Home /News /business /

एयर इंडिया को इस साल होगा 10,000 करोड़ का घाटा! केंद्र की विनिवेश योजना को लग सकता है झटका

एयर इंडिया को इस साल होगा 10,000 करोड़ का घाटा! केंद्र की विनिवेश योजना को लग सकता है झटका

एयर इंडिया को अनुमान के मुताबिक घाटा हुआ तो उसका वैल्यूएशन भी कम हो जाएगा.

एयर इंडिया को अनुमान के मुताबिक घाटा हुआ तो उसका वैल्यूएशन भी कम हो जाएगा.

कोरोना संकट (Coronavirus Crisis) के कारण यात्रा पाबंदियों के कारण पहले से ही आर्थिक तंगी का सामना कर रही सरकारी एयरलाइंस एयर इंडिया (Air India) को वित्‍त वर्ष 2020-21 के दौरान तगड़ा नुकसान होने की आशंका जताई जा रही है. इसमें नकदी नुकसान और संपत्तियों की अवमूल्‍यन (Depreciation Cost) लागत शामिल है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. आर्थिक संकट के कारण विनिवेश (Disinvestment) की प्रक्रिया से गुजर रही सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया (Air India) को वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान 9500 करोड़ से लेकर 10,000 करोड़ रुपये तक का घाटा होने की आशंका जताई जा रही है. कोरोना वायरस महामारी के कारण यात्रा पाबंदियों (Travel Ban) के कारण पहले से ही मुश्किलों का सामना कर रही एयर इंडिया को अगर इतना बड़ा नुकसान होता है तो केंद्र सरकार की विनिवेश योजना को झटका लग सकता है. अनुमान लगाया जा रहा है कि कंपनी को 8000 करोड़ रुपये का नकदी घाटा और बाकी नुकसान ऐसेट्स की डिप्रेशिएशन कॉस्ट (Depreciation Cost) के कारण होगा.

    सेविंग्‍स फंड से 5000 करोड़ रुपये जुटाएगी एयर इंडिया
    एयर इंडिया को अनुमानित घाटे की वजह से कंपनी का वैल्यूएशन भी कम हो जाएगा. बता दें कि वित्त वर्ष 2019-20 में कंपनी को 8,000 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था. वहीं, 2018-19 में कंपनी का घाटा 8,500 करोड़ रुपये और 2017-18 में 5300 करोड़ रुपये रहा था. कंपनी अपने घाटे की भरपाई और ऑपरेशनल कॉस्ट को पूरा करने के लिए पैसे जुटा रही है. मौजूदा वित्त वर्ष में कंपनी ने नेशनल स्मॉल सेविंग्स फंड (NSSF) के जरिये 5000 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है. साथ ही तीन बैंकों से 1,000 करोड़ रुपये का कर्ज भी लिया जा रहा है. सूत्रों के मुताबिक, कंपनी एनएसएसएफ के जरिये अब तक 4,000 करोड़ रुपये जुटा चुकी है. बजट 2021 में किए गए प्रावधानों के मुताबिक, कंपनी वित्त वर्ष 2021-22 में अपने ऑपरेशंस को फंड करने के लिए 4000 करोड़ रुपये बाजार से जुटाएगी.

    ये भी पढ़ें- दिल्ली हाईकोर्ट का फैसला! रिलायंस-फ्यूचर रिटेल सौदे पर यथास्थिति बनाए रखने का आदेश खत्म

    एयर इंडिया के कर्मचारियों के ग्रुप ने भी लगाई है बोली
    सरकारी एयरलाइंस कंपनी एयर इंडिया को खरीदने के लिए कई कंपनियों से एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट (EoI) आ चुका है. कंपनी को खरीदने के लिए बोली लगाने वालों में टाटा ग्रुप, अडानी ग्रुप और हिंदूजा ब्रदर्स के अलावा एयर इंडिया के कर्मचारियों का एक ग्रुप भी शामिल है. कर्मचारियों के ग्रुप ने निजी अमेरिकी इक्विटी फंड Interups Inc के साथ मिलकर बोली लगाई है. बता दें कि केंद्र सरकार ने एयर इंडिया में अपनी 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचने के लिए प्राइवेट कंपनियों से बोलियां मंगाई थीं. एयर इंडिया एक्सप्रेस लिमिटेड में भी एयर इंडिया की 100 फीसदी हिस्सेदारी को बेचा जाएगा.

    Tags: Air india, Air India employees, Air India Sale, Business news in hindi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर