताक्षर के बाद दी जाएगी नियामक मंजूरी
    दीपम के सचिव पांडेय ने कहा कि सौदा दिसंबर 2021 के आखिर तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. एसपीए पर हस्ताक्षर के बाद नियामक मंजूरी दी जाएगी. इसके बाद संचालन हस्तांतरण प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी. जब वे स्वीकृति पत्र देंगे तो उपक्रम मूल्य (EV) के 1.5 फीसदी की पेमेंट सिक्‍योरिटी भी देंगे, जो 270 करोड़ रुपये है. बैंक गारंटी के तौर पर भुगतान सुरक्षा के रूप में 270 करोड़ रुपये होंगे, जो हमें स्वीकृति पत्र के साथ मिलेंगे. उन्होंने कहा कि सौदे का नकद हिस्सा नियंत्रण सौंपे जाने के दिन आएगा, जो दिसंबर 2021 के अंत तक होगा. सौदे में एयर इंडिया एक्सप्रेस और जमीनी स्तर पर रखरखाव से जुड़ी इकाई एआईएसएटीएस की बिक्री भी शामिल है.

    Tags: Air india, Air India Express, Air India Sale, Civil aviation sector, Disinvestment, Modi government

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर